संस्करणों
प्रेरणा

सेंसुअल लिंजरी बोले तो ‘अंडर कवर’

अब झिझक छोड़ भी दीजिए...

Sahil
8th Jul 2015
Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share

भले ही हमने दुनिया को कामसूत्र दिया हो मगर सेक्स के बारे में एक देश के रूप में हम अब भी सकुचाने वाले और अत्यंत गोपनीयता बरतने वाले लोग हैं। हालांकि, ऐसा हो सकता है कि हमें सेंसुअल प्रोडक्ट्स की बहुत ज्यादा ऐडवर्टाइजिंग नहीं दिखाई देती हो लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि वैसे प्रोडक्ट्स की डिमांड ही नहीं है। अगर बाजार के अनुमानों पर यकीन किया जाए तो भारत में कंडोम्स, लुब्रिकैंट्स, इरोटिक लिंगरी, हर्बल प्रोडक्ट्स, अलाइड प्रोडक्ट्स जैसे प्रोडक्ट्स वाले इरोटिका का बाजार 1,200 से 1,500 करोड़ रुपये के बीच में हैं। 2016 में ये बाजार 2,450 करोड़ और 2020 तक 8,700 करोड़ रुपये पहुंचने का अनुमान है।

जहां कहीं भी मौका हैं वहां स्टार्टअप है। भारत में ऑनलाइन लिंजरी के क्षेत्र में Buyundercover.com एक नया नाम है। इस क्षेत्र में पहले से ही जिवामे और प्रेट्टी सेक्रेट्स जैसे नाम मौजूद हैं। यहां हम आपको बता रहे हैं कि Buyundercover.com क्या और कैसे ऑफर करता है। ये बाकियों से अलग कैसे है।

शुरुआत

मोनिका आनंद और सुरेश गुप्ता द्वारा शुरू किये गए अंडर कवर लिंजरी का उद्देश्य अलग-अलग कैटेगरी के प्रोडक्ट्स में इरॉटिक वेराइटी लाना है। मोनिका खुलासा करती हैं कि स्टार्टअप का आइडिया तब आया था जब वो अपने एक नवविवाहित दोस्त के लिए गिफ्ट सर्च कर रहीं थी। मोनिका बताती हैं- “हमें ऐसा कोई भी स्टोर नहीं मिला जहां इस तरह की चीजें मिल सके। सेंसुअस लिंजरी किसी महिला को फील गुड का अहसास कराते हैं और साथ में फन का भी स्रोत होते हैं। मगर हमने महसूस किया कि सेंसुअस लिंजरी के क्षेत्र में डिमांड और सप्लाई के बीच गैप है।” स्टार्टअप के लिए ग्राउंड वर्क नवंबर 2011 में शुरू हुआ और सितंबर 2012 में वेबसाइट लॉन्च हुई।

अंडर कवर लिंजरी बिजनेस को 2015 तक 3 अरब डॉलर तक पहुंचा दिया है। ये 18 फीसदी सीएजीआर (कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट) के साथ विकास कर रहा है। वहीं प्रीमियम सेगमेंट सालाना 22 फीसदी की दर से विकास कर रहा है।

सुरेश गुप्ता और मोनिका आनंद

सुरेश गुप्ता और मोनिका आनंद


मोनिका का कहना है कि उन्होंने खुद की बचत और परिवार से कुछ पैसे उधार लेकर अंडर कवर को शुरू किया था। उनका दावा है कि वो लॉन्च से लेकर अब तक 200 फीसदी ग्रोथ कर चुके हैं।

ये कैसे अलग है?

अंडर कवर जिन भी प्रोडक्ट्स को बेचता है वो सभी उत्तेजक वेराइटी के तहत आते हैं जो खास मौकों को भुनाने के लिए हैं। मोनिका कहती हैं कि उनके वेबसाइट पर जाइए आफको कम से कम 100 प्रोडक्ट मिलेंगे और हर कैटेगरी में औसतन 20 प्रोडक्ट होंगे। इसमें कॉस्ट्यूम्स, बेबी डॉल्स, स्विमवियर,कार्सट्स, सेट्स, पैंटिंज और एसेसरीज शामिल हैं।

सभी क्लॉथ्स को यूरोप और एशिया के दूसरे देशों से आयात किया गया है। मोनिका बताती हैं कि प्रोडक्ट्स को आयात करते समय 4 बातों या मूड का खास ख्याल रखा जाता है- सेंसुअस, बोल्ड, फंतासी और प्लेफुल। मोनिका कहती हैं- “हम जब अपने प्रोडक्ट को मंगाते हैं तो हमारे जेहन में ये बहुत साफ होता है कि ये प्रोडक्ट पहनने वाले को कैसा फील देगा। हम मानते हैं कि ये चारों मूड आज की महिला को डिस्क्राइब करने में मदद करते हैं।” आयात में वो नए कॉन्सेप्ट वाले आइटम्स को तरजीह देती हैं ना कि डिमांड के हिसाब से प्रोडक्ट चुनती हैं।

अंडर कवर तमाम साइज के वेराइटी प्रोडक्ट ऑफर करती है। कस्टमर साइट पर जाकर साइज चार्ट के आधार पर प्रोडक्ट चुन सकता है। किसी भी तरह की दिक्कत की स्थिति में प्रोडक्ट को बदलने के लिए कस्टमर को प्रोडक्ट रिसीव करने के 5 दिनों के भीतर अंडर कवर को कॉल करना होता है। उन्हें ज्यादातर ऑर्डर मेट्रो और टियर-2 शहरों से मिलते हैं। मोनिका का दावा है कि वो जहां-जहां भारतीय डाक पहुंच सकता है वहां-वहां वो भी अपने प्रोडक्ट की डिलेवरी कर सकती हैं।

कंपनी मैटर्स

अंडर कवर कस्टमर्स की प्राइवेसी और उनकी जरुरतों का खास ख्याल रखती है। स्टार्टअप की तरफ से ज्यादातर कम्यूनिकेशन भी न्यूजलेटर्स, फेसबुक और ट्विटर के जरिए ऑनलाइन ही होती है। साइट एसईओ और वेब पर डिस्प्ले कैंपेन पर भी भरोसा किया जाता है। अपने साइड्स के अतिरिक्त अंडर कवर के प्रोडक्ट्स दूसरे ऑनलाइन स्टोर्स पर भी उपलब्ध हैं जिनमें jabong.com, shop.inonit.com और prettysecrets.com शामिल हैं।

अंडर कवर लिंजरी के कस्टमर्स में 25 से 40 साल की उम्र वाले महिला-पुरुष दोनों शामिल हैं। उनके साइट का बेस्ट सेलर प्रोडक्ट ये बताने के लिए काफी है कि कस्टमर्स को किस तरह फंतासी पसंद है। अंडर कवर फिलहाल तो लिंजरी बेचने पर ही फोकस कर रही है और अगर वो खुद का प्रोडक्ट लॉन्च भी करती है तो वो ब्रांड की साख के अनुरूप ही होगा। तब भी चारों मूड यानी सेंसुअस, बोल्ड, फंतास और प्लेफुल का खास ख्याल रखा जाएगा। मोनिका बताती हैं कि उनके लिए नए प्रोडक्ट्स की लॉन्चिंग का आधार कस्टमर फीडबैक है जिसे सही-सही पाने के लिए 7 लोगों की टीम कड़ी मेहनत करती है।

मोनिका को यकीन है कि लोग जिस तरीके से लिंजरी खरीद रहे हैं उसे देखते हुए इस क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव आ रहा है। जिस गति से इंटरनेट और मीडिया पेनिट्रेशन बढ़ रहा है उसी गति से इरोटिक लिंजरी का बाजार भी बढ़ रहा है। भारत में लोग ग्लोबल सोसाइटी को लेकर बढ़ते एक्सपोजर की वजह से एडवेंचर को ज्यादा पसंद कर रहे हैं। लोग कुछ नया एक्सपेरिमेंट करना चाहते हैं। अंडर कवर जैसी कंपनियों के लिए ये एक बेहतरीन मौका है। मोनिका का दावा है- “लोग जागरूक हैं। सेंसुअल लिंजरी को ना सिर्फ मंजूरी मिल रही है बल्कि ये तो अब लोगों की रोजमर्रा की ज़िंदगी का हिस्सा बन चुकी हैं। हर महीने हम बड़ी तादाद में कस्टमर पा रहे हैं, जिनमें कई तो रिपीट कस्टमर हैं।”

अंडर कवर तेजी से विकास की राह पर दौड़ रही है। ग्राहकों में इसकी लोकप्रियता इतनी है कि सेंसुअस लिंजरी का नाम लेते ही जेहन में सबसे पहले अंडर कवर का ही नाम आता है।

Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest Stories

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें