ब्राजील की नर्सें दस्तानों के जरिए कोविड​-19 रोगियों को करा रही मानव स्पर्श का अहसास

गल्फ न्यूज के एक पत्रकार, सादिक भट ने एक फोटो ट्वीट की, जिसमें देखा जा सकता है कि मानव स्पर्श का अहसास कराने के लिए दो पानी से भरे दस्तानों के बीच एक मरीज के हाथ को रखा गया है।

ब्राजील की नर्सें दस्तानों के जरिए कोविड​-19 रोगियों को करा रही मानव स्पर्श का अहसास

Friday April 16, 2021,

2 min Read

कोविड​​-19 संक्रमित रोगियों के लिए आइसोलेशन और सोशल डिस्टेंसिंग बेहद जरूरी है, इसलिए लोग अकेलेपन से उबरने के तरीके खोज रहे हैं।


ब्राज़ील के एक अस्पताल के कोविड-19 वार्ड में काम करने वाली नर्सें दस्तानों का उपयोग करके अपने रोगियों को आराम देने की कोशिश कर रही हैं।


गल्फ न्यूज के एक पत्रकार, सादिक भट ने एक फोटो ट्वीट की, जिसमें देखा जा सकता है कि मानव स्पर्श का अहसास कराने के लिए दो पानी से भरे दस्तानों के बीच एक मरीज के हाथ को रखा गया है। उन्होंने इन फ्रंटलाइन हेल्थकेयर वर्कर्स के प्रयासों को भी सलाम किया, जो कठिन परिस्थिति के बावजूद अथक प्रयास कर रहे हैं।


सादिक ने अपने ट्वीट में लिखा, "ये भगवान का हाथ है - ब्राजील के कोविड आइसोलेशन वार्ड में रह रहे मरीजों को आराम देने की कोशिश करता है। गर्म पानी से भरे हुए दो डिस्पोजेबल दस्ताने बंधे हुए हैं, जो असंभव मानव स्पर्श का अहसास कराते हैं। हमारी दुनिया जिन मुश्किलों में है, ऐसे में फ्रंटलाइन वर्कर्स को सलाम!

तस्वीर ट्विटर पर वायरल हो गई है, और 8000 से अधिक लाइक्स और 1,800 से अधिक रीट्वीट प्राप्त हुए हैं। वास्तव में, नेटिजन्स इस विचारशील समाधान के मुरीद हो गए हैं।


भारतीय लेखक और 'जिमी द टेररिस्ट’ (Jimmy the Terrorist) के लेखक, ओमायर अहमद ने भी मानव स्पर्श के मूल्य के बारे में बात करते हुए ट्वीट पर टिप्पणी की।


“अब अच्छी तरह से भौतिक स्पर्श के आराम से चिकित्सा में मदद मिलती है। यह अच्छा विचार और अच्छा विज्ञान, दोनों का जवाब था।


एक नियोनेटोलॉजिस्ट ने भी ट्वीट का जवाब दिया, उन्होंने कहा कि वे अपने क्षेत्र में एक समान तकनीक का अभ्यास करते हैं - “हम अपने क्षेत्र में इस तरह का कुछ करने के लिए उपयोग करते हैं, नियोनेटोलॉजी, शिशुओं को बेहतर आराम देने के लिए। यह दर्द और चिंता के लिए मददगार है।”