संस्करणों
प्रेरणा

बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिए सबसे गरीब 184 ज़िलों की पहचान

केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य सेवाओं को विशेष तव्वजो देने के लिए की पहचानप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया ऐलान

28th Aug 2015
Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share

पीटीआई


image


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को विशेष तवज्जो देने के लिए खराब प्रदर्शन वाले 184 जिलों की पहचान की गई है जहां अधिक संसाधन प्रदान करने के साथ विशिष्ठ कार्यक्रम शुरू किए जायेंगे।

माता एवं बाल स्वास्थ्य समेत विविध क्षेत्र में भारत की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि भारत पांच वर्ष से कम आयु वर्ग में मृत्यु दर को कम करने के लिए सह्रस्त्राब्दी विकास लक्ष्यों को हासिल करने के करीब पहुंच जायेगा।

स्वास्थ्य सेवा पर यहां आयोजित एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि दिसंबर 2015 के वैश्विक लक्ष्य से पहले ही भारत में माताओं एवं शिशुओं में टिटनेस के कारण होने वाली मौत समाप्त हो चुकी है और देश इस बारे में प्रौद्योगिकी और कार्यक्रम हस्तक्षेप के जरिये दूसरों की मदद करने को तैयार है।

प्रधानमंत्री ने प्रस्ताव किया कि ‘एक ऐसी व्यवस्था को संस्थागत रूप देने की जरूरत है जहां वंचित समुदायों को सार्वभौम स्वास्थ्य सेवा और वित्तीय संरक्षण मिले क्योंकि ‘‘दुर्भाग्यपूर्ण स्वास्थ्य घटनाएं’’ लोगों को वित्तीय रूप से कमजोर बना रही हैं।।

उन्होंने कहा, ‘‘ हमारा खास जोर समता स्थापित करने पर है। राज्यों में असमानता से प्रभावितों के लिए पूरे क्षेत्र में समतामूलक स्वास्थ्य सेवा सुनिश्चित करने की दिशा में एक कदम के तौर पर और स्वास्थ्य परिणामों के तीव्र सुधार के संदर्भ में पूरे देश में खराब प्रदर्शन करने वाले 184 जिलों की पहचान की गई है।’’ मोदी ने कहा कि इन इलाकों में अधिक संसाधन प्रदान किये जाने और केंद्रित कार्यक्रमों को लागू करने की दिशा में विशेष प्रयास किये जा रहे हैं।

Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags