संस्करणों

उत्तराखंड में ई-जीवन प्रमाण पत्र सेवा की शुरूआत

YS TEAM
15th Jun 2016
Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रदेश के पेंशन धारकों की सुविधा हेतु डिजिटल जीवन प्रमाण सेवा की शुरूआत की जिससे पेंशन धारकों को अब जीवन प्रमाणपत्र बनवाने के लिये भाग दौड़ नहीं करनी पड़ेगी। यह सुविधा पेंशनरों को उनके क्षेत्र में स्थित देवभूमि जन सेवा केन्द्र (सीएससी) से ही प्राप्त हो जायेगी और इससे उनका जीवन प्रमाण डिजिटल रूप में केाषागार में स्वत: ही आनलाइन उपलब्ध हो जायेगा।

यहां जारी एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, मुख्यमंत्री रावत ने इस सुविधा का लाइव प्रस्तुतिकरण देते हुए एक पेशनर से उनकी आधार संख्या व बायोमेट्रिक मशीन पर अंगूठा लेने के बाद बटन दबाकर कोषागार में उनका जीवन प्रमाण प्राप्त करवाया तथा पेंशनर को उसकी आनलाइन प्राप्ति भी दी।

 मुख्यमंत्री ने इस योजना के व्यापक प्रचार-प्रसार पर बल देते हुए कहा कि इस बात के प्रयास किये जाने चाहिये कि यह योजना अगले छह माह में पब्लिक डिमाण्ड के रूप में नजर आये।

यह सुविधा देवभूमि जनसेवा केन्द्र से मात्र 10 रूपये में प्राप्त हो जाएगी। राज्य में इस समय 3000 से भी अधिक देवभूमि जन सेवा केन्द्र स्थापित किये जा चुके है जिसमें से लगभग 2400 केन्द्र अपनी सेवाएं दे रहे है। इन केंद्रों में ई-जीवन प्रमाण सुविधा के साथ 90 सरकारी व गैर सरकारी सेवाएं भी दी जा रही हैं। इस वर्ष सभी ग्राम पंचायतों में देवभूमि जन सेवा केन्द्र प्रारम्भ करने का लक्ष्य रखा गया है। (पीटीआई)

Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags