संस्करणों
विविध

500 और 1000 रुपए के नोट नौ नवंबर से अवैध

शुरू होंगे 2000 और 500 रुपए के नए नोट।

8th Nov 2016
Add to
Shares
2.4k
Comments
Share This
Add to
Shares
2.4k
Comments
Share

भ्रष्टाचार, आतंकवाद, कालाधन, जाली नोटों के गोरखधंधे के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को आश्चर्य में डालते हुए आज रात मध्यरात्रि से 500 रुपए और 1000 रुपए के नोटों के प्रचलन को समाप्त करने की घोषणा की।

image


 आज रात 12 बजे से 1000 रुपए और 500 रुपए की रकम वैध नहीं होगी। 1000 और 500 रुपए के नोट कागज़ के टुकड़े रह जाएंगे और उनका कोई मूल्य नहीं होगा।

लोग 10 नवंबर से 30 दिसंबर 2016 तक अपने-अपने बैंकों में 1000 रुपये और 500 रुपए के नोट जमा करा सकेंगे । कुछ कारणों से जो लोग 1,000 रुपए और 500 रुपए के नोट 30 दिसंबर तक जमा नहीं करा सकेंगे, वे लोग पहचान पत्र दिखाकर 31 मार्च 2017 तक नोट बदलवा सकेंगे। 1000 रुपए और 500 रुपए के नोट कागज के टुकड़े रह जाएंगे और उनका कोई मूल्य नहीं होगा। 

अब 2000 रुपए के नए नोट जारी किए जायेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने 40 मिनट के संबोधन में इस निर्णय के कारण उत्पन्न स्थितियों को देखते हुए 11 नवंबर की मध्यरात्रि तक कुछ विशेष व्यवस्थाएं भी की है। इसके तहत अस्पतालों, सार्वजनिक क्षेत्र के पेट्रोल एवं सीएनजी गैस स्टेशनों, रेल यात्रा टिकट काउंटरों, शवदाह गृहों, अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों को 11 नवंबर की मध्यरात्रि तक छूट रहेगी। दुग्ध बिक्री केंद्रों, पेट्रोल एवं सीएनजी स्टेशनों आदि को स्टाक एवं ब्रिकी का रजिस्टर रखना होगा। उन्होंने कहा कि 100 रुपए, 50 रुपए, 20 रुपए, 10 रुपए, 5 रुपए, एक रुपए के नोट और सभी सिक्के प्रचलन में रहेंगे और वैध होंगे।

मोदी ने 2000 और 500 रुपए के नए नोट जारी करने की घोषणा की है।

प्रधानमंत्री ने कहा, कि "केवल शुरूआत के दिनों में खाते से धनराशि निकालने पर प्रतिदिन 10 हजार रुपए और प्रति सप्ताह 20 हजार रुपए की सीमा रखी गई है। प्रारंभ में 4000 रुपए के नोट बदले जा सकेंगे और 25 नवंबर से 4000 रुपए की सीमा में वृद्धि की जायेगी। कल बैंक बंद रहेंगे और कुछ एटीएम कल और परसों बंद रहेंगे। बैंकों और डाकघरों के कर्मचारी नयी व्यवस्था को उपलब्ध समय में सफल बनाने के लिए पुरा जोर लगायेंगे। चेक, बैंक ड्राफ्ट या अन्य इलेक्ट्रानिक माध्यमों के भुगतान पूर्ववत रहेंगे और यह जारी रहेगा। जो लोग 1000 रुपए और 500 रुपए के नोटों को 30 दिसंबर तक जमा करने की सीमा का पालन नहीं कर पायेंगे, वे आरबीआई के कार्यालयों में अगले वर्ष 31 मार्च तक ऐसा कर सकेंगे और इसके लिए उन्हें एक घोषणापत्र और पहचान पत्र पेश करना होगा।" 

साथ ही नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा, कि "यह जानकारी गोपनीयता को ध्यान में रखते हुए सभी को इसी समय एक साथ दी जा रही है । रिजर्व बैंक और अन्य बैंकों को बहुत कम समय में काफी व्यवस्था करनी है। ऐसे में कल बैंक बंद रहेंगे । इसके कारण लोगों को कुछ परेशानियां पेश आयेंगी, लेकिन मेरा आग्रह होगा कि देशहित में वे इन कठिनाइयों को नजरंदाज करेंगे। हर देश के इतिहास में ऐसे क्षण आते हैं जब व्यक्ति उस क्षण का हिस्सा बनना चाहता है और राष्ट्र निर्माण में सहभागी बनना चाहता है। ऐसे गिने चुने मौके आते हैं और यह ऐसा एक मौका है।भ्रष्टाचार देश में गहरी जड़ें जमा चुका है। भ्रष्टाचार, जाली मुद्रा और आतंकवाद नासूर बन चुका है और अर्थव्यवस्था को जकड़ लिया है । हमारे दुश्मन जाली नोटों के जरिए भारत में रैकेट चला रहे हैं ।

सरकार के प्रयास से पिछले ढाई साल के दौरान 1.25 लाख करोड़ रुपए के काला धन का पता लगाया गया है।

प्रधानमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि सभी राजनीतिक दल, सामाजिक एवं शैक्षणिक संगठन, मीडिया इसे सफल बनाने के लिए सरकार से भी बढ़कर कार्य करेंगे। सीमा पार से हमारे दुश्मन जाली रकम के जरिए भारत में रैकेट चला रहे हैं।

कुछ कारणों से जो लोग 1,000 रुपए और 500 रुपए के नोट 30 दिसंबर तक जमा नहीं करा सकेंगे, वे पहचान पत्र दिखाकर 31 मार्च 2017 तक नोट बदलवा सकेंगे।

साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ये विश्वास जताया है कि राजनीतिक और अन्य मीडिया नए प्रावधानों को सफल बनाने में मदद करेगा।

Add to
Shares
2.4k
Comments
Share This
Add to
Shares
2.4k
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags