संस्करणों

इन्फोसिस ने वेतन में किया संशोधन

यह संशोधन सीएफओ, सीओओ और अन्य कार्यकारियों के वेतन में किया गया है।

14th Oct 2016
Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share

देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इन्फोसिस ने आज अपने शीर्ष अधिकारियों के वेतन पैकेज में संशोधन किया है। इनमें मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) यू बी प्रवीण राव तथा मुख्य वित्त अधिकारी (सीएफओ) एम डी रंगनाथ भी शामिल हैं। इसके अलावा कंपनी ने सूर्या साफ्टवेयर सिस्टम्स के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) डी एन प्रह्लाद को कंपनी के निदेशक मंडल में स्वतंत्र निदेशक के रूप में शामिल किया है। उनकी नियुक्ति 14 अक्तूबर से प्रभावी है।

image


इन्फोसिस ने कहा, ‘‘कंपनी के निदेशक मंडल ने प्रवीण राव के सालाना वेतन पैकेज में 1 नवंबर, 2016 से संशोधन की मंजूरी दे दी है। इसके लिए शेयरधारकों की अनुमति ली जाएगी। राव के वेतन पैकेज में 4.62 करोड़ रुपये का निश्चित वेतन तथा 3.88 करोड़ रुपये का वैरिएबल भुगतान शामिल है।’’ इसके अलावा वित्त वर्ष 2015-16 के प्रदर्शन के आधार पर राव को 27,250 रेस्ट्रिक्टेड शेयर यूनिट्स (आरएसयू) तथा 43,000 शेयर विकल्प मिलेंगे। अन्य लोगों में रंगनाथ के साथ कंपनी ने मोहित जोशी (वित्तीय सेवाओं के प्रमुख), संदीप डडलानी (अमेरिकाज के प्रमुख), राजेश के मूर्ति (यूरोप प्रमुख), रविकुमार एस (मुख्य डिलिवरी अधिकारी) डेविड केनेडी (मुख्य अनुपालन अधिकारी), कृष्णमूर्ति शंकर (मानव संसाधन विकास के समूह प्रमुख) और मणिकांता एजीएस (कंपनी सचिव) के वेतन पैकेज में भी 1 नवंबर, 2016 से संशोधन किया है।

इन्फोसिस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विशाल सिक्का ने कहा, ‘‘हमें अनिश्चित बाहरी वातावरण का सामना करना पड़ रहा है। इसके बावजूद हमारा ध्यान अपनी रणनीति के क्रियान्वयन तथा अपने साफ्टेवयर सेवा माडल की रफ्तार बढ़ाने पर है। चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही के अपने प्रदर्शन तथा निकट भविष्य के अनिश्चित कारोबारी परिदृश्य के मद्देनजर हम अपनी आमदनी के अनुमान में संशोधन कर रहे हैं।’’ इन्फोसिस के मुख्य वित्त अधिकारी एम डी रंगनाथ ने कहा कि परिचालन दक्षता में और सुधार से तिमाही के दौरान हमारा मार्जिन बढ़ा है। ‘‘परिचालन नकदी का प्रवाह मजबूत रहा है और हेजिंग के जरिये हमने प्रभावी तरीके से मुद्रा के उतार-चढ़ाव के असर को कम किया है।’’ बंबई शेयर बाजार में कंपनी का शेयर 2.27 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1,028.20 रपये प्रति शेयर पर कारोबार कर रहा था।

सितंबर तिमाही में कंपनी ने सकल स्तर पर 12,717 लोगों को जोड़ा। शुद्ध स्तर पर कंपनी के कर्मचारियों की संख्या में 2,779 का इजाफा हुआ। इस तरह 30 सितंबर, 2016 तक कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 1.99 लाख पर पहुंच गई। तिमाही के दौरान कंपनी छोड़ने वाले कर्मचारियों की दर 20 प्रतिशत रही। इन्फोसिस ने 11 रुपये प्रति इक्विटी शेयर के अंतरिम लाभांश की भी घोषणा की है।

Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

    Latest Stories

    हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें