पटना का पहला ऑनलाइन ग्रोसरी स्टोरी ‘फास्ट2कार्ट’,

    2nd Nov 2015
    • +0
    Share on
    close
    • +0
    Share on
    close
    Share on
    close

    ग्रोसरी के साथ स्टेशनरी भी मिलेगी ऑनलाइन

    2 घंटे में डिलीवरी करने का दावा

    ‘फास्ट2कार्ट’ की टीम में 20 सदस्य


    हौसले अगर बुलंद हों तो मंजिल मिल ही जाती है। बस चाहिए तो जज्बा, जुनून और कुछ कर गुजरने की चाहत। इसमें उम्र भी कोई मायने नहीं रखती है। तभी तो केवल 20 साल के आलोक कुमार तिवारी अपनी बहन के साथ मिलकर बिहार की राजधानी पटना में पहला ऑनलाइन ग्रोसरी स्टोर खोल रहे हैं। जिसका नाम है ‘फास्ट2कार्ट’। वैसे काम करना शुरू तो कर दिया है पर औपचारिक तौर पर घोषणा अगले कुछ में करेंगे। आलोक का कहना है “बात छोटी उम्र की नहीं, बात नॉलेज और दिमाग की है, मैंने इस काम में रूची दिखाई और देखा की ये इस शहर की जरूरत भी है। जिसके बाद मैंने इस काम को करने का फैसला लिया।”

    image


    देश में इंटरनेट की बढ़ती कनेक्टिविटी और स्मॉर्टफोन के बढ़ते इस्तेमाल से ई-कॉमर्स के ग्राहक साल दर साल तेजी से बढ़ रहे हैं। ऑनलाइन शॉपिंग के बढ़ते चलन से अब ग्राहक रोजमर्रा की जरूरत का सामान और ग्रोसरी भी एक क्लिक पर खरीदना पसंद करते हैं। फिर बात चाहे टीयर 2 और टीयर 3 शहरों की ही क्यों ना हो। तभी तो पटना के आरपीएस कॉलेज से पढ़ाई करने वाले आलोक कुमार तिवारी ने इसे मौके के तौर पर लिया और जल्द ही वो अपनी बड़ी बहन अनु ओझा के साथ मिलकर बिहार की राजधानी पटना में ‘फास्ट2कार्ट’ नाम से पहला ऑनलाइन स्टोर खोल रहे हैं।

    आलोक कुमार तिवारी, सीईओ, फास्ट2कार्ट

    आलोक कुमार तिवारी, सीईओ, फास्ट2कार्ट


    आलोक की स्कूली पढ़ाई पटना के पास दानापुर के एक केंद्रीय विद्यालय से हुई। स्कूली पढ़ाई के दौरान उनका शौक राइफल शूटिंग की ओर था। धीरे धीरे उनको इस खेल में इतनी महारत हासिल हुई कि वो तीन बार राष्ट्रीय स्तर की राइफल शूटिंग प्रतियोगिता में हिस्सा भी ले चुके हैं। शूटिंग प्रतियोगिताओं के सिलसिले में उनका कई बार दिल्ली आना हुआ। आलोक बताते हैं कि “प्रतियोगिता के सिलसिले में जब मैं दिल्ली जाता था तो उस दौरान मैंने वहां देखा कि कई ऐसे ऑनलाइन स्टोर थे जो ग्रोसरी का सामान 2 घंटे के अंदर पहुंचा देते थे। तब मेरे मन में विचार आया कि बिहार में इस तरह की कोई सुविधा नहीं है। जिसके बाद मैंने इस बारे में सोचना शुरू किया।” आलोक का कहना है कि बिहार में कई ऐसे परिवार हैं जो घर में रहकर ही सामान मंगाना चाहते हैं। जिसके बाद उन्होने दूसरों की ओर मुंह ताकने की जगह खुद ही इस क्षेत्र में उतरने का फैसला लिया।

    आलोक का दावा है कि कोई भी व्यक्ति ‘फास्ट2कार्ट’ की वेबसाइट में जाकर ग्रोसरी और स्टेशनरी से जुड़ा सामान ऑर्डर कर सकता है। जिसके बाद उस व्यक्ति का समान दो घंटे के अंदर उसके पास पहुंचा दिया जाएगा। खास बात ये है कि इस वेबसाइट में मिलने वाला कोई भी समान एमआरपी से 1-2 रुपये कम रखा गया है। ताकि ज्यादा से ज्यादा ग्राहक इससे जुड़ सकें। आलोक का दावा है कि पटना में इस तरह की ये पहली सेवा होगी। फिलहाल कंपनी के रजिस्ट्रेशन का काम अपने अंतिम चरण में है। ‘फास्ट 2कार्ट’ ऑनलाइन स्टोर सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक अपने सेवाएं देगा। उनके मुताबिक कंपनी में कुल मिलाकर 20 लोगों की टीम है। जिसमें संस्थापक, डेवलपर, फील्ड बॉय और ऑफिस का दूसरा स्टॉफ भी शामिल है। आलोक का कहना है कि ‘फास्ट2कार्ट’ नवंबर के अंतिम सप्ताह तक पटना में काम करना शुरू कर देगा।

    image


    आलोक बताते हैं कि उन्होने ये फैसला काफी सोच समझ कर लिया है। ऑनलाइन स्टोर को खोलने से पहले उन्होने एक सर्वे कर लोगों से उनकी राय जानने की कोशिश भी की। इतना ही नहीं उन्होने ग्रोसरी के क्षेत्र से जुड़े लोगों की भी राय ली। आलोक के मुताबिक “मुझे सब जगह से अच्छी प्रतिक्रिया मिली, सबने मुझसे कहा कि मुझे ये काम करना चाहिए। जिससे मेरा उत्साह बढ़ा और उसका नतीजा सबके सामने है।” आलोक बताते हैं कि ‘फास्ट 2कार्ट’ शुरू करने में सबसे ज्यादा मदद उनके पारिवारिक दोस्तों ने की और उन्होने उनके इस काम में निवेश भी किया। जिसके बाद आलोक की योजना अपने इस कारोबार को पूरे बिहार और झारखंड में फैलाने की है।

    Want to make your startup journey smooth? YS Education brings a comprehensive Funding and Startup Course. Learn from India's top investors and entrepreneurs. Click here to know more.

    • +0
    Share on
    close
    • +0
    Share on
    close
    Share on
    close

    Latest

    Updates from around the world

    हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें

    Our Partner Events

    Hustle across India