संस्करणों

गरीबोन्मुखी ‘स्टार्टअप इंडिया’ का खाका 16 जनवरी को पेश करेगी सरकार : मोदी

28th Dec 2015
Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share

गरीबों और नौजवानों के लिए ‘स्टार्टअप इंडिया’ योजना को बड़ा एवं नवोन्मेषी अवसर बताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सरकार अगले वर्ष 16 जनवरी को ‘स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया’ का खाका पेश करेगी ।

आकाशवाणी पर ‘मन की बात’ कार्यक्रम में अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, ‘‘16 जनवरी को भारत सरकार ‘स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया,’ की पूरी कार्य योजना पेश करने वाली है। यह कैसे होगा? क्या होगा? क्यों होगा? उसका एक खाका आपके सामने प्रस्तुत किया जाएगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ और इस कार्यक्रम में देशभर के आईआईटी, आईआईआईएम, सभी केंद्रीय विश्वविद्यालय, एनआईटी, जहां जहां भी युवा पीढी हैं, उन सबको सीधे सम्पर्क के द्वारा इस कार्यक्रम में जोड़ा जाएगा।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि स्टार्टअप के बारे में हमारे यहां एक सोच बंधी बंधाई बन गयी है। जैसे डिजिटल दुनिया हो या आईटी पेशा हो, यह स्टार्टअप इन्हीं लोगों के लिए है, ऐसी बात नहीं है।

image


मोदी ने कहा, ‘‘ हमें तो उसमें भारत की आवश्यकताओं के अनुसार बदलाव लाना है । गरीब व्यक्ति कहीं मजदूरी करता है, उसको शारीरिक श्रम करना पड़ता है, लेकिन कोई नौजवाननवोन्मेष के द्वारा एक ऐसी चीज बना दे कि गरीब को मजदूरी में थोड़ी सुविधा हो जाये। मैं इसको भी स्टार्टअप मानता हूं।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि क्या भारत स्टार्टअप राजधानी बन सकता है? क्या हमारे राज्यों में नौजवानों के लिए एक उत्तम अवसर के रूप में नये नये स्टार्टअप, विनिर्माण क्षेत्र, सेवा क्षेत्र, कृषि क्षेत्र आदि में नये नये नवोन्मेष लागू हो सकता है?

मोदी ने कहा कि हर चीज में नयापन, नया तरीका, नयी सोच, दुनिया नवोन्मेष के बिना आगे नहीं बढ़ती है। स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया युवा पीढी के लिए एक बहुत बड़ा अवसर लेकर आयी है। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं बैंक को कहूंगा कि ऐसे नौजवान को मदद करो, मैं उसको भी कहूंगा कि हिम्मत से आगे बढो । मार्केट मिल जायेगा। उसी प्रकार से क्या हमारे युवा पीढ़ी की बुद्धि संपदा कुछ ही शहरों में सीमित है क्या ? ये सोच गलत है। हिन्दुस्तान के हर कोने में नौजवानों के पास प्रतिभा है, उन्हें अवसर चाहिये।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि यह स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया कुछ शहरों में सीमित नहीं रहना चाहिये, हिन्दुस्तान के हर कोने में फैलना चाहिये। और इसे मैं राज्य सरकारों से भी आग्रह कर रहा हूं कि इस बात को हम आगे बढाएं। 16 जनवरी को मैं जरूर आप सबसे रूबरू हो करके विस्तार से इस विषय में बातचीत करूंगा और हमेशा आपके सुझवों का स्वागत रहेगा।’’ उन्होंने कहा कि 15 अगस्त को लाल किले से मैंने स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया के संबंध में एक प्राथमिक चर्चा की थी। उसके बाद सरकार के सभी विभागों में ये बात चल पड़ी।


पीटीआई

Add to
Shares
0
Comments
Share This
Add to
Shares
0
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags