यह भारतीय ऐप्स के चमकने का क्षण है: केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद

"भारत एक ऐसा देश है जहां बहुत सारे ऐप्स डाउनलोड किए जाते हैं, लेकिन अपलोड नहीं," केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी व कानून और न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद
3 CLAPS
0

भारत एक ऐसा देश है जहां बहुत सारे ऐप्स डाउनलोड किए जाते हैं, लेकिन अपलोड नहीं किए जाते, केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी और कानून और न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को YourStory के 'डिजिटल इंडिया' टाउन हॉल में कहा।

केंद्रीय मंत्री ने जोर देकर कहा कि 59 चीनी मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगाने के सरकार के फैसले के बाद भारतीय स्टार्टअप्स के पास होमग्रोन ऐप्स के लिए वैक्यूम भरने का सुनहरा अवसर है।

रविशंकर प्रसाद ने कहा,

"इंडिया में ऐप डाउनलोड बहुत होता, इंडिया में अपलोड नहीं होता लेकिन मुझे विश्वास है कि भारतीय स्टार्टअप इसे कर सकते हैं। हमारे पास क्षमता है और मैं स्टार्टअप से ऐसा करने की अपील करता हूं।"

YourStory के डिजिटल इंडिया टाउन हॉल में टेक आंत्रप्रेन्योर्स के साथ बातचीत करते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद


भारतीय टेक स्टार्टअप्स, जो सोमवार से जुबली बने हुए हैं, ने कहा कि चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध ने 'स्वदेशी' ऐप के लिए एक नया चरण चिह्नित किया है, और यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'आत्मनिर्भर' भारत के आह्वान के अनुरूप था।

ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच सीमा पर हालिया झड़पों और कई महत्वपूर्ण शिकायतों और रिपोर्टों के बाद हुआ था, जिसमें कहा गया था कि ऐप यूजर्स का डेटा चोरी कर रहे थे और इसे भारत से बाहर सर्वर पर भेज रहे थे।

चिंगारी (Chingari), ट्रेल (Trell) और कागज़ स्कैनर (Kaagaz Scanner) जैसे होमग्रोन ऐप ने प्रतिबंध की घोषणा के बाद रातोंरात यूजर्स की संख्या में वृद्धि देखी है, जबकि अन्य कंपनियों ने सरकार से देश के डेटा प्राइवेसी कानूनों को मजबूत करने का आग्रह किया है।

वर्चुअल सेशन में बोलते हुए, इनमोबी के फाउंडर और सीईओ नवीन तिवारी ने कहा:

"इंडियन डिजिटल सेक्टर, पिछले 48 घंटों में, एक बच्चे के वयस्क होने की तरह आगे बढ़ा है।"

पिछले साल, InMobi ने एक शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म Roposo का अधिग्रहण किया। प्रतिबंध की घोषणा के बाद, नवीन ने ट्वीट कर कहा था कि प्लेटफॉर्म को ऐप पर हर घंटे दो मिलियन यूजर देख रहे थे।

टाउनहॉल में कैबिनेट मंत्री ने स्टार्टअप इकोसिस्टम को डिजिटल शिक्षा और हेल्थटेक के निर्माण के समाधान पर ध्यान केंद्रित करने का भी आह्वान किया।