एडटेक यूनिकॉर्न LEAD ने 80-90 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला

मुंबई स्थित एडटेक प्लेटफॉर्म ने 80-90 के बीच कर्मचारियों को नौकरी से निकाला है. ये कर्मचारी सेल्स, मार्केटिंग औऱ ऑपरेशंस से जुड़े थे. LEAD ने छंटनी की पुष्टि की है लेकिन उसने सही संख्या बताने से इनकार कर दिया.
0 CLAPS
0

फंडिंग जुटाने में समस्याओं का सामना कर रहे एडटेक मार्केट के लिए एक और बुरी खबर आई है. BYJU'Sऔर Unacademy  जैसी दिग्गज एडटेक प्लेटफॉर्म्स के बाद एक और एडटेक प्लेटफॉर्म LEAD (पहले LEAD School) ने करीब 90 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है.

मुंबई स्थित एडटेक प्लेटफॉर्म ने 80-90 के बीच कर्मचारियों को नौकरी से निकाला है. ये कर्मचारी सेल्स, मार्केटिंग औऱ ऑपरेशंस से जुड़े थे. LEAD ने छंटनी की पुष्टि की है लेकिन उसने सही संख्या बताने से इनकार कर दिया. सूत्रों के अनुसार, 48 लोगों की अकेडमिक टीम की संख्या घटकर 23 रह गई है.

कंपनी के एक प्रवक्ता ने एक ईमेल स्टेटमेंट में कहा कि हमने पिछले महीने अपना परफॉर्मेंस अप्रेजल प्रॉसेस समाप्त कर लिया है और हर साल हम इस समय के दौरान कुछ बदलाव करते हैं. इसके कारण हमारे वर्कफोर्स में 100 से कम लोगों की छंटनी की गई है. कंपनी में कुल कर्मचारियों की संख्या 2200 है.

LEAD स्कूलों के मौजूदा इंफ्रास्ट्रक्टर को डिजिटल संसाधन, किताबें और डिजाइनिंग कोर्स, टीचर ट्रेनिंग, टीचर मैनुअल, ERPs और मैथ-साइंस किट भी प्रदान करता है.

बता दें कि, LEAD ने इस साल फरवरी में 100 मिलियन डॉलर की फंडिंग जुटाने के बाद यूनिकॉर्न बन गया था. उसने यह फंडिंग ने अपनी E-राउंड के दौरान WestBridge Capital और GSV Ventures से जुटाई थी.

LEAD ने कुल मिलाकर 170 मिलियन डॉलर जुटाए हैं और इसका कुल वैल्यूएशन 1.1 बिलियन डॉलर था. कंपनी ने फाइनेंशियल ईयर 2021 में 57.1 करोड़ रुपये के ऑपरेटिंग रिवेन्यू की सूचना दी थी. फाइनेंशियल ईयर 2020 की तुलना में फाइनेंशियल ईयर 21 में इसका वार्षिक घाटा 153 फीसदी बढ़कर 126 करोड़ रुपये हो गया.

इस छंटनी के साथ, LEAD अपने साथी यूनिकॉर्न बायजू, अनएकेडमी और वेदांतु के साथ छंटनी करने वाली एडटेक कंपनियों की सूची में शामिल हो गया है.

6 हजार कर्मचारियों को निकाल चुकी हैं एडटेक कंपनियां

साल 2022 की शुरुआत से अब तक 6 हजार कर्मचारियों को एडटेक कंपनियां निकाल चुकी हैं. आर्थिक संकट का हवाला देते हुए फरवरी में Lido Learning ने 1200 कर्मचारियों को निकाल दिया था.

वहीं, बायजू ने करीब 2,500 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला है. सॉफ्टबैंक समर्थित अनअकेडमी ने सेल्स और मार्केटिंग और कुछ कॉन्ट्रैक्चुअल कर्मचारियों को मिलाकर 750 लोगों को निकाला है. Vedantu ने भी तीन चरणों में 700 से अधिक कर्मचारियों को निकाल दिया।

FrontRow और Udayy ने क्रमश: 300 और 100 कर्मचारियों को निकाला है. उदय की को-फाउंडर सौम्या यादव ने तो यहां तक कहा दिया है कि वह अपना कारोबार बंद कर देंगी और 8.5 मिलियन डॉलर की फंडिंग निवेशकों को वापस लौटा देंगी. Eruditus ने भी जून 2022 में 80 लोगों को कंपनी से निकाला था. जबकि 2021 में इस 1300 लोगों को हायर किया था.

(इस ख़बर को LEAD द्वारा दी जानकारी के बाद अपडेट किया गया है)