संस्करणों

ब्लड ग्रुप ओ' तो अॉल इज़ वेल

90 हज़ार लोगों पर 20 साल स्टडी करने के बाद यह नतीजा सामने आया है।

डॉक्ट्रोलॉजी
11th Jan 2017
Add to
Shares
9
Comments
Share This
Add to
Shares
9
Comments
Share

क्या आपका ब्लड ग्रुप ए, बी या एबी है

हार्वर्ड स्कूल अॉफ पब्लिक हेल्थ की स्टडी के मुताबिक ऐसे लोगों को दिल की बीमारी का खतरा ओ ब्लड ग्रुप वालों की तुलना में ज्यादा होता है।

image


एशिया में 40 फीसदी लोग ओ ब्लड ग्रुप के, ए ब्लड ग्रुप के 28 फीसदी, बी ब्लड ग्रुप के 25 फीसदी और एबी ब्लड ग्रुप के 7 फीसदी लोग होते हैं।

यह राहत वाली बात है, कि सबसे ज्यादा लोगों का ब्लड ग्रुप ओ होता है। डॉक्टरों के मुताबिक बेशक ब्लड ग्रुप न बदला जा सके, लेकिन लाइफस्टाइल बदल कर दिल की बीमारी का खतरा टाला जा सकता है। 

90 हज़ार लोगों पर 20 साल स्टडी करने के बाद यह नतीजा सामने आया है। इस दौरान 4070 लोगों को दिल की बीमारी हुई, हालांकि सीधे तौर पर ब्लड ग्रुप और दिल की बीमारियों का संबंध पता नहीं लग पाया है, लेकिन अलग-अलग ब्लड ग्रुप का कोलेस्ट्रॉल लेवल अलग होता है। दिल की बीमारियों में ब्लड ग्रुप के अलावा खान-पान, उम्र, लाइस्टाइल और इस बीमारी से जुड़े पारिवारिक इतिहास का भी योगदान होता है।

ए ब्लड ग्रुप के लोगों को 8 फीसदी, बी को 11 और एबी वालों को दिल की बीमारी का 20 फीसदी खतरा ज्यादा होता है, लेकिन इसका यह मतलब बिल्कुल नहीं है, कि ओ ब्लड ग्रुप वाले दिल और लाइफस्टाइल को लेकर लापरवाह हो जायें।

Add to
Shares
9
Comments
Share This
Add to
Shares
9
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest Stories

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें