संस्करणों

अब नए अभिनेताओं को फिल्मों में ब्रेक के लिए नहीं लगाने पड़ेंगे चक्कर

योरस्टोरी टीम हिन्दी
7th Jan 2016
Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share

फिल्म में काम करने के इच्छुक कलाकारों को अपनी प्रतिभा दिखाने के मौके की तलाश करने के लिए अब मुंबई में काम के लिए चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा क्योंकि एक वेब पोर्टल ने ‘ऑडिशन अवार्ड’ शुरु कर ऐसे कलाकारों को एक मंच देने की पेशकश की है जहां वह तमाम निर्माताओं, निर्देशकों की नजर में आ सकते हैं और उन्हें फिल्मों में काम मिल सकता है।

image


मुंबई में एक वेब पोर्टल ‘बांबे कास्टिंग डॉट कॉम’ की शुरुआत की गई जिसने भारत का पहला ‘ऑडिशन अवार्ड’ शुरु किया है जिसमें कोई भी प्रतियोगी अपने अभिनय की तीन मिनट की रिकार्डिग मोबाइल फोन अथवा कैमरा इत्यादि से शूट कर इस पोर्टल पर ‘अपलोड’ कर सकता है और चुने जाने पर पहले पुरस्कार के विजेता को 11 लाख रुपये, दूसरे विजेता को पांच लाख रुपये और तीसरे विजेता को तीन लाख रुपये का पुरस्कार दिया जायेगा। इसके अलावा विजेता कलाकार को फिल्मों, धारावाहिकों और विज्ञापन फिल्मों में 180 दिन के काम की गारंटी की गई है।

इस वेबसाइट के संस्थापक फिल्म निर्माता सुनील वोरा हैं जो अभी हाल में बनी ‘तनु वेड्स मनु’ ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’, ‘शाहिद’ इत्यादि जैसी अनेक फिल्मों के निर्माता रहे हैं। वेबसाइट के पास ‘आडिशन’ की ‘क्लिपिंग’ को छह जनवरी से 21 जनवरी तक वेबसाईट पर ‘अपलोड’ किया जा सकता है।

इस ‘टेलेन्ट अवार्ड’ के लिए तीन लोगों की ‘जूरी’ बनी है जिसमें पान सिंह तोमर फिल्म के लिए प्रसिद्ध निर्देशक तिग्मांशु धूलिया, निर्देशक हंसल मेहता और तनु वेड्स मनु (दोनों भाग) के निर्देशक आनंद एल राय हैं जो प्रतिभागियों में से सर्वश्रेष्ठ कलाकारों का चयन करेंगे।

इस पोर्टल को करन जौहर, राजकुमार हिरानी, रिषी कपूर, सुधीर मिश्रा, सुजय घोष इत्यादि जैसी फिल्म हस्तियों का समर्थन मिला है। वोरा ने बताया, 

यह पोर्टल शुरु करने का विचार गैंग्स ऑफ वासेपुर’ के निर्माण के दौरान मुझे आया जब हमें लगा कि इंडस्ट्री में वही समान चेहरे हर बार घूम घूम के आते हैं तो क्यों न एक ऐसा मंच शुरु किया जाये जहां देश भर की तमाम प्रतिभाएं बगैर किसी खर्च के अपने प्रतिभा को उजागर कर सकें और फिल्म इंडस्ट्री को भी नये नये चेहरे मिलते रहें। 

इस पोर्टल के जरिये बंबई स्थित कोई भी निर्देशक अथवा निर्माता उस कलाकार के पोर्टल पर दिये विवरणों को देखकर उन्हें काम की पेशकश कर सकते हैं। इन विजेताओं को 180 दिनों का काम अनिवार्य रूप से दिया जायेगा जिसके बाद वह अपनी प्रतिभा के जरिये फिल्म उद्योग में खुद को स्थापित करने की कोशिश कर सकते हैं।

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म पान सिंह तोमर के निर्देशक तिग्मांशु ने बताया, 

यह कलाकारों के लिए अच्छी शुरुआत है। किसी नये कलाकार को मुंबई आकर अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए दर दर भटकना नहीं होगा। 

इस वेबसाईट के ‘कास्टिंग हेड’ बृजेश करनवाल ने कहा, न केवल देश में बल्कि विदेशों में भी निर्देशक इस वेबसाइट के जरिये अपने पसंदीदा कलाकारों का चयन कर सकेंगे।

पीटीआई

Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags