संस्करणों

सुलझ गया एक्स-फाइल का डीएनए रहस्य,20 साल से इस प्रक्रिया को समझने में लगे थे वैज्ञानिक

7th Jun 2016
Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share

वैज्ञानिकों ने हमारे डीएनए द्वारा प्रतिकृति बनाने और अपनी मरम्मत कर लेने से जुड़े रहस्य की एक अहम गुत्थी को सुलझाने में सफलता हासिल की है। डीएनए को हर किस्म के जीवन के लिए जरूरी माना जाता है।

इस नए शोध को ब्रिटेन के शेफील्ड विश्वविद्यालय के प्रमुख वैज्ञानिकों ने किया। इस शोध में यह स्पष्ट किया गया है कि किस तरह से शाखायुक्त डीएनए अणु अपनी दोहरी कुंडलीदार संरचना से अलग होते हैं। वैज्ञानिक 20 साल से भी ज्यादा समय से इस प्रक्रिया को समझने में लगे थे।

शेफील्ड विश्वविद्यालय में फंक्शनल जिनोमिक्स के प्रोफेसर और इस अध्ययन के प्रमुख लेखक जॉन सेयर्स ने कहा, ‘‘शाखायुक्त डीएनए एक्स-फाइल्स की कई कड़ियों में दिखाया गया है। इसमें एजेंट स्कली यह शंका जाहिर करती हैं कि शायद ऐलियन उनके खून में दिलचस्पी ले रहे हैं।’’ सेयर्स ने कहा, ‘‘वास्तव में, ऐलियनों से जुड़े होने से परे, शाखायुक्त डीएनए हर रोज हमारे शरीरों में बनता है। यह हमारी कोशिकाओं के विभाजन के साथ हर समय होता है। ये शाखाएँ हमारे डीएनए की प्रतिकृतियाँ बनने की प्रक्रिया में बनने वाले महत्वपूर्ण मध्यवर्ती हैं।’’

विश्वविद्यालय के संक्रमण, प्रतिरक्षा और हृदय रोग, आणविक जीव विज्ञान एवं बायो प्रौद्योगिकी विभागों से मिलाकर बनाए गए अंतरसंकायी दल ने आणविक घटनाओं को अभूतपूर्व तस्वीरें ली हैं, जिनमें पूरी जानकारी उपलब्ध करवाई गई है।

ये दिखाती हैं कि किस तरह फ्लैप एंडोन्यूक्लीज एंजाइम कोशिकाओं के विभाजन के बाद शाखायुक्त डीएनए अणुओं को छोटा कर देते हैं।(पीटीआई)

Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags