भारतीय स्टार्टअप परिवेश को 2030 तक वैश्विक स्तर पर शीर्ष तीन में शामिल करने का लक्ष्य: एडीआईएफ

डिजिटल स्टार्टअप थिंकटैंक एडीआईएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि संस्था ने भारतीय स्टार्टअप परिवेश को 2030 तक वैश्विक स्तर पर शीर्ष तीन में शामिल करने के लिए एक योजना तैयार की है।
0 CLAPS
0

"एलायंस ऑफ डिजिटल इंडिया फाउंडेशन (एडीआईएफ) के कार्यकारी निदेशक सिजो कुरुविला जॉर्ज ने पीटीआई-भाषा को बताया कि स्टार्टअप को गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर के साथ जिन मुद्दों का सामना करना पड़ता है, उस पर बातचीत करके दोनों पक्षों के लिए उपयुक्त रास्ते का पता लगाया जा सकता है।"

नयी दिल्ली: डिजिटल स्टार्टअप थिंकटैंक एडीआईएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को कहा कि संस्था ने भारतीय स्टार्टअप परिवेश को 2030 तक वैश्विक स्तर पर शीर्ष तीन में शामिल करने के लिए एक योजना तैयार की है। इसके लिए ज्ञान का आधार बढ़ाने, सहयोग में वृद्धि और सही नीतिगत ढांचे की स्थापना पर जोर दिया जाएगा। 

एलायंस ऑफ डिजिटल इंडिया फाउंडेशन (एडीआईएफ) के कार्यकारी निदेशक सिजो कुरुविला जॉर्ज ने पीटीआई-भाषा को बताया कि स्टार्टअप को गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर के साथ जिन मुद्दों का सामना करना पड़ता है, उस पर बातचीत करके दोनों पक्षों के लिए उपयुक्त रास्ते का पता लगाया जा सकता है। 

उन्होंने कहा,

‘‘अब हम वैश्विक स्तर पर तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप बाजार हैं और हमारे यहां 50 यूनिकॉर्न स्टार्टअप हैं। हम सिर्फ अमेरिका (122) और चीन (92) से पीछे हैं। हम आकार के मामले में तीसरे सबसे बड़े हैं, लेकिन भारतीय स्टार्टअप परिवेश रैंकिंग के मामले में 20वें स्थान पर है।’’ 

जार्ज ने कहा,

‘‘अगर हम आकार में तीसरे सबसे बड़े हैं, तो हमें रैंकिंग के मामले में भी कम से कम तीसरे स्थान पर रहने का लक्ष्य तय करना चाहिए। हमारा लक्ष्य भारतीय स्टार्टअप परिवेश को वर्ष 2030 तक विश्व स्तर पर शीर्ष तीन में लाना है।’’ 

उन्होंने कहा कि एडीआईएफ आने वाले दिनों में एक गठबंधन बनाने पर विचार करेगा, जहां बहुत सारा ज्ञान साझा किया जा सकता है।

जॉर्ज ने कहा कि एडीआईएफ में हम इस ज्ञान को संकलित करेंगे और इसे अपने युवा उद्यमियों तक पहुंचाएंगे। इसके अलावा स्टार्टअप के अनुकूल नीतियां तैयार करने के लिए पैरोकारी करने पर भी ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

(साभार : PTI)

Latest

Updates from around the world