संस्करणों
विविध

रात्रिकालीन जिला परिषद स्कूलों में होगा सुधार :जावड़ेकर

11th Jul 2016
Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि सरकार जिला परिषद के स्कूलों और रात्रिकालीन स्कूलों की हालत में सुधार करेगी। पिछले दिनों एचआरडी मंत्री के तौर पर कामकाज संभालने वाले जावड़ेकर ने कल शाम मुंबई के दादर में गोपाल कृष्ण गोखले स्कूल का दौरा किया और विद्यार्थियों से बातचीत की।

मंत्री ने कहा, ‘‘उत्थान के लिए शिक्षा जरूरी है। मैं इन वंचित छात्रों की भावना को तहेदिल से सलाम करता हूं, जो दिन में आठ से दस घंटे कड़ी मेहनत करने के बाद रात्रिकालीन स्कूलों में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि शिक्षा समावेशी होनी चाहिए और किसी को पीछे नहीं रहने देना चाहिए।

image


रात्रिकालीन स्कूल महत्वपूर्ण संस्थान हैं जो शिक्षा को समावेशी बना रहे हैं और इन स्कूलों तथा जिला परिषद के विद्यालयों की हालत में सुधार करना सरकार की प्राथमिकता में होगा।

जावड़ेकर ने कहा, ‘‘आपसे मिलने के बाद, आपके लिए काम करने का मेरा दृढ़संकल्प और मजबूत हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दलितों, वंचितों और पिछड़े वर्ग के लिए काम करने की बात कहते हैं। हम रात्रिकालीन विद्यालयों की समस्याओं का अध्ययन करेंगे और उनके लिए जो भी संभव होगा, करेंगे।’’

जावड़ेकर ने कहा कि वह खुद भी जिला परिषद के स्कूल में पढ़े हैं, इसलिए उनकी समस्याओं और चुनौतियों को बेहतर तरीके से समझ सकते हैं। मंत्री ने छात्रों और शिक्षकों को आश्वासन दिया कि वह महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े से रात्रिकालीन स्कूलों और निगम स्कूलों में बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए हरसंभव प्रयास करने को कहेंगे।

स्कूली अधिकारियों ने मंत्री को बताया कि पिछले चार साल से उनके यहां शत प्रतिशत परिणाम रहा है। मुंबई में रात्रिकालीन स्कूलों में बुनियादी ढांचे में काफी विकास किया गया है जहां 15 साल और इससे अधिक उम्र के 15000 से अधिक विद्यार्थी कक्षा आठवीं से उपर की पढ़ाई करते हैं।(पीटीआई)

Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags