3 अप्रैल: देश-दुनिया के इतिहास में आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 3 अप्रैल वर्ष का 93 वाँ (लीप वर्ष में यह 94 वाँ) दिन है। साल में अभी और 272 दिन शेष हैं।
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

3 अप्रैल की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

2001 - संयुक्त राज्य अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन भारत यात्रा पर पहुँचे, भारत और डेनमार्क के बीच चार वर्ष के बाद पुन: वार्ता।


2002 - पाकिस्तान के राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ़ की जनमत संग्रह की योजना को मंत्रिमंडल की मंजूरी मिली।


2006 - नेपाल में माओवादियों ने संघर्षविराम की घोषणा की।


2007 - नई दिल्ली में 14वाँ सार्क सम्मेलन शुरू।


2008 - प्रकाश करात को माकपा का पुन: महासचिव चुना गया। मेधा पाटकर को राष्ट्रीय क्रांतिवीर अवार्ड, 2008 से अलंकृत किया गया।

3 अप्रैल को जन्मे व्यक्ति

1903 - कमलादेवी चट्टोपाध्याय - समाजसुधारक, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी तथा भारतीय हस्तकला के क्षेत्र में नवजागरण लाने वाली गांधीवादी महिला।


1914 - सैम मानेकशॉ - भारतीय सेना के भूतपूर्व अध्यक्ष, जिनके नेतृत्व में भारत ने सन 1971 में हुए भारत-पाकिस्तान युद्ध में विजय प्राप्त की थी।


1918 - ओलेस गोनचार, प्रसिद्ध उक्रेनी लेखक तथा उपन्यासकार।


1929 - निर्मल वर्मा- साहित्यकार


1931 - मन्नू भंडारी- साहित्यकार


1949 - सोम प्रकाश - भारतीय जनता पार्टी के राजनीतिज्ञ हैं।


1952 - रविन्द्र नारायण रवि - बिहार के राजनीतिज्ञों में से एक हैं।


1954 - डॉ. के. कृष्णास्वामी- राजनेता और फिजीशियन


1955 - हरिहरन - प्रसिद्ध भारतीय ग़ज़ल गायक तथा पार्श्वगायक हैं।


1958 - जया प्रदा- अभिनेत्री

3 अप्रैल को हुए निधन

1325 - निज़ामुद्दीन औलिया, चिश्ती सम्प्रदाय के चौथे संत।


1680 - शिवाजी- मराठा साम्राज्य के संस्थापक


2010 - अनंत लागू, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के छह संस्थापक सदस्यों में से एक थे।


2017 - किशोरी अमोनकर - हिंदुस्‍तानी शास्‍त्रीय परंपरा की प्रमुख गायिकाओं में से एक और जयपुर घराने की अग्रणी गायिका।