संस्करणों
विविध

दूधवाले का बेटा हुआ भारतीय क्रिकेट वर्ल्डकप टीम में शामिल

30th Dec 2017
Add to
Shares
985
Comments
Share This
Add to
Shares
985
Comments
Share

भारत के अधिकांश सफल व्यक्तियों के पीछे एक प्रेरक कहानी है। इसी कड़ी में नया नाम है पंकज यादव का...

पिता के साथ पंकज

पिता के साथ पंकज


पंकज का भारत के 15 सदस्यीय अंडर-19 विश्व कप टीम में चयन किया गया है। वो झारखंड से हैं और एमएस धोनी को अपना प्रेरणास्रोत मानते हैं।

झारखंड के नक्सल प्रभावित पलामू जिले के पनकी गांव के रहने वाले पंकज यादव एक ग्वाले और अंशकालिक भोजपुरी भजन गायक चंद्रदेव यादव और मंजू देवी के पुत्र हैं। 

हर सफल इंसान अपने साथ चांदी का चम्मच लेकर पैदा नहीं होता है। पूर्व राष्ट्रपति स्वर्गीय एपीजे अब्दुल कलाम एक मछुआरे के बेटे थे, कैप्टन कूल एमएस धोनी एक पूर्व प्लंबर के बेटे हैं, भारतीय तीरंदाजी चैंपियन दीपिका कुमारी एक ऑटो रिक्शा चालक की बेटी हैं। भारत के अधिकांश सफल व्यक्तियों के पीछे एक प्रेरक कहानी है। इसी कड़ी में नया नाम है पंकज यादव का। पंकज का भारत के 15 सदस्यीय अंडर-19 विश्व कप टीम में चयन किया गया है। वो झारखंड से हैं और एमएस धोनी को अपना प्रेरणास्रोत मानते हैं।

झारखंड के नक्सल प्रभावित पलामू जिले के पनकी गांव के रहने वाले पंकज यादव एक ग्वाले और अंशकालिक भोजपुरी भजन गायक चंद्रदेव यादव और मंजू देवी के पुत्र हैं। 16 वर्षीय पंकज एक राइट हैंड स्पिनर हैं। उन्हें रांची क्लब बीएयू ब्लास्टर्स कोच ने प्रशिक्षित किया है। पंकज धोनी और महान ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर शेन वॉर्न की पूजा करते हैं। उनके पिता चंद्रदेव यादव भी चाहते हैं कि पंकज, धोनी जैसे बड़े स्तर पर चमकाए।

उनके अनुसार, पंकज हमेशा क्रिकेट के प्रति भावुक थे और हमारा परिवार उन्हें अकादमी में श्रेष्ठ बनाना चाहता था लेकिन मैं नहीं जानता था कि एक गरीब के घर ऐसा होनहार क्रिकेटर जन्म लेगा। कल तक स्कूल से भाग कर क्रिकेट ग्राउंड में अक्सर पहुंचने की खबर मिलने पर मैं अपने बेटे पंकज को मार-पीट भी किया करता था। मेरे बेटे के जुनून ने और क्रिकेट के प्रति उसकी लगन ने आज हमे पहचान दिला दी है।

यादव ने एक बार कुछ गायों को बेच दिया ताकि पंकज क्रिकेट किट खरीद सके। वे कहते हैं कि ऐसा करने के उनके निर्णय को सही साबित कर दिया गया है। पंकज की मां और दो बहनों प्रियंका और प्रतिभा भी उनके चयन से खुश हैं। पंकज की प्रतिभा सबसे पहले 2014 में सबके सामने आई थी जब उन्होंने राज्य स्तर के अंडर -14 क्रिकेट टूर्नामेंट में रांची जिले का प्रतिनिधित्व किया था। इसके बाद उन्होंने अंडर -14 क्रिकेट टूर्नामेंट में झारखंड का प्रतिनिधित्व किया और बाद में राज्य अंडर -16 टीम में चयन हो गया।

साभार: ट्विटर

साभार: ट्विटर


पंकज की बड़ी बहन प्रियंका का विवाह अप्रैल 2018 में होगा और युवा क्रिकेटर को भारत अंडर -19 क्रिकेट विश्व कप टीम में अपने चयन के बाद आर्थिक रूप से अपने परिवार की मदद करने की उम्मीद है। छोटी बहन प्रतिभा रांची के ऊपरी बाजार क्षेत्र में एक स्कूल में एक छात्र कक्षा -11 है। पंकज ने एक तेज गेंदबाज के तौर पर क्रिकेट खेलना शुरू किया था। पंकज की मुलाकात रांची में क्रिकेट एकेडमी चलाने वाले जेएन झा से हुई। इसके बाद उसके कोच जेएन झा ने पंकज को सलाह दी कि उन्हें स्पिन गेंदबाजी करनी चाहिए। उन्होंने अपने कोच की बात मानी और आज वो भारतीय अंडर 19 विश्व कप टीम का हिस्सा हैं।

14 जनवरी, 2018 को ऑस्ट्रेलिया अंडर -19 के खिलाफ अपना पहला मैच खेलना चाहते हैं। अंडर -19 क्रिकेट विश्व कप न्यूजीलैंड में आयोजित किया जा रहा है जिसमें 16 टीमें भाग लेती हैं। टूर्नामेंट 13 जनवरी से शुरू होगा और फाइनल 3 फरवरी, 2018 के लिए निर्धारित है। भारत और ऑस्ट्रेलिया ने तीन बार ट्रॉफी जीती है, जोकि टूर्नामेंट में किसी भी देश की सबसे ज्यादा है।

ये भी पढ़ें: पढ़ाई पूरी करने के लिए ठेले पर चाय बेचने वाली आरती

Add to
Shares
985
Comments
Share This
Add to
Shares
985
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags