संस्करणों
विविध

जापान के पीएम ने कहा, मोदी मेरे सबसे भरोसेमंद दोस्तों में से एक

29th Oct 2018
Add to
Shares
47
Comments
Share This
Add to
Shares
47
Comments
Share

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों जापान की यात्रा पर हैं। जापान, भारत का मूल्यवान साझेदार है। हमारे बीच विशेष रणनीतिक और वैश्विक साझेदारी है। जापान के साथ हमारे आर्थिक और रणनीतिक रिश्ते हैं, जिनमें हाल के वर्षों में आमूल परिवर्तन आया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शिंजो आबे के साथ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शिंजो आबे के साथ


भारत के प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी की यह तीसरी जापान यात्रा है। उन्होंने कहा, जब भी जापान आने का मौका मिला तो यहां मुझे एक आत्मीयता का अनुभव होता है। वो इसलिए क्योंकि भारत और जापान के बीच संबंधों की जड़ें पंथ से लेकर प्रवृति तक हैं। 

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों जापान की यात्रा पर हैं। जापान, भारत का मूल्यवान साझेदार है। हमारे बीच विशेष रणनीतिक और वैश्विक साझेदारी है। जापान के साथ हमारे आर्थिक और रणनीतिक रिश्ते हैं, जिनमें हाल के वर्षों में आमूल परिवर्तन आया है। प्रधानमंत्री के जापान पहुंचने पर वहां के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने हा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके सबसे “विश्वसनीय” दोस्तों में से एक हैं और भारतीय नेता के साथ मिलकर वह हिन्द-प्रशांत क्षेत्र को खुला एवं मुक्त बनाने के लिए द्विपक्षीय सहयोग मजबूत करना चाहेंगे। जापान में दोनों नेताओं के बीच होने वाली शिखर बैठक वाले दिन भारतीय समाचारपत्रों में प्रकाशित एक संदेश में आबे ने कहा कि भारत एक वैश्विक शक्ति के तौर पर क्षेत्र एवं विश्व समृद्धि को प्रबल बना रहा है।

पीटीआई के मुताबिक जापानी प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने महान देश के एक उत्कृष्ट नेता हैं। उन्होंने कहा, 'मेरा हमेशा से मानना रहा है और मैंने कहा है कि जापान एवं भारत के बीच के संबंध विश्व में सबसे बड़ी संभावना से समृद्ध है।' आबे ने कहा कि जापान और भारत का सहयोग सुरक्षा, निवेश, सूचना प्रौद्योगिकी, कृषि, स्वास्थ्य, पर्यावरण और पर्यटन जैसे कई क्षेत्रों में लगातार बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा, 'हम सभी क्षेत्रों में अच्छी स्थिति में हैं और जापान भारत की आर्थिक वृद्धि और उसकी (जापान की) विश्व अग्रणी तकनीकों का इस्तेमाल कर हाई-स्पीड रेल, भूमिगत मार्गों एवं अन्य अवसंरचनाओं के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मेक-इन-इंडिया पहल को समर्थन देने के लिए प्रतिबद्ध है।' आबे ने कहा कि जिस दिन सहयोग के माध्यम से जापानी शिंकनसेन बुलेट ट्रेनें मुंबई से अहमदाबाद के बीच दौड़ेंगी वह दिन भारत-जापान की भविष्य में दोस्ती का चमकता हुआ संकेत होगा।

भारत के प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी की यह तीसरी जापान यात्रा है। उन्होंने कहा, जब भी जापान आने का मौका मिला तो यहां मुझे एक आत्मीयता का अनुभव होता है। वो इसलिए क्योंकि भारत और जापान के बीच संबंधों की जड़ें पंथ से लेकर प्रवृति तक हैं। हिंदू हो या बौद्ध मत, हमारी विरासत साझा है। हमारे आराध्य से लेकर अक्षर तक में इस विरासत की झलक हम प्रति पल अनुभव करते है।

जापानी नेता के संदेश में कहा गया, 'कल से जापान के दौरे पर आए प्रधानमंत्री मोदी मेरे सबसे भरोसेमंद दोस्तों में से एक हैं। पूरी जापान सरकार की ओर से गर्मजोशी से उनका स्वागत करना मेरा सौभाग्य है।' आबे ने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिलकर मैं खुले एवं मुक्त हिन्द-प्रशांत क्षेत्र के लिए जापान-भारत के सहयोग को मजबूत करना चाहूंगा।'

इस मौके पर नरेंद्र मोदी ने कहा, 'भारत की जनता के प्रति, मेरे प्रति, प्रधानमंत्री अबे का प्यार, उनका स्नेह हमेशा से रहा है। इस बार इसको नया आयाम देते हुए जिस प्रकार का विशेष सत्कार उन्होंने किया है, इसके लिए भी मैं प्रधानमंत्री जी का और जापान की जनता का आभार व्यक्त करता हूं।'

यह भी पढ़ें: ‘चलते-फिरते’ क्लासरूम्स के ज़रिए पिछड़े बच्चों का भविष्य संवार रहा यह एनजीओ

Add to
Shares
47
Comments
Share This
Add to
Shares
47
Comments
Share
Report an issue
Authors

Related Tags