संस्करणों
विविध

कोडिंग सीखने की है चाहत? गूगल का यह नया ऐप स्मार्टफोन पर ही सिखाएगा प्रोग्रामिंग

yourstory हिन्दी
22nd Apr 2018
18+ Shares
  • Share Icon
  • Facebook Icon
  • Twitter Icon
  • LinkedIn Icon
  • Reddit Icon
  • WhatsApp Icon
Share on

घर बैठे कोडिंग सीखना चाहते हैं तो सर्च इंजन गूगल ने आपके लिए ग्रासहॉपर नाम का एक ऐप लॉन्च किया है। इस ऐप को इस तरह से विकसित किया गया है जिससे आसानी से स्मार्टफोन पर प्रोग्रामिंग सीखी जा सके। इसे गूगल री वर्कशॉप में प्रयोग के तौर पर 'एरिया-120' नाम की टीम ने डिजाइन किया है। 

image


कोडिंग को प्रोग्रामिंग के रूप में भी जाना जाता है। कंप्यूटर की का सारा काम इसी के जरिए होता है। कोडिंग के जरिए ही कंप्यूटर को बताया जाता है कि उसे क्या करना है। यानी कंप्यूटर को जिस भाषा को समझता है उसे कोडिंग कहा जाता है।

अगर आप कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में दिलचस्पी रखते हैं और घर बैठे कोडिंग सीखना चाहते हैं तो सर्च इंजन गूगल ने आपके लिए ग्रासहॉपर नाम का एक ऐप लॉन्च किया है। इस ऐप को इस तरह से विकसित किया गया है जिससे आसानी से स्मार्टफोन पर प्रोग्रामिंग सीखी जा सके। इसे गूगल री वर्कशॉप में प्रयोग के तौर पर 'एरिया-120' नाम की टीम ने डिजाइन किया है। यह ऐप एंड्रॉयड और एपल के iOS प्लेटफॉर्म के लिए बनाया गया है। इसे गूगल के प्लेस्टोर या एपल के एप स्टोर से फ्री में डाउनलोड किया जा सकता है। हम आपको इस ऐप और कोडिंग के महत्वपूर्ण पहलुओं से रूबरू कराएंगे।

कोडिंग क्या है?

कोडिंग को प्रोग्रामिंग के रूप में भी जाना जाता है। कंप्यूटर की का सारा काम इसी के जरिए होता है। कोडिंग के जरिए ही कंप्यूटर को बताया जाता है कि उसे क्या करना है। यानी कंप्यूटर को जिस भाषा को समझता है उसे कोडिंग कहा जाता है। अगर आपको कोडिंग लैंग्वेज आती है तो आप बड़ी आसानी से वेबसाइट्स या ऐप बना सकते हैं। इसके अलावा भी कई सारी चीजें कोडिंग लैंग्वेज से की जा सकती हैं।

यह ऐप क्यों?

आमतौर पर कोडिंग सीखने के लिए अलग से कोर्स करने पड़ते हैं और इसमें काफी पैसा और वक्त भी लगता है। ग्रासहॉपर ऐप के अबाउट सेक्शन में लिखा है: 'आज के दौर में कोडिंग एक जरूरी स्किल बन गई है और हम चाहते हैं कि आप अपनी बिजी लाइफ में भी थोड़ा वक्त निकालकर इसे सीख सकें। हमने इसे इसलिए तैयार किया है ताकि आप आसान तरीके से कोडिंग की बारीकियों को जान सकें। इसीलिए हमने इसे स्मार्टफोन्स के लिए डिजाइन किया है। हम उम्मीद करते हैं कि ये आपको पसंद आएगा और आपको कोडिंग सीखने में मदद करेगा।'

कैसे करता है काम

ग्रासहॉपर ऐप को फोन में इंस्टॉल करना काफी आसान है। आपके पास बस एक गूगल अकाउंट होना चाहिए। ऐप में सबसे पहले आपको कोडिंग की बेसिक्स के बारे में जानने को मिलेगा और अंत में एक क्विज भी रहेगा। इसमें एक रिमाइंडर सेटिंग भी है जिससे कि आपको नियमित किया जाएगा। आप चाहें तो रोज या हफ्ते के मुताबिक अपनी क्लास को सेट कर सकते हैं। ऐप में कोर्स को काफी छोटे-छोटे भागों में विभाजित किया गया है।

इस्तेमाल कैसे करें?

इस ऐप में जावास्क्रिप्ट के साथ ही प्रोग्रामिंग के कुछ और बिल्डिंग ब्लॉक्स हैं। इसमें आपको बताया जाएगा कि कोड्स कैसे काम करते हैं, कॉलिंग फंक्शन्स, वैरिएबल्स, स्ट्रिंग्स क्या हैं, लूप्स, एरे. कंडीशनल्स, ऑब्जेक्ट्स क्या हैं और ये आपस में कैसे काम करते हैं। एक बार बुनियादी जानकारी हासिल कर लेने के बाद ऐप आपको 'एनिमेशन I' पर ले जाएगा जो आपको ड्रॉइंग सिखाएगा। इसके लिए डी3 लाइब्रेरी, कॉलबैक फंक्शन और एनिमेशन का प्रयोग किया जाएगा। 'एनिमेशन I' के बाद 'एनिमेशन II' का विकल्प आएगा। जिसमें और बेहतर तरीके से फंडामेंटल टॉपिक के बारे बताया जाएगा।

यह भी पढ़ें: देश की ऐसी पहली जेल जहां है जूतों की फैक्ट्री, कैदी बनाते हैं ब्रांडेड जूते

18+ Shares
  • Share Icon
  • Facebook Icon
  • Twitter Icon
  • LinkedIn Icon
  • Reddit Icon
  • WhatsApp Icon
Share on
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest Stories

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें