संस्करणों

रणदीप को अभिनेता निर्देशक के साथ काम करना लगता है आसान

3rd Jun 2016
Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share


अभिनेता रणदीप हुड्डा का कहना है कि उन निर्देशकों के साथ काम करना आसान होता है, जो खुद अभिनेता होते हैं लेकिन उन फिल्म निर्माताओं के साथ काम करना मुश्किल होता है जो अभिनय करना चाहते हैं। रणदीप की अगली फिल्म ‘दो लफ्जों की कहानी’ है जिसका निर्देशन अभिनेता-निर्देशक दीपक तिजोरी ने किया है।

अभिनेता ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह अच्छा होता है अगर वह एक अभिनेता हो क्योंकि वह जानता है कि अभिनेता को कैसे काम करना है। मैं हमेशा ऐसे निर्देशकों को पसंद करता हूं जो अभिनेता भी हों। इसमें हमेशा एक लाभ मिलता है।’’

रणदीप ने यह पूछे जाने पर कि क्या ऐसे निर्देशकों के साथ काम करने में लाभ मिलता है जो खुद भी अभिनेता हैं, के जवाब में यह बात कही। हालांकि, ‘सरबजीत’ के स्टार का मानना है कि इससे एक नुकसान भी है क्योंकि फिल्म निर्माता कभी कभी खुद के भीतर एक अभिनेता की तलाश करने लगते हैं।

image


उन्होंने कहा, ‘‘नुकसान तब होता है जब निर्देशक अभिनेता नहीं होते हैं, लेकिन अभिनेता बनना चाहते हैं। यह मुश्किल है। उन्होंने अभिनय नहीं किया होता, लेकिन उनके अंदर अभिनेता होता है।’’

रणदीप ने कहा, ‘‘आज कोई भी कुछ भी कर सकता है। वे अपनी ट्यूनिंग की मदद से गा भी सकता है।’’ अभिनेता कल शाम ‘दो लफ्जों की कहानी’ के दूसरे ट्रेलर लांच के मौके पर बोल रहे थे। यह फिल्म 10 जून को प्रदर्शित हो रही है। फिल्म में काजल अग्रवाल भी नजर आने वाली हैं।

(पीटीआई) 

Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

    Latest Stories

    हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें