संस्करणों

जहाजरानी में 8,000 करोड़ कमाने का लक्ष्य,नये बंदरगाहों के विकास से 1 लाख रोज़गार की संभावना

गोवा में होगा एक और बंदरगाह...कर्नाटक में करवार के पास बेल्लाकरी में एक प्रमुख बंदरगाह विकसित करने की योजना

YS TEAM
5th Jun 2016
Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share

केंद्र का गोवा सरकार के साथ एक संयुक्त उद्यम बनाकर मुरगांव पोर्ट ट्रस्ट से करीब 35 किलोमीटर दूर एक उप-बंदरगाह बनाने की योजना है। उप बंदरगाह के पास 50 लाख टन बॉक्साइट और 10 लाख टन लौह अयस्क की सालाना ढुलाई क्षमता होगी।

यह बात आज केंद्रीय जहाजरानी मंत्रालय नितिन गडकरी ने कही। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘पणजी के मौजूदा गोवा बंदरगाह में बहुत सी दिक्कतें हैं। इसके कारण यह बंदरगाह और विकसित नहीं हो सकता। केंद्र गोवा सरकार के साथ संयुक्त उद्यम में दक्षिण गोवा के बल्ली गांव में स्थित मुरगांव पोर्ट ट्रस्ट से 35 किलोमीटर दूर एक इससे जुड़ा एक छोटा बंदरगाह के निर्माण की योजना बना रहा है।’’

मंत्री ने कहा, ‘‘बॉक्साइट का परिवहन कन्वेयर बेल्ट और लौह अयस्क का परिवहन सड़क मार्ग से किया जाएगा।’’

जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने आज कहा कि उनके मंत्रालय ने चालू वित्त वर्ष के दौरान सभी प्रमुख बंदरगाहों और प्रमुख संगठनों से 8,000 करोड़ रुपए के संचयी मुनाफे का लक्ष्य रखा है।

गडकरी ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘सभी 12 बंदरगाहों और तीन प्रमुख संगठनों ने पिछले वित्त वर्ष के दौरान 6,000 करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया था। क्षेत्र के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि इतनी आय हुई है। हालात को देखते हुए बंदरगाहों का यह मुनाफा उल्लेखनीय उपलब्धि है’’

जहाजरानी मंत्रालय की एक बैठक की अध्यक्षता करने के बाद उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष के दौरान प्रमुख बंदरगाहों और प्रमुख संगठनों से 8,000 करोड़ रुपए रपए के मुनाफे का लक्ष्य रखा है। इस राशि का निवेश आधुनिकीकरण और यांत्रिकीकरण में किया जाएगा।

गडकरी ने ने बताया कि केंद्र कर्नाटक में करवार के पास बेल्लाकरी में एक प्रमुख बंदरगाह विकसित करने की योजना बना रहा है।

मंत्री ने कहा, ‘‘कुछ वन एवं पर्यावरण मुद्दे हैं। हमारी कर्नाटक के मुख्य मंत्री के साथ इस संबंध में चर्चा हुई है और उनकी इस बंदरगाह के निर्माण में रुचि है।’’

मंत्री ने कहा, ‘‘सागरमाला मेरीटाईम वर्ल्ड कान्फ्रेंस में हम चार लाख करोड़ रुपए की लागत से बुनियादी ढांचा विकास - बंदरगार से जुड़ने वाली रेल योजना, बंदरगाह सड़क और इसके यांत्रिकीकरण की योजना बनाई है। हम बंदरगाह नीत विकास क्षेत्र के पास 27 औद्योगिक संकुल विकसित कर रहे हैं और हमें इसमें आठ लाख करोड़ रुपए के निवेश की उम्मीद है। इससे अप्रत्यक्ष रूप से 60 लाख और प्रत्यक्ष रूप से 40 लाख प्रत्यक्ष रोजगार पैदा होंगे।’’ (पीटीआई)

Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest Stories

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें