संस्करणों

देश की मिट्टी से जुड़कर काम करने की भावना से अमेरिका छोड़कर चेन्नई आई 'ब्रास टैक्स' की अनैका

अनैका ने सुनी मन की आवाज़ और पाई फैशन उद्योग में सफलता... न्यूयॉर्क की फैशनेबल लाइफ़स्टाइल ने किया प्रेरित...2006 में अच्छी ख़ासी नौकरी छोड़ चेन्नई आकर रखा क़दम फैशन उद्योग में... रखी 'ब्रास टैक्स' फैशन ब्रांड की नींव।

Ashutosh khantwal
21st Aug 2015
Add to
Shares
2
Comments
Share This
Add to
Shares
2
Comments
Share

भाग्य और मेहनत ये दो ऐसी चीजें होती हैं जो परस्पर साथ-साथ चलती हैं कई बार लोग इनको अलग समझने की भूल कर देते हैं लेकिन थोड़े समय में ही उन्हें यह अहसास हो जाता है। यदि हम मेहनत करते रहेंगे और अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते रहेंगे तो दुनिया की कोई ताकत हमें अपने मार्ग से भटका नहीं सकती। वहीं कई बार हम उस काम में लगे होते हैं जिस काम में हमारी कोई खास रुचि नहीं होती। इसका नतीजा यह होता है कि कुछ समय बाद ही हम खुद को उस राह से अचानक अलग कर देते हैं और कोई नई राह पकड़ लेते हैं। ऐसा ही कुछ अनैका के साथ भी हुआ। अनैका ने अमरीका से अर्थशास्त्र की पढ़ाई की और उसके बाद ग्रामीण विकास में वहीं की कंपनी में इंटर्नशिप की। 

अनैका ने न्यूयॉर्क में 'नेरा' नाम की एक एनालिसिज फर्म में काम किया, लेकिन अनैका को इस कार्य में मज़ा नहीं आ रहा था। अनैका को जो चीज वहाँ सबसे ज्यादा आकर्षित कर रही थी, वो थी वहां की लाइफ़स्टाइल न्यूयॉर्क के लोग काफी फैशनेबल हैं और अनैका को भी अलग- अलग तरह की ड्रेस पहनना काफी पसंद था। जब वे वहां शॉपिंग करने जातीं तो उन्हें अलग-अलग तरह की डे्रसेज वहां मिलती जोकि बिल्कुल लेटेस्ट और बहुत क्रिएटिव होती थीं। अनैका को भी फैशन का यह क्षेत्र बहुत पसंद आता था। उनका मन भी करता था कि वे इस क्षेत्र में काम करें और उनका भी अपना ब्रॉड हो। उनका इस क्षेत्र में काम करने का मन तो करता था, लेकिन एक अच्छी ख़ासी नौकरी को छोड़ पाना इतना आसान काम नहीं था। 

अनैका की मां को भी कपड़ों में खासी रुचि थी जब अनैका पैदा हुई थी उस दौरान उनकी मां ने एक साड़ी की रिटेल शॉप खोली थी। एक बार जब अनैका चेन्नई आईं और शॉपिंग के लिए मार्केट गई तो उन्हें काफी निराशा हुई। उन्हें वहाँ कोई ब्रांड नहीं मिला जो भारतीय टेक्सटाइल क्राफ्ट को उचित दाम में बेच रहा हो। कपड़ों की फ़िटिंग भी सही नहीं थी। अधिकांश ड्रेस काफी लूज़ थीं। तब उन्हें महसूस हुआ कि अब समय आ गया है कि वो इस क्षेत्र में आएँ और लोगों को अच्छे-अच्छे विकल्प दें। उनकी इस सोच ने जन्म दिया 'ब्रास टैक्स' नाम के ब्रांड को।

image


सन 2006 के मध्य में अनैका अपनी नौकरी छोड़कर चेन्नई आ गईं और अपना काम शुरू किया। अनैका अपना कलेक्शन नैचुरल इंडियन टैक्सटाइल से तैयार करती हैं। साथ ही उनका फोकस ड्रेस की फिटिंग पर रहता है। वे चाहती हैं कि उनके कलेक्शन को हर बॉडी टाइप का इंसान पहन सके। और खुद को अच्छा महसूस कर सके। 

अनैका इस बात का भी खास ख्याल रखती हैं कि उनके बनाई ड्रेस पहनने में सुविधाजनक व आरामदायक हों। अनैका की पूरी कोशिश होती है कि उनकी ड्रेस में भारतीयता की झलक साफ दिखाई दे। इसके लिए उन्होंने अपने साथ कई निपुण कारिगरों को शामिल किया है। वे कई भारतीय फैब्रिक्स का इस्तेमाल अपने कलेक्शन में करती हैं। काम में बारीकी का बहुत ध्यान रखती हैं। अनैका की टीम में करीब 25 से ज्यादा ट्रेन्ड लोग हैं। जो काम को और बेहतर करने की दिशा में लगे हुए हैं। अभी अनैका के रिटेल आउटलेट चेन्नई में हैं, लेकिन जल्दी ही वे कुछ और जगहों पर भी अपने स्टोर्स खोलने की सोच रही हैं। साथ ही अनैका का कलेक्शन लोग ऑनलाइन भी ख़रीद सकते हैं। 'ब्रास टैक्स' ज्यादा सेल्स के चक्कर में क्वालिटी से कोई समझौता नहीं करती।

Add to
Shares
2
Comments
Share This
Add to
Shares
2
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest Stories

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें