संस्करणों
प्रेरणा

अब किराना स्टोर आपके एक क्लिक पर

ई-कॉमर्स का शाहकार ‘जिफ्फस्टोर’

14th Jul 2015
Add to
Shares
5
Comments
Share This
Add to
Shares
5
Comments
Share

भारत की उद्यमिता के क्षेत्र में मोबाइल के विकास को सबसे बड़े विकास के तौर पर देखा जाता है। इसी को देखते हुए, हमने पिछले साल मोबाइल स्टार्टअप्स को एक प्लेटफॉर्म देने के लिए मोबाइलस्पार्क्स को लॉन्च किया (दूसरा संस्करण जल्दी ही आने वाला है)। मोबाइल की ये किरणें आम लोगों के हाथों में तकनीक की ताकत प्रदान करती हैं।

ई-कॉमर्स के विभिन्न क्षेत्रों में कई खिलाड़ी रहे हैं और इस क्षेत्र में ये तेजी 2011 में शुरू हुई थी। अब ये साबित हो चुका है कि किसी भी विक्रेता के लिए ऑनलाइन एक अच्छा माध्यम है लेकिन लोगों के दिमाग में अब भी ये शंका है कि उन्हें उनके निवेश का अच्छा रिटर्न मिलेगा या नहीं। छोटे स्टोर्स और सुपरमार्केट्स के लिए मौका बड़ा है और यहीं पर जिफ्फस्टोर ने अपने आपको खड़ा किया है।

जिफ्फस्टोर एक एम-कॉमर्स प्लेटफॉर्म है जो छोटे खुदरा विक्रेताओं और सुपरमार्केट्स को अपने ग्राहकों तक बेहतर तरीके से पहुंचने में मदद करता है। ग्राहक तीन आसान तरीके से अपना ऑर्डर देकर उसे प्राप्त कर सकते हैं। दुकानदार के लिए जिफ्फस्टोर मोबाइल के जरिए विश्लेषण की एक नई दुनिया, नए युग की मार्केटिंग तकनीक और ग्राहकों को मिलाने का एक माध्यम है। इसमें भुगतान मंथली सब्सक्रिप्शन मॉडल यानी मासिक तौर पर किया जाता है।

इस कंपनी की शुरुआत चार लोगों ने की थी – सतीश बासवराज, अश्विन राम, शमील अब्दुल्लाह और संदीप एस। चारों का मोबाइल, इंटरनेट और एनालिटिक्स के क्षेत्र में बीस साल से ज्यादा का अनुभव है। कंपनी ने टीलैब्स में एसीलिरेटर प्रोग्राम भी किया है और फिलहाल बैंगलोर के 25 से ज्यादा खुदरा स्टोर्स के साथ काम कर रही है।

इस तरह के कारोबार को बढ़ाने के लिए सबसे बड़ी बाधा किराने वाले को स्मार्टफोन के इस्तेमाल से काम करने के लिए राजी करना होता है। सतीश बताते हैं, “फिलहाल हमारा लक्ष्य मेट्रो और टायर 1 शहरों के सुपरमार्केट्स और खुदरा विक्रेताओं को साथ लेकर आगे बढ़ने का है।” इसके बाद वो आगे विस्तार की सोचेंगे। खुदरा विक्रेता खुद ही वितरण माध्यम के तौर पर ही काम करते हैं क्योंकि खुदरा विक्रेताओं को इंटरनेट के माध्यम से ऑर्डर लेना आसान लगता है क्योंकि फोन के जरिए ऑर्डर लेना और फिर बार-बार ग्राहक से संवाद करना उनके लिए ज्यादा परेशानी वाला है।

जिफ्फस्टोर टीम

जिफ्फस्टोर टीम


सतीश बताते हैं, “दोनों ही पक्षों की ओर से रेस्पॉन्स बहुत ही अच्छा रहा है, खासकर स्टोर के मालिकों का रेस्पॉन्स काफी अच्छा रहा है। ये बात अब फैलने लगी है और इसी तरह से हम नई मांग भी प्राप्त कर रहे हैं।” यह एप्लिकेशन एंड्रॉयड के साथ-साथ आईओएस पर उपलब्ध है और जो खुदरा विक्रेता इस एप के जरिए कारोबार कर रहे हैं उन्हें प्रतिदिन कम से कम दो ऑर्डर तो मिल ही रहे हैं।

एप को यहां से डाउनलोड करें और अगर आप एक स्टोर के मालिक हैं तो जिफ्फस्टोर के लिए साइनअप करें। मोबाइल और स्टार्टअप्स से जुड़ी कोई भी जानकारी हासिल करने के लिए आप मोबाइलस्पार्क्स पर देख सकते हैं।

Add to
Shares
5
Comments
Share This
Add to
Shares
5
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

Authors

Latest Stories

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें