9 नवंबर को खुलेगा फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस का IPO, इश्यू प्राइस का हो गया खुलासा

By yourstory हिन्दी
November 04, 2022, Updated on : Fri Nov 04 2022 11:50:31 GMT+0000
9 नवंबर को खुलेगा फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस का IPO, इश्यू प्राइस का हो गया खुलासा
यह IPO पूरी तरह से बिक्री पेशकश (OFS) होगा, जिसमें मौजूदा शेयरधारक और प्रमोटर्स 1,960 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री करेंगे.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी (NBFC) फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस (Five Star Business Finance) का 1,960 करोड़ रुपये का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) 9 नवंबर को खुल रहा है. इसके लिए मूल्य दायरा 450-474 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है. आईपीओ 11 नवंबर को बंद होगा. कंपनी ने एक बयान में बताया कि एंकर निवेशकों के लिए बोली 7 नवंबर को खुलेगी.


यह आईपीओ पूरी तरह से बिक्री पेशकश (OFS) होगा, जिसमें मौजूदा शेयरधारक और प्रमोटर्स 1,960 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री करेंगे. निवेशक न्यूनतम 31 इक्विटी शेयरों और उसके बाद मल्टीप्लाई में बोली लगा सकते हैं. आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, एडेलविस फाइनेंशियल सर्विसेज और नोमुरा फाइनेंशियल एडवाइजरी एंड सिक्योरिटीज (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड, आईपीओ के लिए बुक-रनिंग लीड मैनेजर हैं.

क्या करती है NBFC

फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस, छोटे उद्यमियों और स्वरोजगार वाले लोगों को व्यवसाय ऋण प्रदान करती है. कंपनी की दक्षिण भारत में मजबूत मौजूदगी है. इस NBFC को TPG, Matrix Partners, Norwest Ventures, Sequoia और KKR जैसे निवेशकों का सहयोग प्राप्त है. वर्तमान में कंपनी में, टीपीजी एशिया के पास 21.45 प्रतिशत हिस्सेदारी है, मैट्रिक्स पार्टनर्स के पास 12.67 प्रतिशत, नॉर्वे वेंचर के पास 10.17 प्रतिशत और एससीआई निवेश कंपनी के पास 8.79 प्रतिशत हिस्सेदारी है.

1984 में शुरू किया था कारोबार

एनबीएफसी ने 1984 में उपभोक्ता ऋण और व्हीकल फाइनेंस पर ध्यान केंद्रित करने के साथ संचालन शुरू किया था. जून 2022 तक तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक का एनबीएफसी के समग्र पोर्टफोलियो में 85 प्रतिशत योगदान था. फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस का 150 जिलों, 8 राज्यों और 1 केन्द्र शासित प्रदेश में 311 शाखाओं का नेटवर्क है. 6,077 कर्मचारियों की वर्कफोर्स के साथ इसके लाइव खाते इस वर्ष जून तक बढ़कर 2.3 लाख हो गए, जो वित्त वर्ष 2017—18 में 33,157 थे. ऋणदाता ने वित्त वर्ष 2021—22 में कुल आय में 19.49 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की और यह 1,256.16 रुपये हो गई. कंपनी का शुद्ध लाभ इस अवधि के दौरान बढ़कर ​​453.54 करोड़ रुपये हो गया.

एक दिन पहले ही आए हैं ये दोनों IPO

3 नवंबर को बीकाजी फूड्स इंटरनेशनल लिमिटेड और मेदांता ब्रांड के तहत अस्पतालों का संचालन करने वाली ग्लोबल हेल्थ का आईपीओ खुला है. बीकाजी फूड्स के आईपीओ को पेशकश के पहले दिन 67 प्रतिशत सब्सक्रिप्शन प्राप्त हुआ. एनएसई पर उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, 1,38,43,650 शेयरों की पेशकश पर कुल 2,06,36,790 बोलियां प्राप्त हुईं हैं. खुदरा व्यक्तिगत निवेशकों (आरआईआई) के हिस्से को 1.09 गुना, गैर-संस्थागत निवेशकों को 58 प्रतिशत और पात्र संस्थागत खरीदार श्रेणी को (क्यूआईबी) को एक प्रतिशत सब्सक्रिप्शन मिला. कंपनी का आईपीओ पूरी तरह बिक्री पेशकश (ओएफएस) पर आधारित है और मूल्य दायरा 285 से 300 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है. आईपीओ से 881.22 करोड़ रुपये जुटने की उम्मीद है.


वहीं ग्लोबल हेल्थ के आईपीओ को पहले दिन 26 प्रतिशत सब्सक्रिप्शन मिला. एनएसई के पास उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, 4,67,42,397 शेयरों की पेशकश पर 1,19,50,268 शेयरों के लिए बोलियां मिलीं. पात्र संस्थागत खरीदार खंड को (क्यूआईबी) को 54 प्रतिशत सब्सक्रिप्शन, गैर-संस्थागत निवेशकों की श्रेणी को 18 प्रतिशत और खुदरा व्यक्तिगत निवेशकों (आरआईआई) के हिस्से को 12 प्रतिशत सब्सक्रिप्शन मिला है. आईपीओ के तहत 500 करोड़ रुपये के नये शेयर जारी किये गए हैं. इसके अलावा इसमें 5.08 करोड़ शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) शामिल है. मूल्य दायरा 319 से 336 रुपये प्रति शेयर का तय किया गया है. कंपनी को आईपीओ के जरिये 2,206 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है.



Edited by Ritika Singh