संस्करणों
विविध

रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी: अब पहले टिकट कराएं और बाद में दें पैसे

जो लोग रेलवे के साथ धोखा करने की कोशिश करेंगे वे रेलवे की ब्लैक लिस्ट में आ जाएंगे और उनका क्रेडिट स्कोर भी कम हो जाएगा। इससे वे बाद में कोई दूसरी टिकट नहीं बुक कर पाएंगे।

1st Jun 2017
Add to
Shares
268
Comments
Share This
Add to
Shares
268
Comments
Share

रेलवे से सफर करने वालों के लिए IRCTC ने एक नए तोहफे की घोषणा की है। नई घोषणा के मुताबिक अब रेलवे से टिकट भी उधार खरीद सकेंगे, और पेमेंट बाद में करनी होगी। 

<h2 style=

फोटो साभार: shareyouressaysa12bc34de56fgmedium"/>

जल्द ही आपको IRCTC के जरिए रेलवे टिकट बुकिंग कराते वक्त पे लेटर यानि बाद में पेमेंट करने का ऑप्शन मिलेगा। इसके तहत टिकट का पैसा चुकाने के लिए 14 दिन का समय मिलेगा।

IRCTC का नया फीचर पेमेंट वेबसाइट ePaylater की मदद से शुरू हो रहा है। जिसकी मदद से पहले टिकिट करायें, फिर पैसा दें। इस सेवा का फायदा उठाने के लिए आपको अपने पैन और आधार की जानकारी शेयर करनी होगी। इस सुविधा के शुरू होने के बाद लोगों को पमेंट प्रोसेस से काफी राहत मिल सकती है। अधिकतर लोगों को रेलवे के पेमेंट सिस्टम से शिकायत रहती थी।

ePaylater आज खरीदो, बाद में चुकाओ के कॉन्सेप्ट पर काम करने वाली पेमेंट सॉल्यूशन सर्विस है। वेबसाइट ऑनलाइन खरीद के पेमेंट के लिए 14 दिन का क्रेडिट टर्म देती है। ePaylater के मुताबिक, ये सर्विस उपयुक्त कस्टमर्स के लिए होगी जो बिना किसी झंझट के टिकट बुकिंग कर सकेंगे।

कंपनी के मुताबिक उनका टार्गेट है कि अगले 6 महीने में हर दिन होने वाले 6 लाख ट्रांजेक्शन में से 5 फीसदी उनके प्लेटफॉर्म से हो। कंपनी ने यह भी कहा कि इसलिए यूजर्स को आधार कार्ड और पैन कार्ड डिटेल जैसी बेसिक जानकारी देनी होगी। पेमेंट के लिए यूजर्स को 'वन टाइम पासवर्ड' का इस्तेमाल करना होगा।

जो लोग रेलवे के साथ धोखा करने की कोशिश करेंगे वे रेलवे की ब्लैक लिस्ट में आ जाएंगे और उनका क्रेडिट स्कोर भी कम हो जाएगा। इससे वे बाद में कोई दूसरी टिकट नहीं बुक कर पाएंगे। मतलब टिकट देने से पहले रेलवे आपका क्रेडिट स्कोर चेक करेगा उसके बाद ही टिकट जारी करेगा। इसलिए यात्रा से कम से कम 5 दिन पहले टिकट बुक कराने का भी प्रावधान रखा गया है।

स्टार्टअप ePaylater दिसंबर 2015 को मुंबई में की शुरुआत हुई थी कंपनी फिलहाल एनईएफटी के जरिए पेमेंट लेती है। ePaylater के को-फाउंडर और हेड ऑफ बिज़नेस डेवलेपमेंट, अक्षत सक्सेना ने कहा, 'irctc पर नए 'बाय नाउ पे लेटर' फीचर के लिए किसी ग्राहक की योग्यता के लिए उसके पुराने ट्रांजैक्शन और दूसरी चीजों के बारे में जानकारी देनी होगी।'

साथ ही अक्षत ने ये भी कहा, 'हमें उम्मीद है कि IRCTC के साथ हामारी ये साझेदारी बड़े पैमाने पर देश के फाइनेंशल स्टेटस को मजबूत करेगी और ग्राहकों का काम भी आसान करेगी। इससे हम ये उम्मीद लगा रहे हैं कि ई-टिकिटिंग सरकार के डिजिटल इंडिया अभियान के तहत डिजिटल पेमेंट में भी बढ़ोत्तरी होगी।' 

ePaylater के एक और को-फाउंडर ऑरको भट्टाचार्य ने कहा, 'हमारे 85 फीसदी कस्टमर बार-बार हमारे प्लेटफॉर्म से पेमेंट करते हैं क्योंकि हमारा प्लेटफॉर्म काफी सुविधाजनक पेमेंट ऑप्शन मुहैया कराता है। हम किसी थर्ड पार्टी को पेमेंट गेटवे में नहीं लाते हैं और ग्राहक सीधे पेमेंट कर लेते हैं।'

Add to
Shares
268
Comments
Share This
Add to
Shares
268
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags