कोविड-19 ने बढ़ाया अकेलापन और व्यग्रता, ऐसे में योग मददगार: यूएनजीए अध्यक्ष

By भाषा पीटीआई
June 20, 2020, Updated on : Sat Jun 20 2020 12:31:30 GMT+0000
कोविड-19 ने बढ़ाया अकेलापन और व्यग्रता, ऐसे में योग मददगार: यूएनजीए अध्यक्ष
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

संयुक्त राष्ट्र, संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष ने छठे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर कहा कि कोविड-19 ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है, लोगों में अकेलापन बढ़ गया है और इसके कारण व्यग्रता भी बढ़ी है, ऐसे में सेहतमंद रहने के लिए योग करना आज के समय में बहुत महत्वपूर्ण है।


k

फोटो साभार: ShutterStock


इस वर्ष 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कोविड-19 संबंधी पाबंदियों के चलते तथा सामाजिक दूरी के नियम का पालन करने के लिए डिजिटल तरीके से मनाया जाएगा।


महासभा के अध्यक्ष तिजानी मोहम्मद बंदे ने डिजिटल संदेश में कहा,

‘‘वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। सामाजिक दूरी के कारण अकेलापन बढ़ा है, आर्थिक परेशानियों के कारण व्यग्रता बढ़ी है तथा बीमारी का डर और प्रियजन की चिंता भी लोगों को खाए जा रही है।’’

उन्होंने कहा,

‘‘वैश्विक महामारी के कारण जो परेशानियां पैदा हुई हैं उनसे निपटने तथा चिंता से जूझ रहे लोगों की मदद करने के लिहाज से हम जानते हैं कि योग करना कितना महत्वपूर्ण है।’’

इससे पहले, भारत का स्थायी मिशन संरा परिसर में योग दिवस का कार्यक्रम बड़े पैमाने पर आयोजित करता था। इस बार मिशन ने शुक्रवार को कोविड-19 के चलते डिजिटल कार्यक्रम ‘‘योग फॉर हैल्थ - योग ऐट होम’’ का आयोजन किया।



Edited by रविकांत पारीक