संस्करणों

फिल्मों के दीवानों, FilmySphere' पर आओ, सारी जानकारी पाओ...

मनचाहे सितारों को जानने का मौकासिने जगत में नौकरी खोजने का अड्डाफेसबुक से भी जुड़ा है ‘FilmySphere’

29th Jun 2015
Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share

ज्यदातर लोग फिल्मों के दीवाने होते हैं उनमें से कई ऐसे होते हैं जो अपने पसंददीदा कलाकार की हर बात को जानना चाहते हैं। यही कारण है फिल्मी सितारे भी अपने फैन की पसंद को ध्यान में रखते हुए सोशल मीडिया से जुड़े रहते हैं। बावजूद उनकी जिज्ञासा शांत नहीं होती। इसी बात को ध्यान में रखते हुए गणेश एचएस ने शुरू की FilmySphere.com। गणेश इससे पहले साल 2010 में IdeaCarve Technologies की भी स्थापन कर चुके थे। ये कंपनी सॉफ्टवेयर के विकास और डिजिटल मार्केटिंग का काम देखती थी। साल 2013 में उनकी कंपनी को कन्नड सुपर स्टार गणेश की फिल्म ‘ऑटो राजा’ को प्रमोट करने का मौका मिला। तब उन्होने देखा कि अपने कारोबारी उत्पाद को बढ़ाने के लिए कैसे फिल्मी हस्तियों के साथ क्रिकेट से जुड़ी हस्तियों के प्रचार से मदद मिलती है।

image


गणेश हमेशा से चाहते थे कि वो भी कोई ऐसा उद्यम शुरू करें जिसका अपना उत्पाद हो वो सिर्फ दूसरों को सेवाएं ही ना दे। इससे ये हुआ कि वो FilmySphere.com शुरू करने में सफल हुए। ये एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां पर पिल्मों के शौकिन अपने मनचाहे सितारों, फिल्मों और आने वाले टेलेंट ऑडिशन के साथ साथ नौकरी के बारे में भी जान सकते हैं। FilmySphere.com फेसबुक का भी इस्तेमाल करता है ताकि उसे पता चल सके कि कौन सी फिल्म को लोग ज्यादा पसंद कर रहे हैं। साथ ही उनकी पसंद की फिल्म और सितारे कौन कौन से हैं इतना ही नहीं फेसबुक के जरिये दर्शकों के रिव्यू भी पता चल जाते हैं।

गणेश, सह-संस्थापक, FilmySphere

गणेश, सह-संस्थापक, FilmySphere


गणेश के मुताबिक प्रौद्योगिकी पृष्ठभूमि के बाद वो चाहते थे कि संस्थापक के तौर पर कोई ऐसा व्यक्ति उनके साथ जुड़े जो फिल्मों का अच्छा जानकार हो। इस दौरान उनकी मुलाकात हुई गौरिश एस अक्की से। ये पेज़ थ्री पत्रकार थे। जो FilmySphere को लेकर काफी आश्वस्त दिखे। इस दौरान दोनों के बीच करीब 15 बार मुलाकात हुई जिसके बाद गौरिश भी गणेश के साथ जुड़ गए। इन दोनों लोगों के अलावा FilmySphere में सह-संस्थापक के तौर पर रूद्रेश एचएस भी हैं जो गणेश के भाई हैं।

गौरिश एस अक्की, सह-संस्थापक, filmySphere

गौरिश एस अक्की, सह-संस्थापक, filmySphere


शुरूआत में FilmySphere ने फैसला लिया था कि वो सिर्फ कन्नड, तेलगू और तमिल दर्शकों के साथ फेसबुक में जुडेंगे। इसके लिए इन लोगों ने जांचने की कोशिश की, कि जो ये लोग सोच रहे हैं वो सही भी है। जिसका परिणाम ये निकला कि इनके 26 से ज्यादा फैन फेसबुक पर हो गए। जिनकी संख्या रोज बढ़ रही है। कन्नड फिल्मों के प्रशंसकों की संख्या इसमें सबसे ज्यादा है और जल्द ही ये आंकडा 1लाख तक पहुंचने वाला है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए इन लोगों ने कन्नड मूवी इंडस्ट्री पर खास जोर दिया इसके बाद तमिल, तेलगू और हिन्दी फिल्मों पर भी ये लोग पकड़ बनाये हुए हैं। इनकी कंपनी अब तक कई कन्नड़ फिल्में जैसे रोज़, चंद्रलेखा, बहूपर्क आदि फिल्मों के प्रचार की कमान संभाल चुकी है।

तीन महिने पहले शुरू हुए FilmySphere मुख्य रूप से दो तरीके से काम करता है। पहला ये अपने उपयोगकर्ताओं की सुविधा के मुताबिक खोज में मदद करता है कि कौन सी फिल्मों को देखा जाए। तो वहीं दूसरी ओर युवा कलाकारों को आपस में जोड़ने के साथ फिल्मी बिरादरी से भी जोड़ने का काम करता है। यहां पर कई प्रोडक्शन हॉउस अपने यहां नौकरी के लिए भी आवेदन मांगते हैं। इसके अलावा किसी फिल्म के लिए कलाकारों की जरूरत होती है तो उसकी जानकारी भी यहां पर दी जाती है।

FilmySphere के इस वक्त 700 रजिस्टर्ड यूजर हैं और हर महिने ये संख्या 200 से ज्यादा बढ़ रही है। शुरूआत में इन लोगों ने सोचा था कि अपने इस प्लेटफॉर्म को ऑनलाइन ही रखेंगे लेकिन बाद में इनको लगा कि जब किसी हस्ती का इंटरव्यू लेना होगा तो ऐसी स्थिति में ये संभव नहीं है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए ये लोग ऑनलाइन के साथ साथ ऑफलाइन भी काम कर रहे हैं। कंपनी ने अब तक अलग अलग जगहों पर मशहूर हस्तियों के कई इंटरव्यू किये हैं। अब ये लोग तीन छोटे प्रोडक्शन हॉउस बनाने पर विचार कर रहे हैं। जल्द ही ये लोग मराठी, बंगाली और हॉलिवुड फिल्मों से भी जुड़ने की सोच रहे हैं। गणेश के मुताबिक कंपनी चलाने के लिए फिलहाल इनके पास 12 से 15 महिनों का बजट है उसके बाद ही ये लोग किसी नये निवेश के बारे में सोचेंगे।

Add to
Shares
1
Comments
Share This
Add to
Shares
1
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags