संस्करणों
विविध

मार्च के बाद भी रिलायंस जियो मुफ्त

रिलायंस जियो के ग्राहकों की संख्‍या 7.24 करोड़ से ऊपर पहुंची।

20th Feb 2017
Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share

"रिलायंस जियो 4जी के ग्राहकों के लिए यह एक बड़ी खुशखबरी है, कि 31 मार्च तक रियालंय जियो पर इंटरनेट के साथ-साथ वॉयस कॉलिंग पूरी तरह मुफ्त है और साथ ही 31 मार्च के बाद जो नया टैरिफ प्लान रियालंस जियो 4जी लॉन्‍च करने जा रही है, उसमें भी प्लान के मुताबिक, कॉलिंग के लिए किसी प्रकार का कोई चार्ज नहीं होगा। जियो उपभोक्ताओं को केवल इंटरनेट का प्रयोग करने के लिए 100 रुपये का शुल्क देना होगा, जो 3 महीने के लिए वैध होगा यानि 30 जून तक वैध रहेगा। सोर्स की मानें, तो रिलायंस जियो अभी भी लोगों के मनमाफिक योजना पर काम कर रहा है।"

image


"पिछले साल 5 सितंबर को लॉन्च हुए रिलायंस इन्फोकॉम की टेलिकॉम सर्विस जियो का सब्सक्राइबर बेस 7.24 करोड़ हो गया है। फ्री कॉलिंग और डाटा सर्विस की बदौलत कंपनी से कई सारे नए ग्राहक जुड़ रहे हैं। पिछले महीने एक रिपोर्ट में दावा किया गया था, कि मार्च के अंत तक रिलायंस जियो के पास 10 करोड़ ग्राहक होंगे।"

माना जा रहा है, कि कंपनी की असली परीक्षा 31 मार्च के बाद शुरू होगी। हो सकता है कि 31 मार्च से कुछ समय पहले काफी ग्राहक जियो के सिम बंद कर दें। लोगों को मुफ्त का इंटरनेट और कॉलिंग अभी मिल रही है। कहा तो यह भी जा रहा है कि जैसे ही कंपनी अपनी सेवाओं के लिए पैसे लेना शुरू करेगी, ग्राहकों की संख्या कम भी होगी। अभी कंपनी की डाटा और वॉयस कॉल सहित सारी सेवाएं मार्च 2017 तक मुफ्त हैं।

गौरतलब है, कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी ने सितंबर 2016 में अपनी मोबाइल सर्विस लांच की थी। तब कंपनी ने 31 दिसंबर तक फ्री कॉलिंग और डाटा सर्विस देने का ऐलान किया था। इसके बाद कंपनी ने 2017 के लिए हैप्पी न्यू ईयर प्लान लांच किया था जिसमें कॉलिंग अनलिमिटेड है, पर फ्री डाटा की लिमिट को प्रतिदिन के लिए 1 जीबी कर दिया था। रिलायंस की मुफ्त सेवा से बाजार की अन्य कंपनियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। उन सभी को अपने डाटा चार्ज से लेकर कॉलिंग चार्ज कम करने पड़े। सभी को नया प्लान बनाना पड़ा, साथ ही सभी कंपनियों के नेटवर्क पर रिलायंस के नेटवर्क से आने वाली कॉल्स पर कॉल ड्रॉप की समस्या आने लगी। इसकी शिकायत हुई और ट्राई ने अन्य कंपनियों को चेतावनी भी दी। इसके अलावा अन्य कंपनियां भी ट्राई में गई और रिलायंस की शिकायत की। सभी को रिलायंस के न्यू ईयर प्लान पर भी आपत्ति थी जिस पर ट्राई ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि इसमें कोई दिक्कत नहीं है।

"अभी कुछ दिन पहले वित्तीय सेवा व शोध फर्म क्रेडिट सुइस इक्विटी रिसर्च ने विभिन्न शहरों में डेटा नेटवर्क (मोबाइल इंटरनेट) सर्वेक्षण के आधार पर एक रिपोर्ट में कहा था, कि नेटवर्क कवरेज के लिहाज से रिलायंस जियो अन्य कंपनियों से काफी आगे है। फर्म ने 30 से अधिक शहरों में इस बारे में कराए गये अध्ययन के आधार पर तैयार रिपोर्ट में निष्कर्ष निकाला है, कि सर्वे में शामिल 80 प्रतिशत शहरों में जियो की नेटवर्क कवरेज अच्छी है, जबकि अन्य कंपनियों का नेटवर्क कवरेज केवल 30 प्रतिशत शहरों में ही बेहतर श्रेणी में शामिल है।"

उधर दूसरी तरफ कुछ दिन पहले ही फर्म ने सभी प्रमुख राज्यों की राजधानियों सहित अन्य मुख्य शहरों को इस अध्ययन में शामिल करते हुए नेटवर्क कवरेज व स्पीड का आकलन किया था। अध्ययन में निष्कर्ष निकाला गया था, कि जियो की दूरसंचार सेवाओं का असर मौजूदा कंपनियों पर नजर आ रहा है और इन कंपनियों को दौड़ में बने रहने के लिए विशेषकर 4जी खंड में काफी कुछ करना होगा। उसके अनुसार 4जी में डाउनलोड स्पीड के लिहाज से आमतौर पर एयरटेल के साथ आगे है। वहीं वोडाफोन, आइडिया व जियो लगभग एक ही दायरे में है। साथ ही रिपोर्ट में यह भी कहा गया था, कि इस समय देश में कुल डेटा ट्रेफिक में से 90 प्रतिशत से ज्यादा डेटा जियो के नेटवर्क के जरिए जा रहा है।

Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest Stories

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें