संस्करणों
प्रेरणा

'संवेदना और बुद्धिमत्ता के बेजोड़ मिश्रण का नाम है वाणी कोला'

19th Aug 2015
Add to
Shares
2
Comments
Share This
Add to
Shares
2
Comments
Share

वास्तव में वाणी कोला एक ऐसी अगुवा हैं, जिनकी मैं इज्ज़त करने के साथ-साथ सराहना भी करती हूँ। मैं उन्हें बीते कई वर्षों से जानती हूँ और वे मेरे भीतर के उद्यमी से बात करती हैं। शायद इसके पीछे का कारण यह है कि वे स्वयं एक उद्यमी रही हैं और वे बखूबी इस तथ्य से वाकिफ़ हैं कि शून्य से प्रारंभ होकर एक सफल उद्यम को स्थापित करने के लिए क्या-क्या करना पड़ता है।


वाणी कोला

वाणी कोला


इसके अलावा कहानियों के प्रति उनकी गहरी समझ और जुड़ाव और किसी भी व्यक्ति के जीवन में कहानियों से पड़ने वाले प्रभाव को लेकर उनकी सोच मुझे उनके साथ और भी गहराई से जोड़ती है। वे योर स्टोरी की स्थापना के पीछे की मंशा को समझने के अलावा इसकी ताकत और कमज़ोरियों से भी बखूबी वाक़िफ़ थीं। उनकी समझ काबिल-ए-तारीफ है। उन्हें ये तो पता होता ही है कि सामने वाला क्या कहने जा रहा है साथ में ये भी पता होता है जो आप उन्हें नहीं बताना चाहते हैं। इसके लिये आपके भीतर संवेदना और बुद्धिमत्ता, दोनों का होना बहुत जरूरी है। मेरे ख्याल से उनके भीतर ये दोनों ही विशेषताएँ बहुतायत में मौजूद हैं। वे बैठकर तमाशा देखने वालों में से नहीं हैं और वे एक सच्चे साथी तरह सामने आकर मदद करने में विश्वास करती हैं। मुझे लगता है कि उन्हें नए उद्यमियों को तराशने में आनंद आता है।

जब मैं पूँजी जुटाने के प्रयासों के बारे में विचार कर रही थी, उस समय मैं सिर्फ एक निवेशक ही नहीं तलाश रही थी बल्कि मैं ऐसे लोगों की तलाश में थी जो योर स्टोरी के काम और दृष्टि को लेकर मेरी तरह जुनूनी हों और इसपर भरोसा करते हों। मैं बहुत प्रसन्न हूँ कि योरस्टोरी के नए और विकास के चरण में साथ काम करने वाले एक वास्तविक साथी को तलाशने में मैं सफल रही हूँ। मैं उनके साथ स्वयं को न सिर्फ व्यापार के मूल्यों के आधार पर जोड़ती हूँ बल्कि मुझे लगता है कि कार्य के बुनियादी मुद्दों को लेकर हमारे विचार, हमारी मान्यताएँ और एक उच्च सिद्धांत वाली संस्था का निर्माण करने को लेकर समान दृष्टि आपस में कहीं न कहीं हमें जोड़ती हैं। मैं बेहद उत्साह के साथ इस नए सफर के लिए तत्पर हूँ।

इस वीडियो वार्तालाप के दौरान वाणी विस्तार से उद्यमियों के उन गुणों के के बारे में बताती है जो उनका ध्यान अपनी ओर खींचते हैं।


(यह लेख मूलत: अंग्रेजी में योर स्टोरी की एडिटर इन चीफ़ और संस्थापक श्रद्धा शर्मा द्वारा लिखा गया है)

कैमराः आर राजा

संपादकः अंजली

Add to
Shares
2
Comments
Share This
Add to
Shares
2
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags