देश में रोजगार के अवसर बढ़ रहे हैं: केन्‍द्रीय मंत्री भूपेन्‍द्र यादव

By रविकांत पारीक
February 13, 2022, Updated on : Sun Feb 13 2022 03:19:36 GMT+0000
देश में रोजगार के अवसर बढ़ रहे हैं: केन्‍द्रीय मंत्री भूपेन्‍द्र यादव
केन्‍द्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेन्‍द्र यादव ने त्रैमासिक रोजगार सर्वे (QES) तथा EPFO पेरॉल डाटा की हाल की सर्वे रिपोर्टों को उल्‍लेखित करते हुए कहा कि देश में रोजगार के अवसर बढ़ रहे हैं।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

केन्‍द्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेन्‍द्र यादव ने त्रैमासिक रोजगार सर्वे (QES) तथा EPFO पेरॉल डाटा की हाल की सर्वे रिपोर्टों को उल्‍लेखित करते हुए कहा कि देश में रोजगार के अवसर बढ़ रहे हैं और प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में सरकार संगठित एवं असंगठित दोनों ही क्षेत्रों में कामगारों एवं श्रमिकों के कल्‍याण के लिए प्रतिबद्ध है।


शनिवार को गुरुग्राम में ESIC की 187वीं बैठक को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि ESIC अस्‍पतालों द्वारा श्रमिकों की स्‍वास्‍थ्‍य जांच की जाएगी तथा फैक्ट्रियों/एमएसएमई कलस्‍टरों को एक यूनिट समझा जाएगा तथा ESIC श्रमिकों की बचाव संबंधी स्‍वास्‍थ्‍य जांच के लिए उनके साथ समन्‍वय करेगा। वर्तमान में जारी प्रायोगिक परियोजना के हिस्‍से के रूप में कुल 15 शहरों में स्‍वास्‍थ्‍य जांच का आयोजन किया जाएगा।

देश में रोजगार के अवसर बढ़ रहे हैं: केन्‍द्रीय मंत्री भूपेन्‍द्र यादव

भूपेन्‍द्र यादव ने यह भी बताया कि ESIC की लंबित परियोजनाओं तथा ESIC के अस्‍पतालों के निर्माण कार्य में तेजी लाई जाएगी तथा चिकित्‍सकों एवं कर्मचारियों की उपलब्‍धता का ध्‍यान रखा जाएगा। उन्‍होंने चिकित्‍सकों से निर्धनों की सेवा करने वाले ESIC अस्‍पतालों में नियुक्त होने की अपील की तथा आश्‍वासन दिया कि चिकित्‍सकों तथा कर्मचारियों के पारिश्रमिक में ESIC कॉरपोरेशन द्वारा संशोधन किया जाएगा। ESIC कर्मचारियों की स्‍थानांतरण नीति की चर्चा करते हुए उन्‍होंने बताया कि शीघ्र ही एक खुली, डिजिटल तथा पारदर्शी स्‍थानांतरण नीति लागू की जाएगी।


यादव ने दो ESIC प्रबंधन डैशबोर्डों अर्थात् निर्माण परियोजना डैशबोर्ड तथा अस्‍पताल डैशबोर्ड का उद्घाटन किया। स्‍वास्‍थ्‍य डैशबोर्ड ESIC अस्‍पताल के निष्‍पादन से संबंधित प्रमुख सूचना की झलक प्रदर्शित करेगा। यह दर्शकों को अस्‍पताल डैशबोर्ड पर वर्तमान ऑक्‍यूपेंसी तथा ओपीडी में रोगियों की संख्‍या की सूचना भी उपलब्‍ध कराएगा। निर्माण डैशबोर्ड ESIC की विभिन्‍न निर्माण परियोजनाओं के बारे में मुख्‍य सूचना उपलब्‍ध कराएगा। यादव ने जोर देकर कहा कि दोनो डैशबोर्ड न केवल बेहतर निगरानी में सहायता करेंगे बल्कि इनका परिणाम दक्ष एवं प्रभावी कार्यान्‍वयन के रूप में भी सामने आएगा।


इस अवसर पर यादव ने 2021 के पैरालिम्पिक्‍स स्‍वर्ण पदक विजेता प्रमोद भगत तथा रजत पदक विजेता भविना पटेल को बधाई दी एवं उन्‍हें सम्‍मानित किया। उन्‍हें क्रमश: एक करोड़ रुपए तथा 50 लाख रुपए के चेक तथा प्रशस्ति पत्र दिए गए। दोनों खि‍लाडि़यों ने मंत्री तथा ESIC को सतत समर्थन के लिए धन्‍यवाद दिया। उन्‍होंने आगे आने वाले समय में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए और प्रोत्‍साहन तथा सहायता दिए जाने के लिए यादव से मुलाकात की।

भविना पटेल

गुरुग्राम में ESIC की दो दिवसीय 187वीं बैठक में किए गए विचार-विमर्शों तथा लिए गए निर्णयों की चर्चा करते हुए केन्‍द्रीय मंत्री ने बताया कि ESIC बैठक में ऐसा महसूस किया गया कि ESIC अस्‍पतालों में चिकित्‍सकों एवं कर्मचारियों की भारी कमी है। इसलिए निर्णय लिया गया कि इस कैलेंडर वर्ष में पांच हजार चिकित्‍सकों की नियुक्ति करते हुए शीघ्र ही रिक्तियां भरी जाएंगी।


इस अवसर पर श्रम एवं रोजगार मंत्री रामेश्‍वर तेली ने बिना कवर किए गए क्षेत्रों में बगान श्रमिकों को चिकित्‍सा लाभ दिए जाने की बात की तथा देशभर में कामगारों एवं श्रमिकों के कल्‍याण के लिए सरकार की विभिन्‍न योजनाओं के बारे में जानकारी दी।


ESIC कॉरपोरेशन की 187वीं बैठक में नियोक्‍ताओं, कर्मचारियों, सरकारी प्रतिनिधियों तथा चिकित्‍सा क्षेत्र के विशेषज्ञों के सभी प्रतिनिधियों के अतिरिक्‍त पश्चिम बंगाल, असम, महाराष्‍ट्र, उत्‍तराखंड, उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍य सचिवों की प्रभावी भागीदारी देखी गई। कॉरपोरेशन के अध्‍यक्ष भूपेन्‍द्र यादव ने सभी प्रतिभागियों को धन्‍यवाद दिया तथा पेशेवर एवं समावेशी तरीके से बैठकों को आयोजित करने के लिए सचिव (श्रम एवं रोजगार) सुनील बर्थवाल तथा ESIC के महानिदेशक मुखमीत सिंह भाटिया के प्रयासों की सराहना की।