अरे! ये क्या? लॉकडाउन में फर्जीवाड़ा! लो जी इन महाशय ने तो अब हद ही कर दी, आप खुद ही पढ़िए पूरी रिपोर्ट

By भाषा पीटीआई
April 24, 2020, Updated on : Fri Apr 24 2020 05:01:30 GMT+0000
अरे! ये क्या? लॉकडाउन में फर्जीवाड़ा! लो जी इन महाशय ने तो अब हद ही कर दी, आप खुद ही पढ़िए पूरी रिपोर्ट
कई गुना अधिक भाड़े पर मजदूरों को ले जा रहा था चालक।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

मथुरा, उत्तर प्रदेश के औरैया का निवासी एक टैक्सी चालक अपर मुख्य सचिव के हस्ताक्षर से जारी फर्जी प्रमाणपत्र पर गुड़गांव के आधा दर्जन मजदूरों को कई गुना अधिक भाड़े पर इलाहाबाद ले जाते पकड़ा गया है।


k

सांकेतिक चित्र (फोटो क्रेडिट: shutterstock)


पूछताछ में खुलासा हुआ है कि एक दिन पूर्व ही उसका एक अन्य साथी चालक कुछ मजदूरों को इलाहाबाद पहुंचा कर आ चुका है।


पुलिस ने उसके खिलाफ धोखाधड़ी एवं महामारी अधिनियम के नियमों का उल्लंघन करने का मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है।


पुलिस ने बताया कि जिन मजदूरों को वह उस फर्जी पास के सहारे इलाहाबाद पहुंचाने का प्रयास कर रहा था, उन्होंने भी उसके विरुद्ध धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज कराया है।


मथुरा के पुलिस अधीक्षक श्रीश चंद्र ने बताया,

‘बुधवार को मैं स्वयं राष्ट्रीय राजमार्ग के गश्ती दल एवं कोसीकलां थाना पुलिस के साथ हरियाणा सीमा पर स्थित कोटवन पुलिस चैकी के चेकपोस्ट पर पहुंचा तो कुछ ही देर में दिल्ली की ओर से एक सफेद इनोवा कार आती दिखाई दी। जिस पर अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी द्वारा जारी पास की प्रति लगी हुई थी। जिसके आधार पर उसने उसे निकल जाने देने के लिए कहा।’


उन्होंने बताया, ‘मुझे इसमें कुछ गड़बड़ लगा। क्योंकि, मैं जानता था कि अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी सामान्यतः हिन्दी में हस्ताक्षर करते हैं, जबकि उस पास पर अंग्रेजी में हस्ताक्षर किए गए थे। तस्दीक करने पर वह गलत निकला। उससे यह भी जानने का प्रयास किया कि उसे यह पास कैसे प्राप्त हुआ। इस पर वह टूट गया और सारी पोल खोल दी कि इंटरनेट से तैयार किया है।’


पूछताछ करने पर खुलासा हुआ कि मनोज कुमार नामक आरोपी औरैया का रहने वाला है। वह छह मजदूरों को गुड़गांव से इलाहाबाद ले जाने के लिए निकला था। वह उनसे तीस रुपए प्रति किमी के हिसाब से भाड़ा वसूल कर रहा था। इससे पहले भी वह इस फर्जी पास से बॉर्डर पार कर चुका है। उसका एक साथी चालक एक दिन पहले ही कुछ अन्य मजदूरों को इसी प्रकार के पास से इलाहाबाद छोड़कर वापस लौटा था।


पुलिस ने मनोज कुमार के खिलाफ फर्जी तरीके से कागजात तैयार करने, धोखाधड़ी करने, तय दर से अधिक मूल्य वसूलने, लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने का मामला दर्ज किया गया है। इसके साथ ही उन मजदूरों (श्याम सुंदर, अवधेश, विनोद कुमार निवासी इलाहाबाद तथा संजय, बालकिशन, राकेश निवासी प्रतापगढ़) ने धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया है।


कोसीकलां थाना प्रभारी आजाद पाल सिंह ने बताया,

‘‘सभी मजदूरों का स्वास्थ्य परीक्षण कराकर नंदगाव रोड स्थित हिन्दू इंटर कॉलेज में पृथक वास में रखा गया है।’’


Edited by रविकांत पारीक