संस्करणों
प्रेरणा

'I-infinity' है तो सबकुछ झींगालाला

मुंबई की लोकल को चमका डाला

Sahil
11th Jun 2015
Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share

डिजिटल साइनेज के उस्ताद I-infinity की कहानी...

यह कहानी उस ‘Startup Spotlight’ सीरीज़ का हिस्सा है, जहां हमें .com/.net डॉमेन द्वारा संचालित प्रेरणादायी कहानियां मिलती हैं। इस सीरीज को Verisign ने प्रायोजित किया है। YourStory का इन पोस्ट्स पर पूरा संपादकीय नियंत्रण होता है।

.com and .net के आधारभूत ऑपरेटर होने के नाते, Verisign दुनिया को पूरे भरोसे और आत्मविश्वास के साथ ऑनलाइन से जुड़ने का मौका देता है।

विज्ञापन सर्वव्यापी है और तकनीक के आने से, ये अब डिजिटल की ओर भी बढ़ रहा है। ये बेहद सामान्य है कि ओओएच यानी आउट ऑफ होम विज्ञापन भी अब डिजिटल की ओर बढ़ रहा है। भारत में इसका एक बड़ा उदाहरण है मुंबई की लोकल ट्रेनों में डिजिटल साइनेज यानी निर्देशक का।

फॉर्च्यून क्रिएटिव मीडिया (एफसीएम) ने जब मुंबई में ओओएच नेटवर्क के लॉन्च का फैसला किया था, तब वो काफी आश्वस्त थे कि उन्हें इस काम में एक सही तकनीकी साझेदार जरूर मिलेगा जो उन्हें डिजिटल साइनेज सॉल्यूशन मुहैया कराएगा और उन्हें नियमित अपडेट करने की इजाजत देने के साथ-साथ लोकल में सफर करने वालों के लिए रोचक कंटेंट भी देगा।

आई-इनफिनिटी मुंबई स्थित एक कंपनी है जो डिजिटल साइनेज और होम ऑटोमेशन में विशेषज्ञ है। आई-इनफिनिटी ने मुंबई में 10 लोकल ट्रेनों में सफलतापूर्वक लागू कर दिया है और अब इस परियोजना को आगे बढ़ाया जा रहा है (सरकार में बदलाव से थोड़ा समय और बढ़ गया है)। आई-इनफिनिटी के कुछ और भी बड़े क्लाइंट हैं, जैसे स्बैरो (अमेरिका की पिज्जा चेन), वीर एडवर्टाइजिंग (मुंबई की मीडिया कंपनी), एंडेक्स ऑटोमोशन इत्यादि।

कंपनी की स्थापना राकेश गलाव ने किया, जिनके पास अंतर्राष्ट्रीय संचार और सूचना तकनीक उद्योग में 17 साल से भी ज्यादा का अनुभव है। राकेश गलाव के पास तुर्की, फिलिपिंस, ताइवान, कोरिया और चीन जैसे देशों में काम करने का अंतर्राष्ट्रीय अनुभव है। कंपनी की कोर टीम बनाने वाले पियूष वर्मा और सुरेश चौधरी भी काफी अनुभवी हैं। सूचना-तकनीक और वित्त क्षेत्र में दोनों का अनुभव 30 साल से ज्यादा का है। आई-इनफिनिटी का मुख्यालय नवी मुंबई में होने के साथ लखनऊ, अटलांटा और ताइपेई में भी कंपनी की मौजूदगी है।

राकेश का कहना है, ‘हमारे पास एमबेडेड प्रोडक्ट डेवलपमेंट, एप्लिकेशंस और डाटाबेस में विशेषज्ञता हासिल है। लोकल ट्रेनों में डिजिटल साइनेज को लागू करना काफी मुश्किल था, लेकिन हम इसमें कामयाब सिर्फ इसलिए हो सके क्योंकि हमारी टीम अच्छी है।’

राकेश गलाव

राकेश गलाव


डिजिटल साइनेज असल में क्या होता है? यह मॉल्स, होटलों, अस्पतालों, हवाई अड्डों जैसे सार्वजनिक स्थलों पर इलेक्ट्रॉनिक डिस्प्ले डिवाइस पर विज्ञापन दिखाने, सूचना देने या खबर दिखाने का एक जरिया है। आई-इनफिनिटी दुनिया का सबसे छोटा और स्मार्ट साइनेज – मैजिक बॉक्स का दावा करती है। राकेश ने बताया, ‘हमारे पास जो उपाय है वो काफी अच्छा और हल्का है और दूसरे प्रतियोगियों के सॉल्यूशन से बेहतर प्रदर्शन भी देता है।’ राकेश ने बताया कि उनकी वेबसाइट का एड्रेस i-infinity.net है और अब वो च्वाइस ऑफ डॉमेन पर बात कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि .com उनकी पहली पसंद थी लेकिन ये उपलब्ध नहीं था, इसलिए उन्हें .net लेना पड़ा। इसके साथ ही ये नेटवर्क आधारित डिजिटल साइनेज की सेवा प्रदान करते हैं और .net उस कन्सेप्ट के साथ भी ठीक-ठीक जाता है।

कंपनी अब तक खुद की मदद कर रही थी और आई-इनफिनिटी ने होम ऑटोमेशन में विशेषज्ञता हासिल कर ली है। इन लोगों ने XLIT जैसा एक स्मार्ट डिवाइस तैयार किया है जो यूजर को लाइट, घर के उपकरणों को स्मार्टफोन्स से नियंत्रित करने में मदद करता है। आई-इनफिनिटी अब अपने इस प्रोडक्ट को लेक आगे बढ़ रही है और अब वो होम ऑटोमेशन पर ध्यान केंद्रित करने के लिए फंड इकट्ठा करने की तैयारी कर रही है। आई-इनफिनिटी तेजी से आगे बढ़ रही है और ये बाजार में जरूर अपनी जगह बनाने में कामयाब होगी।

Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags