संस्करणों

दुनिया को भारत की कहानी बताएगा प्रसार भारती का डिजिटल ब्रांड

YS TEAM
27th Jun 2016
Add to
Shares
2
Comments
Share This
Add to
Shares
2
Comments
Share

प्रसार भारती ने भारत की कहानी दुनिया को बताने के लिए एक विशिष्ट डिजिटल प्लेटफॉर्म स्थापित करने के लिए अपना ध्यान साइबरस्पेस पर केंद्रित कर दिया है। यह प्लेटफॉर्म दूरदर्शन और आकाशवाणी के अतिरिक्त होगा।

एक विशिष्ट, नवोन्मेषी डिजिटल प्लेटफॉर्म स्थापित करने के प्रस्ताव का विचार इसलिए आया क्योंकि प्रसार भारती ने यह महसूस किया कि अल जजीरा, रशिया टुडे और अमेरिका के एनपीआर जैसे कई बड़े वैश्विक प्रसारकों की नेट पर जबर्दस्त मौजूदगी है।

image


सूत्रों ने पीटीआई-भाषा को बताया कि प्रसार भारती के अध्यक्ष ए. सूर्य प्रकाश ने एक विशेष ‘कमेटी फॉर डिजिटल प्लेटफॉर्म’ स्थापित की है। चीजों को सही दिशा में ले जाने के लिए इसकी पहली बैठक 16 जून को हुई।

प्रकाश के साथ ही इस समिति में प्रसार भारती के बोर्ड सदस्य शशि शेखर वेम्पति, जो एक ऑनलाइन मीडिया कंपनी के प्रमुख हैं, बि़जनेस एग्जीक्यूटिव सुनील अलघ और इसके सदस्य :वित्त: राजीव सिंह शामिल हैं।

सूत्रों ने बताया कि डिजिटल प्लेटफॉर्म की स्थापना पर मंथन करने वाली समिति में अन्य लोगों में वरिष्ठ पत्रकार आर जगन्नाथन, शिक्षाविद वामसी जुलूरी तथा उद्यमी रीतेश बावरी शामिल हैं।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘सोच अंतरराष्ट्रीय फोकस के साथ शीर्ष डिजिटल समाचार ब्रांड स्थापित करने की है जो वैश्विक घटनाक्रमों पर भारतीय दृष्टिकोण को प्रस्तुत कर सके।’’ सूत्रों ने बताया कि यह प्रस्तावित किया गया कि डिजिटल प्लैटफॉर्म में एक वेबसाइट, एक मोबाइल ऐप्प, ट्विटर, फेसबुक, जी प्लस इत्यादि जैसे सोशल मीडिया चैनल होने चाहिए। इसकी यूट्यूब, व्हाट्सऐप, विबर इत्यादि पर भी मौजूदगी होनी चाहिए।

सूत्रों ने कहा कि यह डिजिटल प्लेटफॉर्म विश्व के सर्वश्रेष्ठ ब्रांडों की तर्ज पर होना चाहिए जिसके लिए क्षमताएं विकसित करनी होंगी। एक अधिकारी ने बताया कि प्लेटफॉर्म की शुरआत अंग्रेजी भाषा से हो सकती है और बाद में इसके लिए स्पेनी, फ्रांसीसी जैसी बड़ी वैश्विक भाषाओं को शामिल किया जा सकता है।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘समिति ने अपनी पहली बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा की जैसे कि क्या यह नया उपक्रम सार्वजनिक निजी भागीदारी में स्थापित किया जाना चाहिए। इसके लिए अपनाई जाने वाली प्रौद्योगिकियों और श्रम शक्ति जैसे विषयों पर भी चर्चा हुई। इस संबंध में निर्णय समिति द्वारा प्रसार भारती को रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद किया जाएगा।’’ (पीटीआई) 

Add to
Shares
2
Comments
Share This
Add to
Shares
2
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags