संस्करणों
प्रेरणा

रूस से एस-400 वायु रक्षा प्रणाली खरीदेगा भारत

PTI Bhasha
15th Oct 2016
Add to
Shares
2
Comments
Share This
Add to
Shares
2
Comments
Share

 भारत ने आज घोषणा की कि वह रूस से पांच अरब डॉलर से अधिक मूल्य का एस-400 ‘ट्राइअम्फ’ वायु रक्षा प्रणाली खरीदेगा और कामोव हेलीकॉप्टर बनाने के लिए संयुक्त निर्माण सुविधा की स्थापना के साथ-साथ चार आधुनिक फ्रिगेट के निर्माण के लिए दोनों देश सहयोग करेंगे।

image


यहां आयोजित ब्रिक्स शिखर सम्मेलन से इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच हुई बैठक के बाद इन सौदों की घोषणा की गयी।

लंबी दूरी की रक्षा मिसाइल प्रणाली एस 400 ‘ट्राइअम्फ’ की खरीद को लेकर अंतर-सरकारी समझौता सामरिक दृष्टि से सबसे अहम फैसला है। यह रक्षा प्रणाली करीब 400 किलोमीटर के क्षेत्र में शत्रु के विमान, मिसाइल और यहां तक कि ड्रोन को नष्ट करने में सक्षम है।

करीब पांच एस-400 की खरीद को लेकर भारत और रूस करीब एक वर्ष से बातचीत कर रहे हैं। यह रक्षा प्रणाली क्षेत्र के लिहाज से काफी अहम साबित होगी।

यह तीन तरह के मिसाइल छोड़ने, बहुस्तरीय रक्षा प्रणाली तैयार करने और एक-साथ 36 निशाने साधने में सक्षम है। अगर भारत इस समझौते पर हस्ताक्षर करता है तो वह चीन के बाद इस प्रणाली को खरीदने वाला दूसरा देश बन जायेगा। चीन ने पिछले वर्ष करीब तीन अरब डालर का समझौता किया था।

अन्य अहम समझौता चार एडमिरल ग्रिगोरोविच-क्लास (प्रोजेक्ट 11356) गाइडेड मिसाइल स्टील्थ फ्रिगेट को लेकर है। इस सौदे के तहत दो युद्धपोत रूस से आयेंगे और रूस के सहयोग से दो का निर्माण भारत में किया जायेगा।

भारतीय शिपयार्ड के चुनाव को लेकर कोई निर्णय नहीं किया गया है। भारत में चीता और चेतक हेलीकॉप्टर का स्थान लेने के लिए 200 कामोव 226टी हेलीकॉप्टर के निर्माण से जुड़ा जटिल समझौता दोनों देशों के बीच किया गया एक और अहम सौदा है।

Add to
Shares
2
Comments
Share This
Add to
Shares
2
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest Stories

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें