संस्करणों
प्रेरणा

चार युवाओं की मेहनत रंग लाई, अपने पैसे से देश में पहली बार दूरदराज के तीन गांवो में पहुंचाई वाई-फाई सेवा

योरस्टोरी टीम हिन्दी
11th Jan 2016
Add to
Shares
2
Comments
Share This
Add to
Shares
2
Comments
Share


मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के तीन गांव वाई-फाई फ्री...

शकील अंजुम, तुषार भरथरे, भानू यादव और अभिषेक भरथरे ने मिलकर किया काम..

चार साथियों ने निजी तौर पर करीब दो लाख रुपये खर्च किये...


डिजिटल इंडिया की पहल से प्रेरित होकर मध्यप्रदेश में राजगढ़ जिले के चार प्रतिभाशाली आईटी विशेषज्ञ युवाओं शकील अंजुम, तुषार भरथरे, भानू यादव और अभिषेक भरथरे ने जिले के दूर-दराज के तीन गांवों को फ्री वाई-फाई की सुविधा वाले गांवों में तब्दील कर दिया।

image


आईटी विशेषज्ञ युवा शकील अंजुम ने बताया, 

‘‘डिजिटल इंडिया की सोच से प्रेरणा लेते हुए सूचना प्रौद्योगिकी क्रांति के फायदे ग्रामीणों तक पहुंचाने के लिये हमने बवाड़ीखेड़ा जागीर, शिवनाथपुरा और देवरिया गांव में फ्री वाई-फाई सुविधा उपलब्ध करायी है। यह काम हमने बिना किसी सरकारी सहायता से किया है और इस पर हम चार साथियों ने निजी तौर पर करीब दो लाख रुपये खर्च किये हैं।’’ उन्होंने कहा, 

इन गांवों में फ्री वाई-फाई इंटरनेट सुविधा उपलब्ध होने से यहां ग्रामीणों द्वारा लगभग 100 स्मार्ट फोन उपयोग किये जा रहे हैं। इन फोन पर लगातार इंटरनेट सुविधा उपलब्ध है। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली कटौती की समस्या को देखते हुए फ्री वाई-फाई द्वारा लगातार इंटरनेट सुविधा को सुनिश्चत करने के लिये यहां 200 एम्पीयर पॉवर क्षमता वाला एक इनर्वटर भी स्थापित किया गया है।’’

अजुंम ने बताया, ‘‘फ्री वाई-फाई से यहां के चार युवक लैपटॉप भी उपयोग कर रहे हैं तथा इसके अलावा बैंक ऑफ इडिया का एक किस्योक भी इस सुविधा से अपनी गतिविधियां संचालित कर रहा है।’’ वाई फाई जोन बनाने के लिए शकील, तुषार, भानू और अभिषेक ने सबसे पहले करीब 80 फीट ऊंचा लोहे का टावर लगाया. जिसके बाद उन्होंने एक निजी कंपनी से सर्वर और लीज लाइन ली। इसके बाद एक्सिस पाईंट, एक्सटेंशन और टावर तैयार किया गया, जिसमें इन्वर्टर भी लगाया गया ताकि बिजली जाने पर भी लोगों को वाई फाई की सुविधा मिलती रहे. इस पूरे काम में करीब दो लाख का खर्च आया. जिसे पूरी तरह से इन युवकों ने वहन किया.

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बिना किसी सरकारी सहायता के ग्रामीणों को यह सुविधा उपलब्ध कराने के लिये इन युवकों की प्रशंसा करते हुए कहा कि युवकों ने यह कार्य करके दूसरों के सामने एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। युवकों द्वारा किये गये इस कार्य की जानकारी मिलने के बाद चौहान ने लगातार ट्वीट कर कहा, 

हमारे चार प्रतिभाशाली युवकों द्वारा राजगढ़ जिले के दूर-दराज के तीन गांवों को भारत की पहली फ्री वाई-फाई सुविधा वाली बस्तियों में तब्दील करना खुशी की बात है।

चौहान ने कहा, ‘‘शकील, तुषार, भानू और अभिषेक द्वारा ई-गर्वनेस की ताकत को दूर-दराज के गांवों तक पहुंचाना एक प्रशंसनीय पहल है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘तकनीकी विशेषज्ञ युवाओं के इस समूह ने यह काम करके न केवल हमारे युवाओं की क्षमता प्रदर्शित की है बल्कि इससे उन्होंने दूसरों को प्रेरित करने के लिये एक अनूठा उदाहरण भी पेश किया है।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने इस पहल की सराहना की है और अधिकारियों को निर्देश दिया है कि इन युवाओं की आगे की योजनाओं को समझ कर उसमें सरकार द्वारा आर्थिक सहायता का निर्णय शीघ्र लिया जाये।


पीटीआई

Add to
Shares
2
Comments
Share This
Add to
Shares
2
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags