संस्करणों
विविध

दीपा को कार नहीं, कार के बदले रुपए चाहिए

हैदराबाद जिला बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष चामुंडेश्वरनाथ ने उन्हें उनके प्रदर्शन के लिये बीएमडब्ल्यू कार भेंट दी थी। दीपा को महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने सम्मान समारोह में रियो ओलंपिक की पदक विजेता पीवी सिंधु और साक्षी मलिक के साथ कार की चाबियां सौंपी थीं।दीपा रखरखाव की दिक्कत के कारण अपनी लग्जरी कार वापस करना चाहती हैं क्योंकि अगरतला की सड़कें बीएमडब्ल्यू के लिये काफी संकरी हैं और शहर में बीएमडब्ल्यू गाड़ी का एक भी शोरूम या सर्विस सेंटर नहीं है।

PTI Bhasha
13th Oct 2016
Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share

अगरतला में लग्जरी कार के रखरखाव की दिक्कत व्यक्त करने के बाद भारतीय जिमनास्ट दीपा करमाकर ने अनुरोध किया है कि उन्हें इस वाहन के बजाय इसकी कीमत का नकद पुरस्कार दे देना चाहिए लेकिन उन्हें यह वाहन भेंट करने वाली संस्था ने इस मामले पर ‘गौर’ करने का वादा किया है। करमाकर ने रियो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला जिमनास्ट बनकर इतिहास रच दिया था और वह अपनी वाल्ट स्पर्धा में चौथे स्थान पर रही थीं।

हैदराबाद जिला बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष चामुंडेश्वरनाथ ने उन्हें उनके प्रदर्शन के लिये बीएमडब्ल्यू कार भेंट दी थी। दीपा को महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने सम्मान समारोह में रियो ओलंपिक की पदक विजेता पीवी सिंधु और साक्षी मलिक के साथ कार की चाबियां सौंपी थीं।दीपा रखरखाव की दिक्कत के कारण अपनी लग्जरी कार वापस करना चाहती हैं क्योंकि अगरतला की सड़कें बीएमडब्ल्यू के लिये काफी संकरी हैं और शहर में बीएमडब्ल्यू गाड़ी का एक भी शोरूम या सर्विस सेंटर नहीं है।

image


इस 23 वर्षीय खिलाड़ी के कोच बी नंदी ने भी कहा कि उन्होंने भी आग्रह किया कि कार के बराबर की कीमत दीपा के खाते में ट्रांसफर कर दी जानी चाहिए। चामुंडेश्वरनाथ ने कहा कि वह जिमनास्ट से बात करेंगे कि उन्हें वाहन से संबंधित किन दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। चामुंडेश्वरनाथ ने पीटीआई से कहा, ‘‘हम उससे बात करेंगे। दीपा जिसमें भी सहज महसूस करे हम उस पर गौर करेंगे, अगर उन्हें बीएमडब्ल्यू नहीं चाहिए। ’’ चामुंडेश्वरनाथ ने कहा, ‘‘खिलाड़ियों को कार उपहार में देने के पीछे उन्हें बेहतर प्रदर्शन करने के लिये प्रेरित करना था। ’

दीपा के पिता दुलाल करमाकर ने पीटीआई से कहा कि दीपा और उनके कोच बी एस नंदी ने मिलकर कार लौटाने का फैसला किया क्योंकि अगरतला में उसका सर्विस सेंटर नहीं है। दीपा के पिता ने अगरतला से कहा, ‘‘हम बीएमडब्ल्यू कार लौटाना चाहते हैं। अगरतला में बीएमडब्ल्यू कार का कोई सर्विस सेंटर नहीं है। किसी भी तरह की तकनीकी खामी के लिये हमें कोलकाता जाना पड़ेगा और उसका पूरा खर्चा हमें उठाना होगा। ’’ करमाकर ने हालांकि इसका खंडन किया कि वे इसलिए कार लौटाना चाहते हैं क्योंकि त्रिपुरा में सड़कों की स्थिति अच्छी नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘यहां सड़कें अच्छी हैं। हो सकता है कि वे दिल्ली या कोलकाता की तरह चौड़ी नहीं हो लेकिन बीएमडब्ल्यू कार यहां चल सकती है। ’’ करमाकर ने कहा कि उन्होंने धनराशि देने के लिये इसलिए कहा क्योंकि इससे वे मारूति सुजुकी या हुंदेई कार खरीद सकते हैं जिसके यहां सर्विस सेंटर और शोरूम भी हैं।

दीपा करमाकर रखरखाव की दिक्कत के कारण अपनी लग्जरी कार वापस करना चाहती है लेकिन उन्हें यह बीएमडब्ल्यू कार भेंट करने वाले हैदराबाद जिला बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष चामुंडेश्वरनाथ ने कहा कि इस वाहन को लेकर जो भी दिक्कतें आ रही हैं उस संबंध में वह इस जिम्नास्ट से बात करेंगे। चामुंडेश्वरनाथ ने कहा, ‘‘हम उससे बात करेंगे। दीपा जिसमें भी सहज महसूस करे हम उस पर गौर करेंगे, अगर उन्हें बीएमडब्ल्यू नहीं चाहिए। ’’ दीपा ने संकेत दिये कि उन्हें बीएमडब्ल्यू कार के रखरखाव में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यह कार उन्हें दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने सौंपी थी। चामुंडेश्वरनाथ ने कहा, ‘‘खिलाड़ियों को कार उपहार में देने के पीछे उन्हें बेहतर प्रदर्शन करने के लिये प्रेरित करना था। ’’ रियो ओलंपिक की पदक विजेता पीवी सिंधु और साक्षी मलिक के अलावा मामूली अंतर से पदक चूकने वाली दीपा को भी चामुंडेश्वरनाथ ने कार भेंट की थी

Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest Stories

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें