संस्करणों

‘‘अभी भारत में होना समझदारी है’’,भारत-ब्रिटेन के बीच 9अरब पौंड के सौदों में 6अहम समझौते

13th Nov 2015
Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share
image


भारतीय निवेशकों को आकर्षित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था की तरक्की के लिए ‘‘जरूरी दशाएं’’ पैदा की गई हैं। उन्होंने यह भरोसा भी दिलाया कि आने वाले दिनों में ये स्थितियां बेहतर होती जाएंगी।

मोदी ने कहा कि प्रत्यक्ष विदेशी निवेश :एफडीआई: के ताजा सुधारों के बाद भारत अब विदेशी निवेश के लिए ‘‘सबसे खुले’’ देशों में से एक है । उन्होंने जोर देकर कहा कि ‘‘अभी भारत में होना समझदारी है ।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि वह व्यक्तिगत तौर पर ब्रिटिश सरकार और कंपनियों के साथ काम करने को लेकर उत्सुक हैं । उन्होंने कहा कि ‘‘आपके सपनों को एक हकीकत में बदलने के लिए मैं निजी तौर पर ख्याल रखूंगा।’’ लंदन के बीचोंबीच स्थित ऐतिहासिक गिल्डहॉल में उद्योग जगत की बड़ी हस्तियों को संबोधित करते हुए मोदी ने ये बातें कहीं।

प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई कि 2016 में वस्तु एवं सेवा कर :जीएसटी: की शुरूआत सफलतापूर्वक हो जाएगी।

मोदी ने कहा, ‘‘भारतीय अर्थव्यवस्था की उड़ान के लिए जरूरी दशाएं बनाई गई हैं । इससे पहले भारत कभी भी बाहर की प्रतिभा, प्रौद्योगिकी एवं निवेश को आत्मसात करने के लिए इतना तैयार नहीं था । मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि आने वाले दिनों में स्थितियां बेहतर होती जाएंगी ।’’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘हम आपके विचारों, नवोन्मेषों एवं उद्यमों का स्वागत करेंगे । हम अपनी नीतियों एवं प्रक्रियाओं में जरूरी सुधार करने को लेकर काफी खुले विचार के हैं ।’’ मोदी ने कहा कि पहले नियमन एवं करों से जुड़े कई मसले थे जो विदेशी निवेशकों की भावनाओं पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रहे थे । उन्होंने कहा कि सरकार ने कई निर्णायक कदम उठाएं हैं जिनसे लंबे समय से लंबित चिंताएं दूर की जा सकेंगी ।

image


प्रधानमंत्री ने ने कहा, ‘‘मेरी सरकार ने जब से कामकाज संभाला है, हम लगातार अर्थव्यवस्था को सही रास्ते पर लाने के लिए काम कर रहे हैं । हमारी कड़ी मेहनत का नतीजा दिख रहा है । आईएमएफ प्रमुख ने हाल ही में कहा कि भारत आज वैश्विक अर्थव्यवस्था के दमकते सितारों में से एक है । पिछले साल हमारी वृद्धि दर 7.3 फीसदी थी ।’’

image


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहली ब्रिटेन यात्रा के दौरान भारत और ब्रिटेन के बीच नौ अरब पौंड के सौदों में छह महत्वपूर्ण समझौते शामिल हैं।

1. वोडाफोन भारत में अपने नेटवर्क को उन्नत बनाने और उसके विस्तार में, पुणे एवं हैदराबाद में नये तकनीक केंद्र बनाने में, नये डेटा केंद्र बनाने तथा नये पेमेंट बैंक बनाने में 1.3 अरब पौंड का निवेश करेगी।

2. अगले पांच वर्षों में भारत में तीन गीगावाट्र्ज की सौर उर्जा के डिजाइन और उसके प्रबंधन में लाइट सोर्स दो अरब पौंड का निवेश करेगी जिससे भारत और ब्रिटेन में 300-300 लोगों के लिए रोजगार का अवसर उपलब्ध हो सकेगा।

3. इंटेलिजेंट एनर्जी ने भारत के 27,400 टेलिकॉम टॉवर को स्वच्छ उर्जा मुहैया कराने के लिए 1.2 अरब पौंड के समझौते पर हस्ताक्षर किया है।

4. किंग्स कॉलेज हॉस्पिटल्स फाउंडेशन ट्रस्ट और इंडो-यूके हेल्थकेयर चंडीगढ़ में एक अस्पताल की स्थापना करेगा। यह भारत में बनने वाले 11 इंडो-यूके हॉस्पिटल्स का पहला अस्पताल होगा। समय के साथ भारत में चिकित्सा क्षेत्र में यह सौदा एक अरब पौंड का होगा।

5. इंडिया बुल्स ब्रिटिश स्टार्ट-अप बैंक ओकनार्थ में 6.6 करोड़ पौंड का निवेश करेगी।

6. यस बैंक और लंदन स्टॉक एक्सचेंज ने एक करार पर हस्ताक्षर किया है।

Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags