[फंडिंग अलर्ट] D2C कॉफी ब्रांड Sleepy Owl ने सीरीज ए राउंड में जुटाए 6.5 मिलियन डॉलर

नई फंडिंग के साथ, Sleepy Owl का लक्ष्य अपनी कोर टीम को मजबूत करना, अपने ब्रू की बढ़ती मांग के लिए पूरे भारत में एक मजबूत डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क बनाना और अपनी मार्केटिंग पहल को मजबूत करना है।
0 CLAPS
0

दिल्ली स्थित D2C ब्रांड Sleepy Owl Coffee ने सोमवार को सीरीज ए राउंड में 65 लाख डॉलर की ग्रोथ कैपिटल जुटाई है। इस लेटेस्ट राउंड का नेतृत्व मौजूदा निवेशक Rukam Capital ने किया था। इसके साथ ही मौजूदा निवेशक DSG Consumer Partners भी इस राउंड में शामिल थे। वहीं, Dexter Capital इस सौदे पर विशेष वित्तीय सलाहकार था।

अजय थांडी, अरमान सूद और अश्वजीत सिंह द्वारा सह-स्थापित, जिन्होंने अपने उद्यम के निर्माण के अपने साझा सपने को आगे बढ़ाने के लिए अपनी कॉर्पोरेट नौकरियां छोड़ दीं। तीनों को वर्ष 2020 के लिए प्रतिष्ठित ‘Forbes 30 under 30 India’ में भी फीचर किया गया है।

नई फंडिंग के साथ, Sleepy Owl का लक्ष्य अपनी कोर टीम को मजबूत करना, अपने ब्रू की बढ़ती मांग के लिए पूरे भारत में एक मजबूत डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क बनाना और अपनी मार्केटिंग पहल को मजबूत करना है।

Sleepy Owl के को-फाउंडर अजय थांडी ने फंडिंग पर बात करते हुए कहा,

“महामारी ने हमारे लिए एक गुलेल (catapult) की भूमिका निभाई। इसने हमें लक्ष्य पर निशाना लगाने के लिए कुछ कदम पीछे हटने के लिए मजबूर किया। हम समस्या-समाधान में चुस्त और तेज थे, और अधिक संख्या के साथ ट्रैक पर वापस आने में सक्षम थे। Sleepy Owl में, हम लेटेस्ट राउंड की फंडिंग प्राप्त करने के लिए उत्साहित हैं क्योंकि यह हमारे व्यापार मॉडल और भारतीय बाजार में विकास क्षमता में निवेशकों के विश्वास को दर्शाता है।

हम भारत भर में अपने मौजूदा खुदरा बाजारों में गहराई तक जाने के लिए फंडिंग का उपयोग करने की योजना बना रहे हैं और हम आगे बढ़ रहे हैं।”

Rukam Capital शुरुआती चरण के उपभोक्ता उत्पादों और सेवा कंपनियों में निवेश करती है, जिनके पास असाधारण विकास की संभावनाएं हैं और पर्याप्त रिटर्न की क्षमता प्रदर्शित करती हैं।

निवेश पर टिप्पणी करते हुए Rukam Capital की मैनेजिंग पार्टनर अर्चना जहांगीरदार ने कहा,

“हम ब्रांड की अखिल भारतीय उपस्थिति को और मजबूत करने के लिए Sleepy Owl Coffee और DSG Consumer Partners के साथ साझेदारी करके रोमांचित हैं। महामारी के बावजूद, कंपनी ने 2016 में अपनी शुरुआत के बाद से एक मजबूत विकास पैटर्न का प्रदर्शन किया है।

इस निवेश के साथ, हमें विश्वास है कि Sleepy Owl को अपने व्यवसाय को और बढ़ाने और परिचालन का विस्तार करने के लिए आवश्यक प्रोत्साहन मिलेगा। ब्रांड के पास कॉफी व्यवसाय श्रेणी के भीतर सबसे तेजी से बढ़ते प्रारूपों में से एक होने की बहुत बड़ी क्षमता है।"

DSG Consumer Partners के मैनेजिंग डायरेक्टर दीपक आई. शाहदादपुरी ने कहा,

"Sleepy Owl की वृद्धि निरंतर इनोवेशन और एक जुनून से प्रेरित है, जो भारत में सबसे अधिक पसंद किया जाने वाला कॉफी ब्रांड है। 2018 में हमारे पहले निवेश के बाद से, फाउंडर्स अजय, अरमान और अश्वजीत ने अपने प्रोडक्ट पोर्टफोलियो का विस्तार कोल्ड ब्रू से हॉट ब्रू बैग, ड्रिप कॉफी फॉर्मेट, रेडी-टू-ड्रिंक फॉर्मेट, फ्लेवर्ड ग्राउंड कॉफी तक किया है और हाल ही में एक सदस्यता सेवा शुरू की है। जैसे-जैसे यह बढ़ता है, Sleepy Owl अपने प्रोडक्ट्स को टिकाऊ बनाने, प्लास्टिक को कम करने और कागज और एल्यूमीनियम का उपयोग करने की दिशा में काम कर रहा है। वे अधिक से अधिक भारतीयों को कॉफी से परिचित कराने के अपने मिशन पर कायम हैं।"

बाजार का हाल

स्टार्टअप के अनुसार, वैश्विक कॉफी बाजार का मूल्य 2020 में 102.02 बिलियन डॉलर था, और 2021-2026 की पूर्वानुमान अवधि के दौरान इसके 4.28 प्रतिशत के CAGR तक पहुंचने का अनुमान है।

कंपनी को मार्च 2022 तक 60 करोड़ रुपये के ARR तक पहुँचने की उम्मीद है।

Sleepy Owl Coffee की दिल्ली एनसीआर, मुंबई, पुणे, इंदौर, भोपाल, चंडीगढ़ और जम्मू सहित अन्य शहरों में 1700 से अधिक आउटलेट्स में मौजूदगी है और इसने 60,000 से अधिक ग्राहकों को अपनी सेवाएं दी हैं। उनके प्रोडक्ट कंपनी की वेबसाइट Amazon India और BigBasket पर भी उपलब्ध हैं।

Sleepy Owl को Incosec Legal ने डील के लिए Corporate Compliance Partners के रूप में और Panag & Babu को कानूनी सलाहकार के रूप में सहायता प्रदान की थी।

Edited by Ranjana Tripathi

Latest

Updates from around the world