संस्करणों

भंडारगृह क्षेत्र में हर साल 15,000 करोड़ रुपये के निवेश की उम्मीद,निजी इक्विटी खिलाड़ी लगा रहे हैं बड़ा दांव

YS TEAM
8th Aug 2016
Add to
Shares
9
Comments
Share This
Add to
Shares
9
Comments
Share

निजी इक्विटी खिलाड़ी भंडारगृह क्षेत्र पर बड़ा दांव लगा रहे हैं। इस क्षेत्र के सालाना 9 से 11 प्रतिशत की दर से बढ़ने की उम्मीद है। निजी इक्विटी इकाइयां इस अवसर का लाभ उठाने को तत्पर हैं और वे सालाना 15,000 करोड़ रुपये के निवेश की उम्मीद कर रही हैं। विशेषज्ञों ने यह राय व्यक्त की है।

image


एचडीएफसी रीयल्टी के मुख्य कार्यकारी विक्रम गोयल ने पीटीआई से कहा, ‘भंडारगृह उद्योग ने हाल में मांग में काफी तेजी देखी है। विशेषरूप से ई-कामर्स क्षेत्र तथा संगठित खुदरा क्षेत्र द्वारा अपनी आपूर्ति श्रृंखला में लागत को महत्तम करने में प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से यह क्षेत्र तेजी से आगे बढ़ रहा है।’’ माइलस्टोन कैपिटल की कार्यकारी वाइस चेयरमैन रूबी आर्य ने कहा कि निवेश इस क्षेत्र को लेकर काफी सकारात्मक हैं। सरकार के ठोस समर्थन और सुधारों तथा उसके बाद आरईआरए, जीएसटी रीट्स से क्षेत्र के प्रति आकषर्ण बढ़ा है।

प्रॉपटाइगर के अनुसार भंडारगृह क्षेत्र के लिए आपूर्ति 90 करोड़ वर्ग फुट की है, लेकिन ज्यादातर यह असंठित क्षेत्र में है। 2020 तक मांग 150 करोड़ वर्ग फुट होने की उम्मीद है, जबकि वाषिर्क जरूरत 10 से 12.5 करोड़ वर्ग फुट की होगी।

प्रापर्टी सलाहकार जोंस लांग लासाले के अनुसार दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, पुणे, बेंगलुर, चेन्नई, हैदराबाद, कोलकाता और अहमदाबाद की 2015 में संगठित ग्रेड ए और ग्रेड बी की भंडारगृह आपूर्ति 9.7 करोड़ वर्ग फुट रही। इसके 2016 के अंत तक 11.6 करोड़ वर्ग फुट पर पहुंचने की उम्मीद है।

पीटीआई

Add to
Shares
9
Comments
Share This
Add to
Shares
9
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest Stories

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें