कर्मचारियों को रोकने के लिए 1.50 लाख रुपये तक का बोनस दे रही Foxconn

By रविकांत पारीक
November 28, 2022, Updated on : Mon Nov 28 2022 08:50:23 GMT+0000
कर्मचारियों को रोकने के लिए 1.50 लाख रुपये तक का बोनस दे रही Foxconn
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

चीन में Apple के सबसे बड़े प्लांट फॉक्सकॉन (Foxconn) में शुरु हुए कर्मचारियों के विरोध के बाद, कई ने प्लांट छोड़ दिया. अब कंपनी ने फॉक्सकॉन प्लांट में कर्मचारियों को रोकने के लिए 1800 डॉलर (1.47 लाख रुपये) तक के बोनस का ऐलान किया है.


रिपोर्ट्स के मुताबिक, 20,000 हजार से ज्यादा कर्मचारियों ने चीन के हेनान प्रांत के झेंगझोऊ स्थित फॉक्‍सकॉन फैक्‍ट्री को छोड़ दिया है. इनमें से ज्यादातर कर्मचारी नए थे, जो फिलहाल प्रोडक्शन लाइन पर काम नहीं कर रहे थे. 

 

ब्लूमबर्ग की खबर के मुताबिक, कंपनी दिसंबर और जनवरी में उन कर्मचारियों के वेतन में 13,000 युआन प्रति माह की बढ़ोतरी करेगी, जो नवंबर या उससे पहले की शुरुआत में शामिल हुए थे.

 

पिछले हफ्ते, फॉक्सकॉन ने अपने उन कर्मचारियों के लिए भी ऐसे ही बोनस की घोषणा की थी जो कि हिंसक प्रदर्शन में शामिल हुए थे और प्लांट छोड़ना चाहते थे.

 

कंपनी का इस तरह से असामान्य रूप से बोनस का ऑफर देना इस बात की पुष्टि करता है कि इस समय फॉक्सकॉन को कर्मचारियों की जरूरत है ताकि काम को फिर से गति दी जा सके.

 

वहीं Apple ने कहा है कि वह संचालन बहाल करने के लिए फॉक्सकॉन के साथ मिलकर काम कर रहा है और दोनों कंपनियों का कहना है कि वो कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध हैं.

 

iPhone 14 Pro और Pro Max वो फोन हैं, जो इस साल सबसे अधिक डिमांड में हैं. वहीं चीन में स्थापित ऐपल के सबसे बड़े प्लांट में कोविड के चलते अप्रत्याशित नीति और अनिश्चित व्यापार संबंधों ने ऐपल के प्रोडक्शन को प्रभावित किया है. इस बारे में अमेरिकी कंपनी ने इसी महीने चेतावनी भी दी थी कि उसके लेटेस्ट प्रीमियम आईफ़ोन की शिपमेंट पहले की अपेक्षा कम होगी.

 

 वहीं मॉर्गन स्टेनली के विश्लेषकों के अनुसार इस महीने आईफोन प्रो आउटपुट में 6 मिलियन यूनिट की कटौती देखने को मिल सकती है.


आपको बता दें कि ताइवान की कंपनी फॉक्‍सकॉन ने गुरुवार को इस्तीफा देने वाले कर्मचारियों को 10,000 युआन (yuan) यानी 1,396 डॉलर देने की पेशकश की थी. उसके बाद इन कर्मचारियों ने गुस्से में प्लांट छोड़ दिया. कंपनी ने नए नियुक्त कर्मचारियों से वेतन संबंधी टेक्निकल गलती के लिए मांफी मांगी थी और इन कर्मचारियों से इस्तीफे के लिए कहा था. हालांकि कर्मचारियों का कहना है कि कंपनी के इस रवैये के पीछे की वजह पिछले दिनों श्रमिकों और पुलिसकर्मियों के बीच हुई हिंसक झड़प है.


मध्‍य चीन में स्थित फॉक्‍सकॉन की इस फैक्‍ट्री को आईफोन सिटी भी कहा जाता है. यहां करीब 2 लाख से ज्‍यादा कर्मचारी काम करते हैं. इस फैक्‍ट्री में दुनिया का सबसे ज्‍यादा आईफोन असेंबल किया जाता है. झेंगझोऊ इलाके में कोविड-19 के कई मामले सामने आने के बाद से ही सख्‍त लॉकडाउन लगा दिया गया है. फॉक्‍सकॉन फैक्‍ट्री में भी कर्मचारी इन प्रतिबंधों के बीच ही काम करने को मजबूर हैं.

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close