लचीली इलेक्ट्रॉनिक चिप विकसित, कृत्रिम त्वचा के निर्माण में हो सकती है सहायक

By भाषा पीटीआई
January 27, 2020, Updated on : Mon Jan 27 2020 07:01:30 GMT+0000
लचीली इलेक्ट्रॉनिक चिप विकसित, कृत्रिम त्वचा के निर्माण में हो सकती है सहायक
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अनुसंधानकर्ताओं ने चुंबकीय सेंसर और कार्बनिक युक्त पॉलीमर आधारित सर्किट से बनी पहली लचीली इलेक्ट्रॉनिक चिप विकसित की है जो कृत्रिम त्वचा के विकास का मार्ग प्रशस्त कर सकती है।


k

फोटो क्रेडिट: jagran



लंदन, अनुसंधानकर्ताओं ने चुंबकीय सेंसर और कार्बनिक युक्त पॉलीमर आधारित सर्किट से बनी पहली लचीली इलेक्ट्रॉनिक चिप विकसित की है जो कृत्रिम त्वचा के विकास का मार्ग प्रशस्त कर सकती है।


इस बेहद महीन एकीकृत सर्किट या माइक्रोचिप का जिक्र ‘साइंस’ पत्रिका में किया गया है जो एक ही प्लेटफॉर्म पर एकमात्र एम्प्लीफायर, चुंबकीय सेंसर समेत कई छोटे-छोटे अव्ययों से मिलकर बनी एक मैट्रिक्स प्रणाली है।


जर्मनी में लिबनिज इंस्टीट्यूट फॉर सॉलिड स्टेट एंड मैटेरियल्स रिसर्च के अनुसंधानकर्ताओं समेत वैज्ञानिकों के अनुसार लचीली इलेक्ट्रॉनिक सर्किट में उच्च चुंबकीय संवेदनशीलता होती है।


उन्होंने कहा कि यह गांठ पड़ने और मुड़ने जैसी यांत्रिक विकृति से भी रहित है।


अनुसंधानकर्ताओं के अनुसार इसका मैट्रिक्स चुंबकीय वस्तुओं की स्थिति एवं गति की वास्तविक समय में एनकोडिंग करने के साथ चुंबकीय क्षेत्र का प्रभावी मानचित्रण कर सकता है।


लिबनिज इंस्टीट्यूट फॉर सॉलिड स्टेट एंड मैटेरियल्स रिसर्च से अध्ययन के सह-लेखक ओलिवर जी श्मिट ने कहा,

‘‘हमारी पहली एकीकृत चुंबकीय कार्यक्षमता यह साबित करती है कि लचीली चुंबकीय सेंसर से युक्त महीन फिल्म को जटिल कार्बनिक सर्किट के अंदर शामिल किया जा सकता है।’’


अनुसंधानकर्ताओं का मानना है कि इस अध्ययन से लचीली इलेक्ट्रॉनिक्स की नयी पीढ़ी के विकास का मार्ग प्रशस्त हो सकता है जिसका इस्तेमाल कृत्रिम इलेक्ट्रॉनिक त्वचा, नर्म सामग्री के साथ रोबोटिक्स और जैव चिकित्सा विज्ञान जैसे प्रयोगों में हो सकता है।


Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close