संस्करणों
विविध

साढ़े तीन हजार करोड़ रुपये का बिजनेस एंपायर संभाल रहीं भारतीय मूल की निशिता शाह

तीसरी पीढ़ी की ऊँची उड़ान भर रही हैं निशिता शाह

जय प्रकाश जय
24th Aug 2018
Add to
Shares
83
Comments
Share This
Add to
Shares
83
Comments
Share

साढ़े तीन हजार करोड़ से ज्‍यादा का बिजनेस एंपायर संभाल रहीं गुजराती मूल की युवती निशिता शाह इस समय रहतीं तो थाईलैंड में हैं लेकिन उनकी अमीरी का डंका पूरी दुनिया में बज रहा है। वह नई पीढ़ी के अरबपतियों की सूची में शुमार होने के साथ ही अपने ग्‍लैमरस लुक के कारण भी चर्चाओं में हैं।

निशिता शाह (फोटो साभार- थाइलैंड ट्रेलर)

निशिता शाह (फोटो साभार- थाइलैंड ट्रेलर)


निशिता ने बोस्टन अमेरिका से बिजनस एडमिनिस्ट्रेशन का कोर्स किया है। उनके पास अपना प्लेन भी है और पायलट का लाइसेंस भी। निशिता के जीपी ग्रुप के बिज़नेस में 44 विशाल शिप हैं। 

'फोर्ब्‍स' मैगजीन के 'नेक्‍स्‍ट जनरेशन बिलेनियर' खिताब से सम्मानित गुजराती मूल की थाई नागरिक निशिता शाह अपने ग्‍लैमरस लुक से चर्चाओं में बने रहने के साथ ही साढ़े तीन हजार करोड़ से ज्‍यादा का बिजनेस एंपायर भी संभाल रही हैं। मशहूर गोल्फर टाइगर वुड्‍स और थाईलैंड के विविधीकृत जीपी ग्रुप की भारतीय मूल की प्रबंध निदेशक निशिता शाह 'फोर्ब्स' की नई पीढ़ी के अरबपतियों की सूची में शुमार हैं। उनका परिवार 37.5 करोड़ डॉलर के नेटवर्थ के साथ थाईलैंड के चालीस सबसे अमीर लोगों में गिना जाता है।

दो साल पहले 'फोर्ब्‍स' की लिस्‍ट के मुताबिक उन अमीरों में एक पांचवीं सबसे अमीर युवती निशिता शाह अभूतपूर्व रूप से सफल मानी जा रही हैं। भविष्य के लिए उनके पास महत्वाकांक्षी योजनाएँ हैं। उनके पिता किरिट शाह की कंपनी जीपी ग्रुप डेढ़ सौ वर्षों शिपिंग का बिजनेस कर रही है। निशिता को 'मोस्‍ट एलिजिबल गुजराती गर्ल' भी कहा जाता है। निशिता एक ओर जहां अपने फैमिली बिजनेस को आगे बढ़ा रही हैं तो दूसरी ओर अपनी तरह की पहली भारतीय महिला मानी जा रही हैं।

निशिता ने बोस्टन अमेरिका से बिजनस एडमिनिस्ट्रेशन का कोर्स किया है। उनके पास अपना प्लेन भी है और पायलट का लाइसेंस भी। निशिता के जीपी ग्रुप के बिज़नेस में 44 विशाल शिप हैं। शाह परिवार मूलत: कच्छ का है। सन् 1868 में यह परिवार मुंबई जा बसा था। इसके बाद 1918 में बैंकॉक में सेटल हो गया। अपने माता-पिता की तीन संतानों में सबसे बड़ी निशिता ही हैं। उनका बैंकाक में अब अपना अच्छा-खासा व्यापार साम्राज्य है। पिता किरीट शाह जीपी ग्रुप के निदेशक हैं। निशिता सन् 2002 से कंपनी के काम-काज में व्यस्त होने लगी थीं। कंपनी में उनका 9.85 करोड़ शेयर है, जो कंपनी की कुल भुगतान पूंजी का 9.48 प्रतिशत बताया जाता है। इसके अलावा निशिता अन्य गैर-सूचीबद्ध कंपनियों में भी निदेशक हैं, जिनमें ग्लोबेक्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड, ग्रेन ट्रेडेड लिमिटेड, यूनिस्ट्रेच लिमिटेड, जीपी एयर सर्विस लिमिटेड आदि उल्लेखनीय हैं।

सन् 1976 में चिमनलाल के एकमात्र पुत्र किरीट शाह तब 22 वर्ष के थे। उनके पिता ने उन्हें भविष्य के सफल बिजनेस मैन का आधार दिया। विज्ञान स्नातक निशिता के पिता किरीट शाह ने 1989 में इस कंपनी ग्रुप की स्थापना की थी। उनका परिवार भारत से बर्मा और फिर कुछ साल बाद वहां से थाईलैंड गया था। निशिता एक लाइसेंस प्राप्त पायलट भी हैं। इसके अलावा वह बर्न बेबी नामक एक कपड़ों की कंपनी की मालकिन भी हैं। 

वह अपना खुद का फैशन लेबल 'नशा' लॉन्च कर चुकी हैं। आज निशिता शाह थाईलैंड के आसमान में तीसरी पीढ़ी की ऊँची उड़ान भर रही हैं। किरीट शाह एवं उनकी पत्नी अंजू का परिवार एक अनुभवी व्यापारी कुटुंब है, जो रणनीतिक विकास के अवसरों का लाभ उठाता रहा है। उनका ग्रुप निजी विमानन में भी शामिल है। किरीट शाह से लगभग दो साल पहले गैमन इंडिया ने लगभग ढाई सौ करोड़ रुपये का एक सौदा किया था।

यह भी पढ़ें: जामिया में पढ़ने वाले इलेक्ट्रीशियन के बेटे को मिला अमेरिका से 70 लाख का ऑफर

Add to
Shares
83
Comments
Share This
Add to
Shares
83
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest Stories

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें