पढ़ाई के जुनून के आगे सारी मुसीबतें साबित हुईं बौनी, भीषण बाढ़ के बीच रोज़ नाव चलाकर स्कूल जा रही है यह लड़की

गोरखपुर के बहरामपुर की रहने वाली संध्या साहनी आज अपने ठोस इरादों को लेकर चर्चा में हैं।
123 CLAPS
0

कोरोना महामारी के चलते लागू हुए लॉकडाउन के बाद देश भर के स्कूलों ने ऑनलाइन क्लास का संचालन शुरू कर दिया है, हालांकि स्मार्टफोन जैसी सुविधाओं के अभाव में अभी भी लाखों की संख्या में बच्चे ऑनलाइन क्लास अटेंड करने में असमर्थ हैं। हाल ही में खोले गए स्कूलों के बाद यह माना जा रहा था कि उन बच्चों की शिक्षा को वापस से पटरी पर लाया जा सकेगा, हालांकि उत्तर प्रदेश के तमाम जिलों में हुई भारी बारिश के बाद बने बाढ़ के हालातों के बाद अब बच्चों के लिए स्कूल तक पहुँचना भी मुश्किल हो गया है।

इस बीच गोरखपुर की एक लड़की ने बाढ़ जैसे कठिन हालातों का सामना करते हुए अपनी पढ़ाई को जारी रखने का इरादा किया और अब पढ़ाई को लेकर इस लड़की के जज्बे को सभी सलाम कर रहे हैं। गोरखपुर के बहरामपुर की रहने वाली संध्या साहनी आज अपने ठोस इरादों को लेकर चर्चा में हैं। 

नाव से जाने लगीं स्कूल

संध्या के अनुसार लॉकडाउन के चलते सारे स्कूल बंद थे और पास में स्मार्टफोन न होने एक चलते वे स्कूल द्वारा संचालित की जा रहीं ऑनलाइन क्लासेस में भी हिस्सा नहीं ले पा रही थीं। इसके बाद जब स्कूल खुला तब क्षेत्र में आई बाढ़ ने स्कूल जाने के सभी रास्तों को पूरी तरह जलमग्न कर दिया, ऐसे में किसी भी बच्चे के लिए स्कूल जा पाना संभव नहीं था।

संध्या साहनी खुद नाव चलाकर स्कूल जाते हुए (फोटो साभार: ANI)

बाढ़ के पानी को कम होते न देख कक्षा 11वीं में पढ़ने वाली संध्या ने यह तय किया कि वे खुद ही इसका कोई हल निकालेंगी और स्कूल जाकर अपनी पढ़ाई को जारी रखेंगी। इसके लिए उन्होने तय किया कि वे रोज़ नाव चलाकर अपने स्कूल जाएंगी और नियमित क्लास अटेंड करेंगी।

बाढ़ से नहीं लगा भय

संध्या ने मीडिया से बात करते हुए बताया है कि क्षेत्र में हर बरसात के बाद बाढ़ जैसे हालात बन जाते हैं, ऐसे में क्षेत्रवासियों को इस मुसीबत का सामना हर साल करना पड़ता है। हर साल आ जाने वाली बाढ़ के चलते संख्या के मन से यह डर पहले ही खत्म हो चुका था।

क्षेत्र से राप्ती नदी बहती है, जिसके चलते बरसात के मौसम में पानी का स्तर काफी बाढ़ जाता है और हर साल बाढ़ जैसा माहौल बन जाता है। हालांकि संध्या चाहती हैं कि शासन इस पर गौर करे और जल्द से जल्द इस इलाके में एक बांध का निर्माण किया जाए जिससे बाढ़ को रोका जा सके और क्षेत्र अन्य छात्रों को भी स्कूल जाने में दिक्कत न हो।

राहुल गांधी और सोनू सूद ने की तारीफ

संध्या इस इस हौसले को सलाम करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी और बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने भी उनकी तारीफ की है। संध्या ने इस बारे में मीडिया से बात करते हुए कहा है कि राहुल गांधी जैसे बड़े नेताओं को भी यहाँ के हालात के बारे में जमीनी स्तर पर जानकारी लेनी चाहिए ताकि यहाँ की स्थिति को जल्द से जल्द बेहतर किया जा सके।

संध्या के पिता पढे-लिखे नहीं हैं हालांकि संध्या खूब पढ़-लिखकर रेलवे में सरकारी नौकरी करना चाहती हैं। संध्या के अनुसार उनकी शिक्षा को लेकर उन्हें परिवार का पूरा समर्थन हासिल है।


YourStory की फ्लैगशिप स्टार्टअप-टेक और लीडरशिप कॉन्फ्रेंस 25-30 अक्टूबर, 2021 को अपने 13वें संस्करण के साथ शुरू होने जा रही है। TechSparks के बारे में अधिक अपडेट्स पाने के लिए साइन अप करें या पार्टनरशिप और स्पीकर के अवसरों में अपनी रुचि व्यक्त करने के लिए यहां साइन अप करें।

TechSparks 2021 के बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए यहां क्लिक करें।

Tech30 2021 के लिए आवेदन अब खुले हैं, जो भारत के 30 सबसे होनहार टेक स्टार्टअप्स की सूची है। Tech30 2021 स्टार्टअप बनने के लिए यहां शुरुआती चरण के स्टार्टअप के लिए अप्लाई करें या नॉमिनेट करें।

Edited by रविकांत पारीक