संस्करणों

‘WeAreHolidays’ के साथ छुट्टियां मनायें, करें मस्ती अनलिमिटेड...

ऑनलाइन टूर पैकेज तैयार करती है ‘WeAreHolidays’गुडगांव से काम कर रहा है ‘WeAreHolidays’‘WeAreHolidays’ में 90 लोगों की मजबूत टीम

15th Aug 2015
Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share

दो दोस्त दीपक वाधवा और हरकीरत सिंह जिनको ऑनलाइन ट्रैवल कारोबार की काफी बेहतर समझ थी। क्योंकि दोनों ने पढ़ाई भले ही इंजीनियरिंग की को हो लेकिन ‘MakeMyTrip’ में दोनों उत्पाद मैनेजर के तौर पर दस साल काम कर चुके थे। इस दौरान इन दोनों ने देखा कि ऑनलाइन ट्रेवल का कारोबार दिन ब दिन तेजी से बढ़ रहा है। बावजूद इसके ये लोग जानते थे कि इस क्षेत्र में लोगों की डिमांड पूरी करने के लिए नई सोच और नये दृष्टिकोण की सख्त जरूरत है। इसी सोच को अमलीजामा पहनाते हुए इन लोगों ने ‘WeAreHolidays’ की शुरूआत की।

‘WeAreHolidays’ की कोर टीम  के सदस्य  (बाएं से दाएं) प्रशांत, दीपक, हरकीरत, मोहित

‘WeAreHolidays’ की कोर टीम के सदस्य (बाएं से दाएं) प्रशांत, दीपक, हरकीरत, मोहित


साल 2012-13 के दौरान इन लोगों ने जब अपने काम को शुरू किया तो सबसे पहले इन लोगों ने ग्राहक और बाजार के हालात को समझने की कोशिश की। इस दौरान इन लोगों ने मोहित पिपलानी को भी अपने साथ जोड़ लिया जो इस वक्त कंपनी में घरेलू बाजार के मुखिया हैं। मोहित को इस क्षेत्र का काफी तजुर्बा है इससे पहले वो Michael Page International और ICICI Prudential के लिए भी काम कर चुके हैं। इस साल की शुरूआत में कंपनी ने अपने ग्राहकों को विभिन्न तरह के हॉलिडे पैकेज देने का काम शुरू किया है।

दीपक का कहना है कि हम इस क्षेत्र में लंबे वक्त तक रहना चाहते हैं और किसी भी कारोबार को बड़ा करने में करीब दस साल लग जाते हैं। हम लोग लंबी दौड़ के लिए ये सब कर रहे हैं। इन लोगों ने अपने कारोबारी मॉडल में थोड़ा बदलाव किया है। जो इनके उत्पाद, तकनीक और ग्राहक के स्तर पर दिखता है। इनके मुताबिक ये पहले से काफी अच्छा है। ‘WeAreHolidays’ का ध्यान यात्राओं की नई खोज पर है इसके लिए ये लोग अलग अलग जगहों से लोगों की यात्रा का विवरण इकठ्ठा कर रहे हैं। ताकि यात्राओं को और मजेदार बनाया जा सके। कंपनी को उम्मीद है कि वो इस तरह 50 प्रतिशत तक अपना विकास कर सकते हैं।

किसी भी बाजार का निर्माण करना एक मुश्किल काम है। इसके लिए जरूरी है कि सबसे पहले बेहतर सप्लाई के लिए अच्छे विक्रेताओं को अपने साथ जोड़ा जाये। इसके बाद ऑनलाइन माध्यम के जरिये डिमांड पैद की जानी चाहिए। सफलता ही सफलता को पैदा करती है। जब आम लोग देखते हैं कि उनके साथी और एजेंट बढ़ रहे हैं तो वो भी उसका हिस्सा बनने की कोशिश करते हैं। ये बिल्कुल उसी तरह है जैसे Ola और Uber ने कैब ड्राइवरों की जिंदगी बदल दी। ये लोग अपने विक्रेताओं के साथ मिलकर काम करते हैं और उनको बतातें हैं कि सफलता की सीढ़ी कैसे चढ़ी जाती है जिसके बाद वो खुद ही अपने काम को अंजाम देना शुरू कर देते हैं। जबकि ग्राहकों की तरफ से ये लोग उनकी हर दिक्कत को ऑनलाइन ही सुलझाने का दावा करते हैं।

‘WeAreHolidays’ बड़े ही आक्रमक तरीके से अपने को प्रेरणादायक तरीके से बदल रहा है। इस काम में सोशल मीडिया और नई खोज काफी मददगार साबित हो रही हैं। यही कारण है कि इनके चार ग्राहकों में से एक ग्राहक दोबारा इनके पास आता है या फिर वो दूसरों को इनके पास भेजता है। सहयोगी संगठनों, भागीदारों और इनसे जुड़े लोगों की सफलता की कहानियां इन लोगों के काम को बढ़ावा देने में मददगार साबित होती है।

‘TripSailer’ जिसे सौरभ चलाते हैं। वो दिल्ली के द्वारका इलाके में एक छोटी सी ट्रेवल एजेंसी के मालिक हैं। उनकी एक छोटी सी टीम थी जो जमीनी स्तर पर काम करती थी ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को ग्राहक बनाया जा सके। इसके लिए वो ‘Just Dial’ की सेवाएं भी लेते थे, लेकिन जब से उन्होने ‘WeAreHolidays’ के साथ गठजोड़ किया है तब से उनकी आय 6 लाख रुपये को भी पार कर गई है और उनकी टीम भी पहले के मुकाबले बढ़ गई है। आज उनकी टीम में दस लोग काम करते हैं। सौरभ अब बड़ा ऑफिस खरीदने के बारे में सोचने लगे हैं क्योंकि अब वो सिर्फ जस्ट डॉयल के भरोसे नहीं हैं।

image


इसी तरह ‘View Holiday Trips’ के मालिक दिनेश कुमार हैं जो दिल्ली के रोहणी इलाके में एक छोटी सी एजेंसी चलाते थे। वो अकेले ही अपने काम को अंजाम दे रहे थे इसके लिए उनके पास 125 वर्ग फीट की एक दुकान थी। लेकिन जब से उन्होने ‘WeAreHolidays’ के साथ गठजोड़ किया उसके बाद से उनके काम में उछाल आया और आज उनके यहां 4 लोग काम कर रहे हैं। इतना ही नहीं उन्होने अब पहले के मुकाबले चार गुणा बड़ी जगह पर अपना ऑफिस शुरू कर दिया है।

ये तो अभी पहला पढ़ाव है। अभी तो ‘WeAreHolidays’ को लंबी यात्रा करनी है। ज्यादातर भारतीय नई जगहों की खोज और योजनाओं के लिए ऑनलाइन तरीकों का इस्तेमाल करते हैं। यही वजह है कि बड़ी संख्या में ऑनलाइन ट्रेवल एजेंट भी इस ताकत को समझने लगे हैं और इस संबंध में वो योजनाओं को मूर्त रूप देने में जुटे हुए हैं। ‘WeAreHolidays’ फिलहाल गुडगांव से चल रहा है और इनके पास 90 सदस्यों की मजबूत टीम है। जिनका मुख्य ध्यान दुनिया भर के हॉलिडे पैकेज के बाजार पर है। ये लोग अपने ग्राहकों के तजुर्बे के आधार पर और दूसरे लोगों को अपनी सेवाओं के लिए आकर्षित कर रहे हैं।

Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags