संस्करणों
विविध

जियो का असर, इंटरनेट इस्तेमाल में भारत 155 से हुआ नंबर वन

5th Sep 2017
Add to
Shares
724
Comments
Share This
Add to
Shares
724
Comments
Share

जियो के आने के बाद पिछले एक साल में भारत में मोबाइल डेटा के इस्तेमाल की तस्वीर पूरी तरह बदल गई है। पहले जहां लोग एमबी नाप नापकर डेटा खर्च करते थे, अब हालत यह है कि लोग अपना मोबाइल डेटा ऑफ ही नहीं करते।

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर


पहले डेटा इतना मंहगा हुआ करता था कि लोगों को अपना मोबाइल डेटा ऑफ करना पड़ जाता था। इस स्थिति परिवर्तन की बदौलत हर महीने डेटा खर्च 20 करोड़ जीबी से सीधे उछलकर 150 करोड़ जीबी हो गया है। 

जियो ने यह भी दावा है कि जियो का नेटवर्क अभी भारत में 75 फीसदी आबादी को कवर कर रहा है और अगले सालभर मे यह कवरेज 99 फीसदी तक हो जाएगी।

ठीक एक साल पहले रिलायंस ने सबसे तेज इंटरनेट उपलब्ध करवाने के लिए रिलायंस जियो का 4G सिस्टम लॉन्च किया था। इसके बाद लोगों ने इस सर्विस को हाथों हाथ लिया और इससे पूरे देश में मोबाइल और स्मार्टफोन पर इंटरनेट इस्तेमाल में काफी तेजी से बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। इससे भारत मोबाइल डेटा इस्तेमाल में 155वें स्थान से पहले स्थान पर पहुंच गया। पूरी दुनिया में अब भारत ऐसा देश बन गया है जहां सबसे ज्यादा मोबाइल डेटा इस्तेमाल किया जाता है।

जियो के आने के बाद पिछले एक साल में भारत में मोबाइल डेटा के इस्तेमाल की तस्वीर पूरी तरह बदल गई। पहले जहां लोग एमबी नाप नापकर डेटा खर्च करते थे, अब हालत यह है कि लोग अपना मोबाइल डेटा ऑफ ही नहीं करते हैं। पहले डेटा इतना मंहगा हुआ करता था कि लोगों को अपना मोबाइल डेटा ऑफ करना पड़ जाता था। इस स्थिति परिवर्तन की बदौलत हर महीने डेटा खर्च 20 करोड़ जीबी से सीधे उछलकर 150 करोड़ जीबी हो गया है। मोबाइल डेटा के इस्तेमाल की बात की जाए तो भारत अमेरिका और चीन से भी आगे पहुंच गया है।

इस बारे में जियो कपनी का दावा है कि इसमें से 125 करोड़ जीबी डेटा अकेले उसके ग्राहक खर्च कर रहे हैं। कंपनी की एक रिपोर्ट के मुताबिक जियो पर हर महीने 165 करोड़ घंटे की वीडियो स्ट्रीमिंग हो रही है। इसका मतलब लोग टीवी से ज्यादा समय मोबाइल पर गुजार रहे हैं। जियो का कहना है कि 4जी आने से पहले ऐसी आशंका जताई जाती थी कि महंगी डेटा सर्विस होने से इसको कम लोग अपनाएंगे, लेकिन उनके पास 10 करोड़ से ज्यादा ग्राहक हैं जो जियो प्राइम के लिए भुगतान कर रहे हैं। जियो ने यह भी दावा है कि जियो का नेटवर्क अभी भारत में 75 फीसदी आबादी को कवर कर रहा है और अगले सालभर मे यह कवरेज 99 फीसदी तक हो जाएगी।

अभी हाल ही में जियो ने अपना किफायती जियोफोन लाने की घोषणा की थी। सबसे तेजी से लोगों को जोड़ने में जियो का दावा है कि उसने एक और वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है, 170 दिन तक हर सेकंड सात ग्राहक जोड़ने की यह रफ्तार फेसबुक, वट्सएप और स्काइप से भी तेजी रही और इतने वक्त में उसे 10 करोड़ ग्राहक मिले। डस्ट्री में इस एक साल में जो बड़ा बदलाव आया वह, ज्यादा वॉइस और कम डेटा के बजाय अब कम वॉइस और ज्यादा डेटा पर फोकस हो गया है, साथ ही कंपनियां अब वॉइस के बजाय डेटा से अपने फायदे को ज्यादा देख रही हैं और इसी हिसाब से पैकेज आ रहे हैं।

इकनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक 2015 की पहले तिमाही में स्मार्टफोन बाजार में 72 फीसदी हिस्सा 3जी फोन का था, 23 फीसदी 2जी, लेकिन 2017 की पहली तिमाही आते आते 95 फीसदी 4जी के पास है, और बाकी में 3जी और 2जी सिमट गए हैं। 2017 में सालाना हिसाब से 4जी फोन की तादाद 3 गुना बढ़ गई। भारत में आज 4जी कवरेज 2जी कवरेज से ज्यादा बड़ी हो गई है, जबकि 2जी पिछले 25 साल से अपनी जगह पर थी।

यह भई पढ़ें: टाइम पर पहुंचने के चक्कर में नहीं किया नाश्ता तो ये पेट्रोल पंप देगा फ्री में खाना

Add to
Shares
724
Comments
Share This
Add to
Shares
724
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags