संस्करणों
प्रेरणा

"गंगा मां हैं तो राइन पिता", जर्मनी जुड़ेगा गंगा नदी सफाई योजना में...

जर्मनी ने गंगा नदी के एक हिस्से को साफ करने का प्रस्ताव कियाउत्तराखंड में गंगा नदी के एक हिस्से को पुनर्जीवित करने का करेगा प्रयासराइन नदी को यूरोप में सबसे महत्वपूर्ण जलमार्गो में से एक माना जाता है"राइन पिता के समान हैं और गंगा मां हैं’’

योरस्टोरी टीम हिन्दी
27th Aug 2015
Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share

पीटीआई

image


निर्मल गंगा अभियान का हिस्सा बनने की इच्छा व्यक्त करते हुए जर्मनी ने अपने यहां राइन नदी को साफ करने में उपयोग की गई प्रौद्योगिकी को उत्तराखंड में गंगा नदी के एक हिस्से के पुनर्जीवन में प्रयोग करने की पेशकश की है । राइन नदी को यूरोप में सबसे महत्वपूर्ण जलमार्गो में से एक माना जाता है।

जर्मनी में भारतीय समुदाय के चुनिंदा लोगों को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जर्मनी की इस पेशकश का जिक्र किया, साथ ही स्वच्छ गंगा अभियान और स्वच्छ विद्यालय पहल में दिल खोलकर योगदान करने की अपील की। स्वच्छ विद्यालय का लक्ष्य प्रत्येक स्कूल में शौचालय उपलब्ध कराना है।

सुषमा ने कहा कि उनके जर्मन समकक्ष फैंक वाल्टर स्टेनमेयर ने उनके साथ दो घंटे तक चली बैठक के दौरान उत्तराखंड में गंगा की सफाई करने का प्रस्ताव किया।

सुषमा ने अपने जर्मन समकक्ष के साथ बातचीत के दौरान द्विपक्षीय संबंधों के सम्पूर्ण आयामों की समीक्षा की।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा, ‘‘ जर्मन विदेश मंत्री ने मुझे बताया कि आप गंगा को मां कहते हैं। हमने राइन नदी को साफ किया है। राइन पिता के समान हैं और गंगा मां हैं।’’ भारत के विकास में भारतीय समुदाय के हिस्सा बनने पर जोर देते हुए विदेश मंत्री ने कहा कि राजग की पूर्ण बहुमत की सरकार के सत्ता में आने के बाद से देश में जबर्दस्त बदलाव आया है। सुषमा ने कहा, ‘‘ मैं आप सबसे भारत के साथ जुड़ने और हमारी विकास की यात्रा का हिस्सा बनने का निमंत्रण देती हूं।’’

गंगा की सफाई को लेकर लंबे समय से कोशिशें जारी हैं। कई संगठनों ने भी सफाई का बीड़ा उठाया है।

Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags