संस्करणों

पहले अस्पतालों की सही जानकारी लें 'PSTakeCare'से, फिर इलाज कराएं...

3 डी लिस्टिंग के उपयोग PSTakeCare करता है रोगियों और स्वास्थ्य सेवाओं से कनेक्ट

7th Dec 2016
Add to
Shares
26
Comments
Share This
Add to
Shares
26
Comments
Share

कई डॉक्टर और अस्पताल बहुत सी चीजों पर ध्यान नही देते हैं| जिससे कागजी काम नहीं होता, रोगियों के लिए उचित सेवाएँ नही होती और मूल्य निर्धारण पर भ्रम की स्थिति होती है....... भारत के स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में आपका स्वागत है| यह क्षेत्र विलय और निवेश के लिए परिपक्व है| भारतीय स्वास्थ्य उद्योग का आकार 2017 तक 160 अरब अमेरिकी डॉलर होने की उम्मीद है| हालांकि हम में से अधिकतर उपयुक्त डॉक्टरों, अस्पतालों या उपचार जानने के लिए परिवार और दोस्तों से सलाह लेते हैं|

image


PSTakeCare का उद्देश्य 3 डी लिस्टिंग एप्रोच डॉक्टरों को जोड़ने, अस्पतालों और सेवाओं के माध्यम से रोगियों की मदद कर उस प्रवृत्ति को बदलना है| उदाहरण के लिए, इच्छुक मरीज जो मोतियाबिंद सर्जरी कराना चाहता है| वह PSTakeCare की मदद से सबसे अच्छा सर्जन और सबसे अच्छे अस्पताल का निश्चित कीमत पर पता कर सकता है|

उद्यम के बारे में और अधिक जानकारी

PSTakeCare उन मरीजों की मदद करता है जो स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं को खोजते हैं| मोतियाबिंद सर्जरी कराने के इच्छुक मरीज वहीं डॉक्टरों और अस्पतालों को चाहते हैं जो मोतियाबिंद सर्जरी के विशेषज्ञ हैं| एक डॉक्टर कई अस्पतालों का दौरा कर सकता है और अस्पताल में डॉक्टरों की निश्चित क्षेत्र में विशेषज्ञता हो सकती है| PSTakeCare का ध्यान इस बातोँ में रहता है ना कि विशेष डॉक्टर या अस्पताल पर| इन्ही कारणों से वह दूसरों से ख़ास है| यह मंच निकटता, प्रत्यायन, पुरस्कार, चिकित्सा और गैर चिकित्सा सुविधाओं के प्रकार और पैनल जैसे मापदंडों का उपयोग करता है जिससे सबसे छोटे क्लिनिक और सबसे बड़े अस्पताल की एक ही लेंस से जांच की जाती है|

अवधारणा से स्टार्टअप तक

कंपनी प्रतीक चिंचोले (उत्पाद विकास और रणनीति), शिरीन शिंदे (व्यापार विकास और संचालन), अनूप राज और राहिल मोमिन (प्रौद्योगिकी और डिजाइन) द्वारा स्थापित की गयी| जहां शिरीन इंस्टिट्यूट ऑफ़ केमिकल टेक्नोलॉजी मुंबई से स्नातक हैं जबकि बाकी आईआईटी मुंबई से हैं| प्रतीक स्वास्थ्य बीमा क्षेत्र में लगन के साथ केपीएमजी के साथ काम कर रहे थे| उस दौरान वह अपने भाई के एपेंडिक्स सर्जरी के लिए डॉक्टरों को तलाश रहे थे| जानने पर प्रतिक को एहसास हुआ कि प्रत्येक अस्पताल एक ही इलाज के लिए अलग राशि का हवाला दे रही हैं| परिवार को उपयुक्त सर्जन मिलाने के बाद भी अस्पतालों ने एक ही प्रक्रिया के लिए मानक कीमतों की पेशकश नहीं की| उन्हें एहसास हुआ कि अधिकांश रोगी उपचार जानते थे लेकिन वे इसके सही तरीके की संभावना के उलझन में थे|

image


प्रतीक ने नवंबर 2014 में केपीएमजी में अपनी नौकरी छोड़ दी| इसी दौरान, शिरीन ने भी एक उच्च गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा के निर्माण करने के विचार का पता लगाने के लिए लोरियल में अपनी नौकरी छोड़ दी| राहिल और आईआईटी में प्रतीक के जूनियर रहे अनूप को भी विचार पसंद आया और जनवरी 2015 में कंपनी में शामिल हो गए| PSTakeCare का बीटा संस्करण इस साल अप्रैल में शुरू किया गया जो 65 से अधिक अस्पतालों और 130 से अधिक डॉक्टरों को पवई (मुंबई) में कवर करता है|

वर्तमान में, टीम का ऑफिस भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मुंबई के सामने है| जिसमे 11 सदस्य कार्य करते हैं|

शुरू में, डॉक्टरों के अत्यंत व्यस्त होने के कारण, डेटा एकत्र करना एक चुनौती थी लेकिन एक मजबूत टीम के निर्माण, स्वचालित डेटा संग्रह और सही डॉक्टरों के चुनाव से प्रक्रिया में मदद मिली|

ग्राहकों और डॉक्टरों के बीच में, मरीज के निर्णय लेने के महत्वपूर्ण कारणों पर बहुत से सर्वे कियें| रेफरेन्सेस सबसे महत्वपूर्ण मानदंड हैं| सुविधा के अनुसार मंच पर समीक्षा की गयी| जिससे मरीज आंकड़ों के माध्यम से सिफ्टिंग के समय पढ़ सकते हैं| अब रूपरेख बन गयी है केवल अन्य शहरों के लिए डेटा संग्रह की जरूरत है|

वतर्मान और भविष्य

वर्तमान में, टीम शहर भर में क्षेत्रीय मार्केटिंग अभियानों के संचालन में व्यस्त है| उन्होंने उल्लेख किया है कि अब तक प्रतिक्रिया सकारात्मक रही है और वे इसके जारी रहने की उम्मीद करते हैं|

वेबसाइट शुरू करने के बाद इसे लगभग 8,000 लोगों द्वारा देखा गया है और यह संख्या बढ़ती जा रही है| इस साइट के माध्यम से अपॉइंटमेंट्स बुक करने पर नि: शुल्क पिक-अप प्राप्त कर सकते हैं| टीम का विश्वास है कि इस मंच का उपयोग करके रोगी बेहतरढंग से निर्णय लेने के लिए सक्षम हो जाएगा| विशेष रूप से सेवा केंद्रित होने के लिए बनाया गया है| PSTakeCare को अगले 4 से 5 महीने में पूरी मुंबई को सेवा प्रदान करने की उम्मीद है और उसके बाद अन्य शहरों में विस्तार करेगा|

Add to
Shares
26
Comments
Share This
Add to
Shares
26
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags