संस्करणों

तरोताज़ा कीजिए बचपन की याद और स्वाद, घर बैठे मंगाइए 'पेपरबोट'

पारंपरिक भारतीय पेय पदार्थों को दया नया आयामबाजार में आने के एक साल के भीतर ही छाई पेपरबोटशॉपपेपरबोटडाटकाम के द्वारा घर बैठे ही आॅर्डर दे सकते हैं उपभोक्ताभारत के 65 शहरों के अलावा 10 देशों में उपलब्ध है सेवा

18th Jun 2015
Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share

वर्तमान समय में पेय पदार्थों का उपभोक्ता आधुनिकता से प्रभावित है लेकिन फिर भी वह अपनेे पारम्परिक व्यंजनों का मोह नहीं छोड़ पा रहा है। भारतीय उपभोक्ता का व्यवहार व सोच समय के साथ बदली है लेकिन वह पारम्परिक पेय पदार्थ जैसे जल जीरा, सत्तू, कोकम को पैक्ड रूप में पसंद करने लगा है। आज का ग्राहक हाइजीन, हैल्थ, सुविधा के प्रति सजग है और वह इन पारंपरिक पेय पदार्थों को साफ-सुथरे पैक में मिलने पर खाने का मोह नहीं छोड़ पाता है।

image


ऐसे में पंरपरागत भारतीय पेय पदार्थों का चलन काफी तेजी से बढ़ा है खासतौर पर तब जब गुडगांव की कंपनी हेक्टर बेवरेज ने छोटे पैकेज वाले ड्रिंक मसलन आम पन्ना, जलजीरा और कम कैलोरी वाला सत्तू, तुलसी चाय, अदरक चाय आदि की पेशकश ग्राहकों को करनी शुरू कर दी।

इस कंपनी ने अगस्त 2013 से ‘पेपरबोट’ ब्रांड के तहत ये पेय पदार्थ पेश किए और एक बड़े वर्ग के उपभोक्ताओं को अपने पेय पदार्थो के चयन और आर्डर के लिए श्रेष्ठ विकल्प मुहैया कराने के लिये शॉपपेपरबोटडाटकाम के द्वारा वेब की दुनिया में कदम रखा और डेल्हीवेरी के साथ बिक्री-विपणन समझौता किया।

इस भागीदारी के तहत डेल्हीवेरी ‘पेपरबोट’ की आपूर्ति श्रंखला, प्रौद्योगिकी एवं परिचालन को मजबूत बनाएगी। इसमें बेवसाइट एवं भुगतान के साथ ग्राहकों के लिए माल भेजने जैसी सेवाएं शामिल हैं।

image


इस आॅनलाइन सेवा के द्वारा कंपनी उपभोक्ताओं को विचित्र लेकिन पुराने और चिर-परिचित भारतीय स्वाद से रूबरू कराता है जिसे चखने के बाद वह पुरानी यादों में खो जाता है। इसके अलावा पेपरबोट नई उम्र के उपभोक्ताओं को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिये नई तकनीकों का भी सहारा भी ले रहा है।

ईकाॅमर्स का उपयोग करते हुए शॉपपेपरबोटडाटकाम के द्वारा कंपनी अपने पेय पदार्थों को देशभर के 60 से भी अधिक शहरों और कस्बों के उपभोक्ताओं तक पहुंचा रही है। यहां पर न्यूनतम 150 रुपये का आॅर्डर देकर उपभोक्ता इन पेय पदार्थों को अपने घर पर मंगा सकता है और सुपुर्दगी पर अदायगी (कैश आॅन डिलीवरी) के तहत तभी भुगतान कर सकता है। इसके अलावा ये पेय पदार्थ दुनिया के 10 देशों में भी उपलब्ध हैं।

एक नए आॅनलाइन स्टोर के उद्घाटन के मौके पर हेक्टर बेवरेज के सहसंस्थापक नीरज बियानी मानते हैं कि आज के समय में अधिकतर उपभोक्ता आॅनलाइन खरीददारी करना पसंद करते हैं। ‘‘हमारा आॅनलाइन स्टोर खोलने का मुख्य उद्देश्य अपने उपभोक्ताओं तक सुलभ पहुंच बनाना है क्योंकि आज का युवा अपना समय और पैसा आॅनलाइन शाॅपिंग में खर्च करता है। हम अपने ऐसे ही उपभोक्ताओं तक पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं और शॉपपेपरबोटडाटकाम इसी दिशा में उठाया गया कदम है।’’

‘‘हालांकि पेपरबोट देश के हर कोने में विस्तार करते हुए अपनी वितरण प्रणाली तैयार कर रहा है जिससे आप अपना पसंदीदा पेय अपने घर के नजदीक की दुकान पर पा सकें। लेकिन तब तक हमारे प्रशंसक इन आॅनलाइन खरीददारी का प्रयोग कर अपने घर पर बैठे इन पेय पदार्थों का आनंद ले सकते हैं।’’ इसके अलावा कंपनी आॅर्डर मिलने के 48 घंटों के भीतर ग्राहक के दरवाजे पर पेय पदार्थों को पहुंचाती है।

उेल्हीवेरी के मोहित टंडन कहते हें कि, ‘‘इस तरह से पेपरबोट आॅनलाइन खरीददारी और ईकाॅमर्स के बाजार को एक अद्वितीय उत्पाद प्रदान करता है। डेल्हीवेरी के ओमनी-चैनल प्रणाली का प्रयोग करते हुए हमारा प्रयास रहता है कि हमारे उपभोक्ताओं को पेपरबोट से खरीददारी करते समय एक अलग और नया अनुभव हो। हमने बहुत बारीकी से हेक्टर बेवरेज के वितरण नेटवर्क का अध्ययन किया है और हमारा प्रयास रहता है कि हम आर्डर मिलने के 2 दिनों के भीतर उपभोक्ता तक उसका पसंदीदा पेय पदार्थ पहुंचा दें।’’

इसके अलावा इन लोगों ने पेपरबोट के लिये एक फेसबुक पेज भी तैयार किया। इस फेसबुक पेज में इन्होंने पेपरबोट के बारे में कुछ नहीं लिखा बलिक उपभोक्ताओं की बचपन की यादों को ताजा करने के लिये उनके बचपन में ‘राजा, मंत्री, जोर, सिपाही’ जेसे खेले जाने वाले खेल के बारे में बात करना शुरू किया। इस फेसबुक पेज के बनने के बाद इनके पेय पदार्थ को काफी प्रचार मिला।

image


वर्तमान में शॉपपेपरबोटडाटकाम पर इन पेय पदार्थों के सात उत्पाद आमरस, जलजीरा, जामुन कालाखट्टा, आम पन्ना, कोकम, इमली का अमलाना और गोलगप्पे का पानी उपलब्ध हैं जिन्हें उपभोक्ता घर बैठे आर्डर देकर पी सकता है।

Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags