संस्करणों

जानिए भारत के पहले सौर पार्क के बारे में

YS TEAM
30th Jul 2016
Add to
Shares
2
Comments
Share This
Add to
Shares
2
Comments
Share

भारत का सबसे बड़ा सौर पार्क तमिलनाडु में शुरू हो गया है। एबीबी इंडिया की घोषणा के अनुसार, यहाँ 5 सब स्टेशन हैं, जो 648 मेगावाट के सौर ऊर्जा पार्क से जुड़े हैं। इस पार्क का निर्माण अदानी ग्रुप ने किया है। 648 मेगावाट क्षमता में से 360 मेगावाट को सीधे नेशनल ग्रीड से जोड़ दिया गया है।

फोटो इंडियन डिप्लोमेसी फेस बुक

फोटो इंडियन डिप्लोमेसी फेस बुक


इस आंशिक सौर ऊर्जा निर्माण की शुरूआत से यह देश का सबसे बड़ा सौर ऊर्जा पार्क बन गया है। भारत का पहला सौर ऊर्जा पार्क गुजरात के चारंका जिले में है। इससे भी विभिन्न प्रॉजेक्ट डेवलपरों द्वारा बनाए गये छोटे-छोटे पार्क जुड़े हैं। चारंका पॉवर प्लांट की क्षमता 345 मेगावाट है।

तमिलनाडु का कामुति सौर ऊर्जा पार्क 5 अलग-अलग परियोजनाओं से जुड़ा है। इससे निर्मित बिजली तमिलनाडु जेनरेशन एण्ड डिस्ट्रीब्यूशन कार्पोरेशन को बेची जाएगी। इसके लिए तमिलनाडु सरकार के साथ 25 साल का समझौता किया गया है। जब सौर ऊर्जा परियोजना 2015 में स्थापित की जा रही थी, तभी अदानी ग्रुप ने तमिलनाडु सरकार के साथ इस समझौते पर हस्ताक्षर किये थे।

उम्मीद की जा रही है कि यहाँ बिजली 7.01 रुपये प्रति किलो वाट की दर से बेची जाएगी। हाल ही में हुई सौर ऊर्जा नीलामी की तुलना में यह बड़ा प्रीमियम है। भारतीय प्रॉजेक्ट डेवलपरों ने 4.07 रुपये किलोवाट के अनुसार बोली शुरू की थी।

अदानी समूह ने राजस्थान में भी एक बड़ी सौर ऊर्जा परियोजना स्थापित करने की घोषणा की है। कंपनी ने राजस्थान सरकार के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर भी किया है। 10 गिगावाट क्षमता की के इस पावर पार्क में फोटोवोल्टेक टेक्नोलोजी का उपयोग किया जाएगा। अदानी ग्रीन एनर्जी ने सनएडिसन इंडिया परियोजना के अधिग्रहण में भी रूचि दिखाई है।

- थिंक चेंज इंडिया 

Add to
Shares
2
Comments
Share This
Add to
Shares
2
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest Stories

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें