कोरोना वायरस: केरल के पतनमतिट्टा जिले में अलर्ट घोषित, सार्वजनिक कार्यक्रम रद्द, प. बंगाल में पृथक वार्ड में व्यक्ति की मौत, जांच के लिए भेजे गए नमूने, बेंगलुरु के प्ले स्कूलों में छुट्टी के आदेश

By भाषा पीटीआई
March 09, 2020, Updated on : Mon Mar 09 2020 14:01:30 GMT+0000
कोरोना वायरस: केरल के पतनमतिट्टा जिले में अलर्ट घोषित, सार्वजनिक कार्यक्रम रद्द, प. बंगाल में पृथक वार्ड में व्यक्ति की मौत, जांच के लिए भेजे गए नमूने, बेंगलुरु के प्ले स्कूलों में छुट्टी के आदेश
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कोच्चि/पतनमतिट्टा, केरल में कोरोना वायरस के नये मामले पतनमतिट्टा जिले से सामने आने के बाद रविवार को जनपद में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया और अधिकारियों ने उन लोगों का पता लगाने के उपाय तेज कर दिये जिनके संपर्क में ये तीनों संक्रमित लोग आए।


k

फोटो क्रेडिट: punjabkesari



यह कदम तब उठाया गया है जब पांच लोग कोरोना वायरस को लेकर पॉजिटिव पाये गये हैं। उनमें से एक दंपति और उनका बेटा है जो हाल ही में इटली गये थे तथा उनके दो अन्य रिश्तेदार हैं। ये दंपति और उनके बेटे एक सप्ताह लौटने पर हवाई अड्डे पर स्क्रीनिंग से बच निकले थे।


आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि जिले के दक्षिणी हिस्से में सभी सरकारी कार्यक्रम एवं धार्मिक समागम रद्द कर दिये गये है।


जिला प्रशासन ने उन लोगों की पहचान के लिए चिकित्सा अधिकारियों की आठ टीमें बनायी है जिनके संपर्क में ये विषाणु संक्रमित लोग 29 फरवरी और छह मार्च के बीच रान्नी और आसपास के क्षेत्रों में ठहरने के दौरान आये होंगे।


जिलाधिकारी पी बी नूह ने बताया कि ये टीमें प्राथमिक, द्वितीयक और तृतीयक संपर्क वाले व्यक्तियों की सूची तैयार कर करेंगी। हर टीम में सात सदस्य हैं।


इस आधिकारिक खबर के सामने आने के बाद 29 फरवरी को यहां अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद तीनों संक्रमित लोग स्वास्थ्य जांच से बचकर निकल गये थे, एर्नाकुलम जिला प्रशासन ने रविवार को कोचिन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा लिमिटेड पर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।





प. बंगाल में पृथक वार्ड में व्यक्ति की मौत, जांच के लिए भेजे गए नमूने

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में अस्पताल के पृथक वार्ड में भर्ती मधुमेह के एक रोगी जनारुल हक की रविवार मौत हो गई।


हक एक दिन पहले सऊदी अरब से लौटा था और उसे कोरोना वायरस से संक्रमण की आशंका के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था।


डॉक्टरों के अनुसार हक को बुखार, सर्दी और जुकाम था।


स्वास्थ्य सेवाओं के निदेशक अजय चक्रवर्ती ने पीटीआई-भाषा से कहा कि हालांकि जनारुल हक के खून और लार के नमूनों की जांच रिपोर्ट आना बाकी है लेकिन यह कहा जा सकता है कि संभवतः उसकी मौत मधुमेह से हुई।


चक्रवर्ती ने कहा,

“व्यक्ति गंभीर रूप से मधुमेह से पीड़ित था और इन्सुलिन ले रहा था। वह सऊदी अरब से घर लौटा था और उसके पास पिछले तीन से चार दिन से इन्सुलिन खरीदने के पैसे नहीं थे। वह बुखार, सर्दी और जुकाम से भी पीड़ित था। उसे कल मुर्शिदाबाद मेडिकल कालेज और अस्पताल के पृथक वार्ड में भर्ती कराया गया था और आज उसकी मौत हो गई।”



उन्होंने कहा,

“हम चिकित्सकीय जांच के नतीजों का इंतजार कर रहे हैं। कोरोना वायरस से उसके मरने की संभावना बहुत कम है।”


एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार के निर्देशानुसार हक के अंतिम संस्कार के दौरान एहतियात बरती जाएगी।


बेंगलुरु के प्ले स्कूलों में छुट्टी के आदेश

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते कर्नाटक सरकार ने बेंगलुरु के प्ले स्कूलों (किंडरगार्टन)में पढ़ने वाले बच्चों के लिए छुट्टी की घोषणा की है ।


सरकार ने यह फैसला कर्नाटक के स्वास्थ्य आयुक्त पंकज कुमार पांडे की सलाह पर किया।


प्राथमिक और माध्यमिक स्कूली शिक्षा मंत्री एस सुरेश कुमार ने रविवार रात को ट्वीट किया,

‘‘स्वास्थ्य आयुक्त की सलाह पर बेंगलुरु उत्तर, दक्षिण और ग्रामीण जिलों में केजेजी/यूकेजी कक्षाओं की छुट्टी घोषित की जाती है।’’